chandrayaan 2 pakistani army spokesperson asif ghafoor troll on social media

चंद्रयान-2 की कीमत बता ट्रोल हुए PAK सेना के प्रवक्ता गफूर, यूजर्स ने कहा- नमूना

  • Updated on 9/10/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। कश्मीर से आर्टिकल 370 (Article 370) हटने के बाद पूरा पाकिस्तान (Pakistan)बुरी तरह से बौखला गया है और भारत पर तरह तरह पर बयान दे रहा है।हाल ही में इसरो के मिशन  चंद्रयान-2 (Chandrayaan-2)पर भी पाकिस्तान के कुछ मंत्रियों ने अपने बयान दिए। ऐसे में पाकिस्तानी सेना के प्रवक्ता आसिफ गफूर (Asif ghafoor)ने चंद्रयान 2 की कीमत बताते हुए भारत पर निशाना साधा। उन्होंने लिखा,'भारत सरकार ने चंद्रयान-2 से संपर्क टूटने के बाद करीब 900 अरब रुपये का नुकसान कर दिया है। जम्मू-कश्मीर में संपर्क टूटने से कितना नुकसान हुआ? बहुत ज्यादा, सिर्फ पैसों का ही नहीं!! इंशा अल्लाह!' 

यूजर्स कर रहे हैं ट्रोल 
उनके इस ट्वीट पर भारतीय यूजर्स ने उनकी क्लास लगानी शुरु कर दी। कुछ यूजर ने तो गफूर को गणित की क्लास लगा दी। एक यूजर ने लिखा '900 करोड़ रुपए के बारे में इतनी भी जानकारी नहीं है, कहां से आते हैं ऐसे नमूने?’ आपको बता दें कि चंद्रयान 2 में इसरो ने 973 करोड़ रुपये खर्च किए हैं लेकिन पाकिस्तानी जनरल गफूर ने  900 अरब बता दिया। जो  100 गुना ज्यादा है। 

2.1 किलोमीटर पहले धरती से संपर्क टूटा
भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान केंद्र (ISRO) के अध्यक्ष के सिवन ने कहा, ‘‘विक्रम लैंडर चंद्रमा की सतह से 2.1 किलोमीटर की ऊंचाई तक सामान्य तरीके से नीचे उतरा। इसके बाद लैंडर का धरती से संपर्क टूट गया। आंकड़ों का विश्लेषण किया जा रहा है। चंद्रयान-2' (Chandrayaan-2) से जुड़े एक वरिष्ठ अधिकारी ने  कहा, ‘लैंडर से कोई संपर्क नहीं है। यह लगभग समाप्त हो गया है। कोई उम्मीद नहीं है। लैंडर से दोबारा संपर्क स्थापित करना बहुत ही मुश्किल है। 

लैंडर का यह नाम रखा गया था विक्रम ए साराभाई पर
चंद्रयान-2' (Chandrayaan-2) मिशन के तहत भेजा गया 1,471 किलोग्राम वजनी लैंडर ‘विक्रम’ भारत का पहला मिशन था जो स्वदेशी तकनीक की मदद से चंद्रमा पर खोज करने के लिए भेजा गया था। लैंडर का यह नाम भारतीय अंतरिक्ष कार्यक्रम के जनक डॉ.विक्रम ए साराभाई पर दिया गया था।  इसे चंद्रमा की सतह पर सॉफ्ट लैंड़िग करने के लिए डिजाइन किया गया था और इसे एक चंद्र दिवस यानी पृथ्वी के 14 दिन के बराबर काम करना था।   

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.