Friday, Jul 30, 2021
-->
chandra grahan or lunar eclipse may 2021 pragnt

Chandra Grahan 2021: पूर्ण चंद्रग्रहण में दिखा ब्लड मून

  • Updated on 5/26/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। बुधवार यानी 26 मई को पूर्ण चंद्रग्रहण होगा लेकिन पूर्वोत्तर भारत, पश्चिम बंगाल के कुछ हिस्सों और ओडिशा के तटीय इलाकों और अंडमान और निकोबार द्वीप से यह थोड़ी देर के लिए ही नजर आएगा। इस साल का पहला चंद्र ग्रहण दोपहर 2 बजकर 17 मिनट पर शुरू होगा और शाम 7 बजकर 19 मिनट पर खत्म होगा।

जानिए कौन थे 'आद्य गुरु शंकराचार्य' वेद ज्ञान के प्रचारक

इस जगह पर दिखेगा ग्रहण
भारत मौसम विज्ञान विभाग के मुताबिक ग्रहण दक्षिण अमरीका, उत्तर अमरीका, एशिया, ऑस्ट्रेलिया, अंटार्कटिका, प्रशांत महासागर और हिंद महासागर में नजर आएगा। इसके साथ ही भारत के पूर्वी राज्यों अरुणाचल प्रदेश, मिजोरम, नागालैंड, मणिपुर, त्रिपुरा, असम और मेघालय सहित पश्चिम बंगाल और पूर्वी उड़ीसा में ये चंद्रग्रहण दिखेगा।

ग्रहण का वक्त
ग्रहण का आंशिक चरण अपराह्न सवा 3 बजे शुरू होगा और शाम 6 बजकर 23 मिनट पर खत्म होगा जबकि पूर्ण चरण सायं 4 बजकर 39 मिनट पर शुरू होकर सायं 4 बजकर 58 मिनट पर खत्म होगा। पोर्ट ब्लेयर से ग्रहण को सायं 5 बजकर 38 मिनट से 45 मिनट तक के लिए देखा जा सकता है जो भारत में ग्रहण का सर्वाधिक समय होगा।

सनातन धर्म के मुकुट शिरोमणि हैं मर्यादा पुरुषोत्तम ‘प्रभु श्री राम’

सूर्य ग्रहण हो या चंद्र ग्रहण दोनों ही अशुभ माने जाते हैं। ऐसे में गर्भवती महिलाओं को इस दौरान काफी सावधानियां बरतनी चाहिए...

- घर से बाहर बिल्कुल भी न निकलें
- ग्रहण के दौरान चाकू, छूरी या तेज धार हथियार से दूर रहें। इससे शिशु की की सेहत पर बुरा असर होता है।
- ग्रहण के दौरान सिलाई न करें।
- खासकर गर्भवती महिला ग्रहण के दौरान किसी भी चीज का सेवन न करें।
- ग्रहण के बाद गर्भवती महिला को जरूर नहाना चाहिए नहीं तो बच्चे को त्वचा संबंधी रोग हो सकता है।
- नकारात्मक प्रभाव से बचने के लिए गर्भवती महिला को चीभ पर तुलसी का पत्ता रखकर हनुमान और दुर्गा चालीसा पढ़नी चाहिए

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.