Wednesday, Sep 18, 2019
chidambaram being taken from cbi office to court for hearing in inx media case

INX केस मामला: चिदंबरम को बड़ा झटका, कोर्ट ने 26 अगस्त तक CBI रिमांड पर भेजा

  • Updated on 8/22/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम (P Chidambaram) को आईएनएक्स मीडिया मामले (Inx media case) में केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (CBI) ने बुधवार रात को हाई वोल्टेज ड्रामे के बीच उनके जोर बाग स्थित आवास से गिरफ्तार कर लिया। सीबीआई चिदंबरम को राउज एवेन्यू कोर्ट में लेकर पहुंची है जहां मामले की सुनवाई पूरी हो गई है। कोर्ट के आदेश के अनुसार चिदंबरम को 26 अगस्त तक के लिए सीबीआई हिरासत में भेजा जाएगा। जहां उनसे पैसे के लेनदेन की पूरी जानकारी को विस्तार से जानने के पूछताछ की जाएगी।

Live Updates:

-  चिदंबरम के मामले में फैसला सुरक्षित, 30 मिनट बाद आएगा फैसला

- चिदंबरम ने कोर्ट से बोलने की इजाजत मांगी, कोर्ट ने किया इंकार 

- आरोपी को बोलने की इजाजत ना मिलें- SG तूषार मेहता

- चिदंबरम को भी बोलने की इजाजत मिले- सिंघवी

- सीबीआई के 12 में 6 सवाल पुराने- सिंघवी

- SG ने चिदंबरम के ऊपर कोई आरोप नहीं लगाया-सिंघवी

- सीबीआई की रिमांड अर्जी में कई खमियां-सिंघवी

- चिदंबरम  सीबीआई के मन मुताबिक जबाव नहीं देंगे-सिंघवी

- सिर्फ ईद्राणी मुखर्जी के बयान को आधार बनाया गया-सिंघवी

- अप्रूवर का बयान स्टेटस होता है सबूत नहीं-सिंघवी

- इस मामले सीबीआई का तरीका ही गलत-सिंघवी
- पिछले 11 महीने से सीबीआई ने फोन तक नहीं किया और गिरफ्तार करने पहुंची-सिंघवी

- चिदंबरम  जांच में सहयोग करते रहें है-सिंघवी
- FIPB के 6 आरोपी अब तक गिरफ्तार नहीं- सिंघवी

- फैसले को मंजुरी देने वाले को अरोपी बनाया गया-सिंघवी

- सिब्बल की दलील खत्म, सिंघवी की दलील शुरू

- ये ऐसा केस जिसका सबूतो से कोी लेना देना नहीं-सिब्बल

- जरूरी नहीं चिदंबरम  हर सवाल पर हां कहें- सिब्बल

- गिरफ्तारी के समय हम चिदंबरम  के साथ थे-सिब्बल

- सिर्फ आरोप लगा रही है सीबीआई- सिब्बल

- आरोपों का चिदंबरम से कोई लेना-देना नहीं- सिब्बल

- 2017 से जांच जारी फिर भी सवाल तैयार नहीं- सिब्बल

- सीबीआई ने चिदंबरम से सिर्फ 12 सवाल किए- सिब्बल

- सीबीआई-ईडी ने जब भी बुलाया चिदंबरम हुए हाजिर-सिब्बल 

- केस के बाकी आरोपियों को मिल चुकी है जमानत-सिब्बल 

- CBI ने अपनी दलील पूरी की, चिदंबरम की तरफ से सिब्बल रख रहें अपना पक्ष 

पी. चिदंबरम को लेकर CBI ने मांगी पांच दिन की रिमांड

पी. चिदंबरम को लेकर अदालत पहुंची CBI, थोड़ी देर में होगी पेशी

-  चिदंबरम के वकील विवेक तनखा के बाद कार्ति चिदंबरम और अभिषेक मनु सिंघवी CBI की राउज ऐवेन्यू कोर्ट पहुंचे

चिदंबरम से CBI की पूछताछ खत्म, थोड़ी देर में होगी कोर्ट में पेशी

- पूछताछ में CBI से सहयोग नहीं कर रहे चिदंबरमः सूत्र

- इंद्राणी के बारे में पूछे जाने पर चिदंबरम ने कहा, कुछ याद नहीं 

20 सितंबर को मिल जाएगा भारत को पहला राफेल जेट विमान, फ्रांस लेने जाएंगे राजनाथ सिंह

