Sunday, Apr 18, 2021
-->
chhattisgarh-21-year-old-man-died-due-to-crushing-of-a-handgun-forcibly-taking-selfie-prshnt

छत्तीसगढ़: हथनी के कुचलने से हुई 21 साल के शख्स की मौत, जबरन ले रहा था सेल्फी

  • Updated on 3/1/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के रायगढ़ जिले में रविवार को एक शख्स को हथनी के साथ सेल्फी लेना भारी पड़ गया, हथनी के साथ सेल्फी लेने की कोशिश ने उसकी जान ले ली। सारंगढ़ फॉरेस्ट रेंज में यह शख्स हथनी और उसके बच्चे के साथ फोटो लेने की कोशिश कर रहा था लेकिन हथनी ने उसे कुचल कर मौत के घाट उतार दिया। घटना पर डिविजनल फॉरेस्ट ऑफिसर (डीएफओ) प्रणय मिश्रा ने बताया कि हथनी गुधयारी नाम के एक गांव से गुजर रही थी। ऐसे में गांववालों ने उसका पीछा करने की कोशिश की जिससे घबराकर हथनी भागने लगी।

केरल के CM ने राहुल गांधी पर साधा निशाना- कई राज्यों में सत्ता चले जाने पर उठाया सवाल

परिवार को सहायता राशि के तौर पर 25 हजार रुपये मिले
प्रणय मिश्रा ने बताया, अचानक मृतक मनोहर लाल (21 वर्षीय) तीन अन्य लोगों के साथ हथनी के पास गया और सेल्फी लेने की कोशिश करने लगा, जिसके बाद हथनी ने मनोहर को मौके पर ही कुचल के मौत के घाट उतार दिया जबकि अन्य तीन लोग भागने में कामयाब रहे। सरकार की ओर से मृतक के परिवार को सहायता राशि के तौर पर 25 हजार रुपये दिए गए हैं और शव को पोस्ट मॉर्टम के लिए भेज दिया गया।

कांग्रेस के बागी-23 जम्मू के बाद, पंजाब, हरियाणा और हिमाचल में करेंगे रैली

हाल ही में झारखंड में एक व्यक्ति की हुई मौत 
झारखंड के चतरा में हाथी के कुचलने से एक की मौत हो गई थी। देर शाम को पिपरवार थाने के बन्हे गांव के एक व्यक्ति को हाथी ने कुचलकर मार डाला।  दरअसल यहां लंबे समय से हाथियों का उत्पात जारी है। बताया जा रहा है, इलाके में हाथियों का झुंड आए दिन आम लोगों को परेशान कर कहा है। हाथी कभी किसी की जान ले रहे हैं तो कभी खेत-घरों को नुकसान पहुंचा रहे हैं। 

कोरोना पॉजिटिव होने की खबर को नुसरत ने बताया अफवाह, कहा- अभी तक नहीं कराई कोरोना जांच

मुआवजा के रूप में मिले चार लाख
उम्र 40 साल मृतक चेतलाल महतो थे। उसकी मौत के बाद परिजन को रो-रोकर बुरा हाल है। घटना की जानकारी होने पर बड़कागांव की विधायक अंबा प्रसाद सुबह घटनास्थल पर पहुंच कर उनके परिजनों से मुलाकात की। उन्हें मुआवजे की राशि दी और सभी तरह के सरकारी सुविधाएं दिलाने की बात की।

मृतक के आश्रितों को सरकारी मुआवजा के रूप में चार लाख में तुरंत 50 हजार और बाकी साढ़े तीन लाख एक महीने के अंदर मिलेंगे। मृतक के दो बच्चियों को टंडवा के कस्तूरबा गांधी विद्यालय में नामांकन दाखिल कराने का भी आश्वासन दिया।

यहां पढ़े अन्य बड़ी खबरें... 

comments

.
.
.
.
.