Monday, Apr 12, 2021
-->
chidambaram asked modi govt on the claim of chinese village in arunachal pradesh pragnt

अरुणाचल में बसा 'चीनी गांव'? चिदंबरम ने पूछा- क्या सरकार चीन को फिर क्लीन चिट देगी?

  • Updated on 1/19/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। कांग्रेस (Congress) के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम (P Chidambaram) ने भाजपा सांसद तापिर गाओ के दावों पर मोदी सरकार से जवाब मांगा जिसमें गाओ ने कहा था कि चीन (China) ने अरुणाचल प्रदेश (Arunachal Pradesh) के भीतर विवादास्पद क्षेत्र में सौ घरों के एक गांव का निर्माण कर लिया है।

अर्नब ने विपक्ष के बढ़ते हमलों के बीच तोड़ी चुप्पी, निशाने पर पाक और कांग्रेस

कांग्रेस नेता ने किया ट्वीट
चिदंबरम ने ट्वीट कर लिखा, 'भाजपा से संबंध रखने वाले सांसद तपीर गाओ ने आरोप लगाया है कि अरुणाचल प्रदेश में भारतीय क्षेत्र के भीतर 'विवादित क्षेत्र' में, चीनियों ने पिछले साल में 100-घर गांव, एक बाजार और दो-लेन की सड़क का निर्माण किया है।'  

नंदीग्राम में महासंग्राम: शुभेंदु ने बोला टीएमसी पर हमला, कहा- 50 हजार वोटों से हारेंगी ममता बनर्जी

क्या सरकार चीन को फिर क्लीन चिट देगी?- चिदंबरम
उन्होंने अन्य ट्वीट में लिखा, 'यदि यह सच है, तो यह स्पष्ट है कि चीनियों ने विवादित क्षेत्र को चीनी नागरिकों के स्थायी बंदोबस्त में बदलकर यथास्थिति बदल दी है। इन चौंकाने वाले तथ्यों के बारे में सरकार का क्या कहना है?' वरिष्ठ कांग्रेस नेता ने पूछा, 'क्या सरकार चीन को एक और क्लीन चिट देगी? या सरकार स्पष्टीकरण देने के लिए पिछली सरकारों पर दोषारोपण करेगी?' गौरतलब है कि भारतीय राज्य अरुणाचल प्रदेश को चीन अपना क्षेत्र मानता है।

अमेरिका में जो बिडेन के शपथ ग्रहण से पहले कैपिटल बिल्डिंग के पास लगी आग, लगाया lockdown

अरुणाचल प्रदेश में भारतीय जमीन पर चीन ने बसाया गांव
चीन ने भूटान के बाद अब भारत के अरुणाचल प्रदेश की सीमा के अंदर गांव बसा लिया है। इस गांव में करीब 101 घर भी बनाए गए हैं। यह गांव अरुणाचल प्रदेश में वास्तविक भारतीय सीमा के करीब 4.5 किमी अंदर स्थित है। इस गांव को त्सारी चू गांव के अंदर बसाया गया है। यह गांव अरुणाचल प्रदेश के ऊपरी सुबनसिरी जिले में स्थित है। चीन का यह गांव भारत की सुरक्षा के लिए बड़ा खतरा बन गया है।

बिहार में आज नए मंत्रियों के नाम पर लग सकती है अंतिम मुहर, मंत्रिमंडल का जल्द होगा विस्तार

एक टीवी चैनल का सेटेलाइट तस्वीरों के आधार पर दावा
एक टीवी चैनल की खबर के मुताबिक ऊपरी सुबनसिरी जिला भारत और चीन के बीच लंबे समय से विवाद का केंद्र रहा है और इसको लेकर सशस्त्र संघर्ष भी हो चुका है। रिपोर्ट में सैटेलाइट तस्वीरों को कई विशेषज्ञों को दिखाया गया है और उन्होंने चीनी गांव होने की पुष्टि की है। चीन ने इस गांव का ऐसे समय पर निर्माण किया है जब पश्चिम सैक्टर स्थित लद्दाख में भारत और चीन की सेनाएं आमने-सामने हैं। ताजा सैटेलाइट इमेज 1 नवम्बर 2020 की है जिसमें गांव नजर आ रहा है।

किसानों की ट्रैक्टर रैली पर कोर्ट ने नहीं लगाई रोक, अब सुनवाई 20 को

रक्षा मंत्री से बात करेंगे सुब्रमण्यम स्वामी
इससे एक साल पहले की तस्वीर में यह गांव नजर नहीं आ रहा है। माना जा रहा है कि चीन ने यह गांव एक साल पहले ही बसाया है। उधर, भाजपा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी चीन के भारतीय जमीन पर कब्जा करने को लेकर रक्षामंत्री राजनाथ सिंह से बातचीत करेंगे।

सुब्रमण्यम स्वामी ने ट्वीट किया, 'यह मानना बड़ी गलती होगी कि चीन ने लद्दाख और अरुणाचल प्रदेश में भारतीय जमीन पर कब्जा कर लिया है। इसकी 2 राज्यों की जनता द्वारा चुने गए भाजपा के सांसदों ने पुष्टि की है। जब अवसर आएगा तो मैं राजनाथ सिंह से बातचीत करूंगा। विदेश मंत्रालय केवल इतना कहेगा कि हम तनाव घटाने के लिए वार्ता कर रहे हैं। इसका क्या मतलब है।'

महंगाई की मार के बीच रिकार्ड स्तर पर पेट्रोल-डीजल, दिल्ली में पेट्रोल 85 रुपये के करीब

चीन की हर हरकत पर भारत की नजर- विदेश मंत्रालय
विदेश मंत्रालय ने सोमवार को कहा, 'सरकार ने बॉर्डर इलाकों में चीन की निर्माण गतिविधियों की रिपोर्ट देखी है। भारत सरकार इस पर लगातार नजर रख रही है। सरकार अपनी संप्रभुता की रक्षा करने और अरुणाचल प्रदेश सहित सभी बॉर्डर इलाकों में नागरिकों के जीवन स्तर को सुधारने के लिए इंफ्रास्ट्रक्चर विकसित करने के प्रति पूरी तरह प्रतिबद्ध है।'

यहां पढ़ें अन्य बड़ी खबरें...

comments

.
.
.
.
.