Wednesday, Jun 19, 2019

चैत्र नवरात्रि की अष्टमी और नवमी आज, इस विधि से करें पूजन

  • Updated on 4/13/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। आमतौर पर हिंदू धर्म में नवरात्रि का विशेष महत्व है। चैत्र नवरात्रि 6 अप्रैल से शुरू हुए थे लेकिन इनके अष्टमी और नवमी पूजन पर असमंजस की स्थिति उत्पन्न हो गई है।

अलग-अलग जगहों पर कहीं शनिवार को रामनवमी बनाई जाएगी तो कहीं रविवार को हमने इस बात की पुष्टि के लिए ज्योतिषाचार्य अरुण कुमार अग्निहोत्री से बात की जिनका कहना है कि रामनवमी शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा को मनायी जाती है और भगवान राम का जन्म नवमी तिथि को कर्क लग्न तथा कर्क राशि में हुआ था। 

Navratri 2019: झंडेवालान देवी मंदिर में लगा भक्तों का तांतां, आज होगी मां स्कंदमाता की पूजा

उन्होंने बताया कि 13 अप्रैल दिन शनिवार को सूर्योदय काल छह से 11 बजे तक अष्टमी रहेगी। इसके बाद नवमी तिथि प्रारंभ हो जाएगी। जो अगले दिन रविवार को प्रात: 10.45 बजे तक रहेगी।  

अयोध्या में भी आज ही राम नवमी मनाई जाएगी। नवरात्रि में अष्टमी का दिन बहुत ही विशेष माना जाता है। इस दिन भक्त महागौरी की पूजा करते हैं। महागौरी दुर्गा का आठवां रूप है। कुछ लोग इसी दिन कन्यापूजन कर नवरात्रों का समापन भी कर लेते हैं।

श्री हरिमंदिर साहिब के दर्शन के लिए लगेगी लम्बी लाइन! VIP दर्शन पर रोक

वहीं अधिकांश नवमी वाले दिन विधि विधान से कन्या पूजन कर वृत समाप्त करते हैं। चूंकि नवां दिन नवरात्र का अंतिम दिन होता है इसे महानवमी भी कहते हैं। इस दिन लोग कन्या पूजन करते हैं। इस दिन भक्त घर में नौ या 11 लड़कियों को भोजन कराते हैं। इन लड़कियों को मां दुर्गा के नौ रूपों का प्रतीक माना जाता है। 

कन्या पूजन का शुभ मुहूर्त
अष्टमी पर सुबह 8.19 बजे सुबह 11 बजे तक कन्या पूजन किया जा सकेगा। इसके बाद नवमी लग जाएगी। जिसमें शुभ मुहुर्त है सुबह 11.52 से दोपहर 12.47 बजे तक  कन्या पूजन करें। इसके बाद दोपहर में 2.28 बजे से 3.19 बजे तक  कन्या पूजन किया जा सकेगा। 

अगर लगातार रिलेशनशिप में घुल रही कड़वाहट तो आजमाएं ये फेंगशुई टिप्स

कैसे करें पूजन 
कन्याओं को भोजन के लिए पहले न्योता दें। इसके बाद एक बालक के साथ कन्याओं को भोजन पर बुलाएं। जब कन्याएं घर में आएं तो फूलों से उनका स्वागत करें उनके पैर धोकर आशीष लें। कन्याओं को रोली, कुमकुम और अक्षत का टीका लगाएं और हाथ में मौली बांधे सभी कन्याओं को भोजन कराएं और अपनी इच्छानुसार दान क रें।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.