Thursday, May 06, 2021
-->
chamoli disaster chamoli glacier burst rescue operation still continues in tapovan tunnel sohsnt

उत्तराखंड त्रासदी: चमोली में 5वें दिन रेस्क्यू जारी, 200 लोग अभी भी लापता

  • Updated on 2/11/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। उत्तराखंड (Uttrakhand) के चमोली जिले के रैनी-तपोवन आपदा में लापता 206 लोगों में से अब तक 34 के शव बरामद कर लिए गए हैं, जबकि 2 लोग अपने घरों पर जीवित मिले हैं। अन्य 200 लोगों की खोजबीन के लिए सर्च अभियान अभी भी जारी है। तपोवन टनल में फंसे लोगं को निकालने के लिए यहां युद्ध स्तर पर दिन-रात एस.डी.आर.एफ, आटीबीपी, और अन्य एजेंसियां जुटी हुई हैं। बचाव अभियान टीमों द्वारा आज सुबह के 2 बजे तक 12 से 13 मीटर नीचे सुरंग में झांकने के लिए ड्रिलिंग अभियान शुरू किया गया।

चमोली में बारिश के बीच राहत कार्य पहुंचाना चुनौती, जवान मुश्तैद

 

बता दें कि 180 मीटर गहरी टनल के 150 मीटर हिस्स से मलबा हटाया जा चुका है। राहत एवं बचाव कार्य के लिए नेवी के मरीन कमांडोज ने श्रीनगर में अफना सर्च ऑप्रेशन शुरू कर दिया है। यहां 20 किलोमीटर के दायरे में फेली श्रीनगर जल विद्यूत परियोजना की झील में नेवी की टीम शवों को खोजेगी।

बुधवार को अलकनंदा नदी के तटों पर चलाए गए सर्च ऑप्रेशन के दौरान रुद्रप्रयाग में आपदा में लापता एक व्यक्ति का शव बरामद किया गया जबकि तपोवन क्षेत्र और चमोली में लापता लोगों में से बुधवार को किसी का कोई सुराग नहीं मिला है। लापता लोगों की सूची में शामिल ऋषिगंगा पावर प्रोजैक्ट में कार्यरत चमोली के सुरज सिंह और सहारनपुर के राशिद को प्रशासन की ओर से जीवित उनके घरों में मौजूद बताया गया है।

श्रीनगर बाध की झील में सर्च आपरेशन चलायेगी नेवी की टीम

लापता लोगों के परिजनों ने लगाए आरोप
ऋषिगंगा घाटी में आई विकराल बाढ़ में तबाह हुई ऋषिगंगा जलविद्युत परियोजना स्थल से लापता हुए लोगों के परिजनों ने बुधवार को अधिकारियों पर बचाव अभियान सही से नहीं चलाने का आरोप लगाया । लापता श्रमिकों के परिजन यहां परियोजना के अधिकारियों के साथ दो घंटे तक बहस में उलझे रहे और आरोप लगाया कि त्रासदी के बाद बचाव एवं राहत अभियान सही से नहीं चलाया जा रहा है।

कुल 200 लापता लोगों में से 70 लोग उत्तर प्रदेश  से
चमोली जिले में आई आपदा में कुल लापता लोगों में से 70 लोग उत्तर प्रदेश के भी लापता है। इस हादसे में यूपी के 93 लोग प्रभावित हुए थे। जिसमें से 21 लोग सुरक्षित बचा लिए गये हैं, जबकि दो लोगों के शब बरामद हुए हैं, बुधवार को उत्तर प्रदेश सरकार के तीन मंत्री हरिद्वार पहुंचे। यूपी के कैबिनेट मंत्री सुरेश राणा, राज्यमंत्री विजय कश्यप और धर्म सिंह सैनी ने हरिद्वार के भिमगोडा बैराज पर बनाए गए कंट्रोल रूम का निरीक्षण किया। यहां पत्रकारों से बात करते हुए मंत्री राणा ने बताया कि इस आपदा में यूपी के श्रमिक भी लापता हुए हैं, जिनकी तलाश और राहत पहुंचाने के लिए यूपी सरकार द्वारा हरिद्वार में एक कंट्रोल रूम बनाया गया है। 


यहां भी पढ़े अन्य बड़ी खबरें...

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.