Sunday, Mar 24, 2019

नई पेंशन स्कीम के खिलाफ केंद्र सरकार के कर्मियों ने किया प्रदर्शन

  • Updated on 3/13/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। देश भर से यहां जुटे केंद्र सरकार के कर्मचारियों ने नई पेंशन योजना को रद्द करने और पुरानी पेंशन योजना बहाल करने की मांग करते हुए बुधवार को यहां प्रदर्शन किया। साथ ही, उन्होंने विभिन्न राजनीतिक दलों को पत्र लिख कर यह भी कहा कि वे लोग उसी पार्टी को वोट देंगे, जो उनकी इस मांग को अपने चुनाव घोषणापत्र में प्रमुखता देगी। 

राफेल मामले में फजीहत के बाद मोदी सरकार ने SC में दायर किया हलफनामा

उन्होंने 7वें वेतन अयोग की सिफारिशों के परे जाकर न्यूनतम वेतनमान की समीक्षा करने की भी मांग करते हुए राष्ट्रीय संयुक्त कार्रवाई परिषद (एनजेसीए) के बैनर तले यहां जंतर मंतर पर प्रदर्शन किया।

IBM चीफ गिन्री बोलीं- रोजगार के लिए जरूरी स्किल नहीं रखते हैं इंडियंस

रेलवे, रक्षा, डाक विभाग, अकाउंट एवं ऑडिट, आयकर और केंद्रीय सचिवालय तथा अन्य विभागों के कर्मचारियों ने राजनीतिक दलों को पत्र लिख कर कहा है कि वे लोग लोकसभा चुनाव में उसी पार्टी को वोट देंगे, जो पुरानी पेंशन योजना बहाल करने के वादे को अपने चुनाव घोषणापत्र में प्रमुखता देगी। 

प्रियंका गांधी ने अस्पताल में भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर से की मुलाकात, सियासत गर्म

प्रदर्शनकारियों ने अपनी मांगें नहीं माने जाने पर अनिश्चितकालीन हड़ताल पर भी जाने की चेतावनी दी। एनजेसीए के संयोजक शिव गोपाल मिश्रा ने पार्टियों को लिखे पत्र में कहा है कि अगर आप अपने चुनाव घोषणापत्र में मौजूदा अंशदान (पेंशन) योजना की जगह पुरानी सांविधिक पेंशन योजना को बहाल करने का इरादा जाहिर करते हैं तो इससे आपको केंद्र सरकार के कर्मचारियों और उनके परिवार के लोगों का आम चुनाव में समर्थन मिलेगा। 

जम्मू कश्मीर: LoC पर देखे गए पाकिस्तानी लड़ाकू विमान, अलर्ट पर Indian Air force

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.