Thursday, Aug 18, 2022
-->
centre to prioritise agniveers for jobs in paramilitary forces assam rifles hmo

अर्धसैनिक बलों, असम राइफल्स में नौकरियों के लिए 'अग्निवीर' को प्राथमिकता देगी केंद्र सरकार

  • Updated on 6/15/2022

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने बुधवार को कहा कि रक्षा मंत्रालय ने द्वारा सशस्त्र बलों के लिए घोषित की गई अग्निपथ योजना के तहत रक्षा सेवाओं में भर्ती हुए सैनिकों को योजना के तहत चार साल पूरे करने के बाद अर्धसैनिक और असम राइफल्स में नौकरियों के लिए प्राथमिकता दी जाएगी।

नई भर्ती योजना भारतीय युवाओं को चार साल की अवधि के लिए सशस्त्र बलों के नियमित कैडर में सेवा करने का अवसर प्रदान करती है।

 केंद्रीय गृह मंत्रालय के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट किया गया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के मार्गदर्शन में गृह मंत्रालय के इस निर्णय से ‘अग्निपथ योजना’ से प्रशिक्षित युवा आगे भी देश की सेवा और सुरक्षा में अपना योगदान दे पायेंगे। इस निर्णय पर विस्तृत योजना बनाने का काम शुरू हो गया है।

गृह मंत्रालय के एक अन्य ट्वीट में कहा गया है कि  अग्निपथ योजना’ युवाओं के उज्ज्वल भविष्य के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का एक दूरदर्शी व स्वागत योग्य निर्णय है। इसी संदर्भ में आज गृह मंत्रालय ने इस योजना में 4 साल पूरा करने वाले अग्निवीरों को CAPFs और असम राइफल्स में भर्ती में प्राथमिकता देने का निर्णय लिया है।

रक्षा मंत्रालय के अनुसार, अग्निपथ तीनों सेवाओं में अधिकारी रैंक (PBOR) से नीचे के कर्मियों की भर्ती को नियंत्रित करेगा। अग्निवीर के रूप में जाने जाने वाले युवा, तीनों सेवाओं में एक अलग रैंक बनाएंगे, और अपनी वर्दी के हिस्से के रूप में एक अलग प्रतीक चिन्ह भी पहनेंगे।

 

comments

.
.
.
.
.