Tuesday, Sep 28, 2021
-->
center letter to kerala government regarding corona case improving home isolation prshnt

कोरोना मामले को लेकर केंद्र की केरल सरकार को चिट्ठी, होम आइसोलेशन सुधारने पर दिया जोर

  • Updated on 7/28/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। देश में कोरोना कहर अब थमने लगा है, कई राज्यों में कोरोना के मामले तेजी से कम हो रहे हैं लेकिन अब भी कुछ राज्यों में अब भी स्थिति ठीक नहीं है। केरल में अब भी कोरोना संक्रमण के आंकड़ों में कमी नहीं आ रहा है। केरल ने एक बार फिर सरकार की चिंता बढ़ा दी है। केरल ने आज कोरोना मामलों का रिकॉर्ड बना लिया है। आज देश में कोरोना के करीब 50 फीसद नए मामले केरल राज्य से ही सामने आए हैं। ऐसे में केंद्र की ओर से केरल सरकार को चिट्ठी लिखा गया, सजिसमें होम आइसोलेशन सुधारने पर जोर देने को कहा गया है। 

बाराबंकी में सड़क हादसे में 18 लोगों की मौत, PM मोदी ने जताया शोक

राष्ट्रीय दर 97.39 प्रतिशत
बता दें कि भारत में बुधवार को कोविड-19 के 43,654 नए मामले आए जिससे संक्रमण के कुल मामले 3,14,84,605 पर पहुंच गए जबकि 640 और लोगों के जान गंवाने से मृतकों की संख्या 4,22,022 हो गयी। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के सुबह आठ बजे तक के अद्यतन आंकड़ों के अनुसार, पिछले 24 घंटों में उपचाराधीन मरीजों की संख्या 1,336 की वृद्धि के साथ 3,99,436 हो गयी जो संक्रमण के कुल मामलों का 1.27 प्रतिशत है। कोविड-19 से उबरने वाले मरीजों की राष्ट्रीय दर 97.39 प्रतिशत हो गयी है।

विपक्ष ने सरकार को घेरने की रणनीति पर की चर्चा, राहुल ने कहा- मुद्दों पर हो बात

मृत्यु दर 1.34 प्रतिशत
आंकड़ों के मुताबिक, मंगलवार को कोविड-19 के लिए 17,39,857 नमूनों की जांच की गयी और इसके साथ ही अब तक कुल 46,09,00,978 नमूनों की जांच की जा चुकी है। दैनिक संक्रमण दर मंगलवार को 1.73 प्रतिशत थी जो अब बढ़कर 2.51 प्रतिशत हो गयी है। साप्ताहिक संक्रमण दर 2.36 प्रतिशत है। मंत्रालय ने बताया कि इस बीमारी से उबरने वाले मरीजों की संख्या बढ़कर 3,06,63,147 हो गयी है जबकि मृत्यु दर 1.34 प्रतिशत है। देशव्यापी टीकाकरण अभियान के तहत अभी तक कोविड-19 रोधी टीके की 44.16 करोड़ खुराक दी जा चुकी है। देश में पिछले साल सात अगस्त को संक्रमितों की संख्या 20 लाख, 23 अगस्त को 30 लाख और पांच सितम्बर को 40 लाख से अधिक हो गई थी।

वहीं, संक्रमण के कुल मामले 16 सितम्बर को 50 लाख, 28 सितम्बर को 60 लाख, 11 अक्टूबर को 70 लाख, 29 अक्टूबर को 80 लाख और 20 नवम्बर को 90 लाख के पार हो गए। देश में 19 दिसम्बर को ये मामले एक करोड़ के पार, चार मई को दो करोड़ के पार और 23 जून को तीन करोड़ के पार चले गए थे।

अमेरिकी विदेश मंत्री से मिले जयशंकर, विभिन्न मुद्दों पर वार्ता की

70 प्रतिशत से ज्यादा मरीजों को अन्य बीमारियां
मंत्रालय ने बताया कि जिन 640 और लोगों की मौत हुई है उनमें से 254 मरीजों की मौत महाराष्ट्र में, 156 की केरल में और 60 लोगों की मौत ओडिशा में हुई। इस महामारी से अभी तक देश में 4,22,022 मरीज जान गंवा चुके हैं। इनमें से 1,31,859 मरीजों की मौत महाराष्ट्र में, 36,437 की कर्नाटक, 33,966 की तमिलनाडु, 25,046 की दिल्ली में, 22,754 की उत्तर प्रदेश में और 18,095 लोगों की मौत पश्चिम बंगाल में हुई। स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि अभी तक जिन लोगों की मौत हुई है, उनमें से 70 प्रतिशत से ज्यादा मरीजों को अन्य बीमारियां भी थीं। मंत्रालय ने अपनी वेबसाइट पर बताया कि उसके आंकड़ों का भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) के आंकड़ों के साथ मिलान किया जा रहा है।

यहां पढ़े अन्य बड़ी खबरें...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.