Saturday, Jun 23, 2018

दूरसंचार कंपनियां आधार की वर्चुअल आईडी स्वीकारने के लिए अपनी योजना बदलें: डीओटी

  • Updated on 6/13/2018

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। सरकार ने दूरसंचार सेवा प्रदाताओं से कहा है कि वे अपनी प्रणालियों व नेटवर्क में उचित बदलाव करें ताकि आधार संख्या की जगह वर्चुअल आईडी का इस्तेमाल संभव हो। इसके साथ ही मोबाइल ग्राहकों के लिए ‘ सीमित केवाईसी ’ प्रणाली की ओर बढ़ा जा सके।

इस संगीत के सुनने से गर्भ में पल रहे शिशु होते हैं खुशमिजाज

यह पहल एक जुलाई से आधार संख्या की जगह वर्चुअल आईडी प्रणाली के कार्यान्वयन को देखते हुए की गई है। दूरसंचार विभाग ने इस बारे में अधिसूचना जारी की है। इसके अनुसार यूआईडीएआई द्वारा वर्चुअल आईडी के कार्यान्वयन के लिए प्रस्तावित बदलावों को ध्यान में रखते हुए सभी लाइसेंसधारक दूरसंचार कंपनियों को अपनी प्रणाली में उचित बदलाव करना होगा।

वर्चुअल आईडी प्रणाली 16 अंकों की एक विशेष लेकिन अस्थायी संख्या है जिसे आधार की जगह सृजित किया जा सकेगा। आधार डेटा की सुरक्षा व गोपनीयता को और सुरक्षित करने के लिए इस फीचर को अगले महीने से लागू किया जा रहा है।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.