 दीवार फांदकर घर में घुसे अधिकारी

बता दें कि INX मीडिया मामले में चिदंबरम को उच्चतम न्यायालय से तत्काल कोई राहत नहीं मिलने के कुछ घंटे बाद अधिकारियों ने परिसर की दीवार फांदकर घर में प्रवेश किया। बाद में प्रवर्तन निदेशालय की एक टीम भी वहां पहुंची। इसके बाद अधिकारियों ने पूर्व वित्त मंत्री को उनके आवास से गिरफ्तार कर सीबीआई मुख्यालय ले गये। इससे पहले चिदंबरम बुधवार की शाम अचानक कांग्रेस मुख्यालय पहुंचे थे। जहां उन्होेंने मीडिया को संबोधित किया, इसके बाद वो अपने आवास पर पहुंचे थे। 

भारत और जाम्बिया ने रक्षा, खनन सहित छह क्षेत्रों में MOU किया

चिदंबरम का दावा सारे आरोप 'झूठा' 

मीडिया से बातचीत में उन्होंने दावा किया कि वह कानून से ‘‘भाग’’ नहीं रहे हैं एवं उनके खिलाफ लगाए गए आरोप ‘‘झूठे’’ है। इस दौरान उनके साथ कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल, कपिल सिब्बल, सलमान खुर्शीद और अभिषेक मनु सिंघवी भी मौजूद थे। शीर्ष अदालत ने दिल्ली उच्च न्यायालय के आदेश पर रोक लगाने की चिदंबरम की याचिका पर शुक्रवार को ही सुनवाई करने का फैसला किया है जिसके बाद सीबीआई और प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) को पूर्व वित्त तथा गृह मंत्री को गिरफ्तार करने के लिए स्वतंत्रता मिल गयी।   

असदुद्दीन ओवैसी ने मोदी और ट्रप की बात-चीत पर कहा, ट्रंप कोई चौधरी हैं क्या  

CBI और ED ने लुक आउट परिपत्र किया था जारी 

सीबीआई और ईडी ने इससे पहले चिदंबरम के खिलाफ लुक आउट परिपत्र जारी किया था ताकि उन्हें देश छोड़ने से रोका जा सके। चिदंबरम ने संवाददाताओं को संबोधित करते हुए  कहा, ‘‘ मेरा मानना है कि लोकतंत्र की बुनियाद स्वतंत्रता है। संविधान का सबसे अहम अनुच्छेद 21 है जो जीवन और स्वतंत्रता की गारंटी देता है। अगर इनमें से एक को चुनने का विकल्प हो तो मैं बेहिचक स्वतंत्रता का चुनाव करूंगा। उन्होंने कहा कि पिछले 24 घंटों में बहुत कुछ हुआ जिससे कुछ लोगों को चिंता हुई और भ्रम की स्थिति पैदा हुई।     

#Chidambaram की गिरफ्तारी के बाद मोदी सरकार पर भड़के बेटे कार्ति चिदंबरम

चिदंबरम ने कहा - INX मीडिया मामले में आरोपी नहीं

चिदंबरम ने कहा, ‘‘आईएनएक्स मीडिया मामले में मैं किसी अपराध का आरोपी नहीं हूं। मेरे परिवार का कोई सदस्य भी इस अपराध का आरोपी नहीं है। यहां तक अदालत में सीबीआई या ईडी द्वारा कोई आरोप पत्र भी दाखिल नहीं किया गया। प्राथमिकी में भी यह नहीं कहा गया है कि मैंने कुछ गलत किया। उन्होंने कहा, ‘‘ इन सबके बावजूद ऐसी धारणा पैदा की जा रही है कि बड़ा अपराध हुआ है और मैंने एवं मेरे बेटे ने अपराध किया है। सब झूठ फैलाया जा रहा है। चिदंबरम ने कहा, ‘‘ मैंने अग्रिम जमानत की मांग की। मेरे वकीलों ने उच्चतम न्यायालय से गुहार लगाई कि सुनवाई की जाए। मैं पूरी रात वकीलों के साथ काम कर रहा था। आज पूरे दिन भी वकीलों के साथ काम कर रहा था।   

नाटकीय ढंग से कांग्रेस मुख्यालय पहुंचे चिदंबरम, बोले- मेरे खिलाफ लगे आरोप झूठे  

उन्होंने कहा, ‘‘ मुझे सीबीआई ने सम्मन किया और फिर ईडी पूछताछ के लिए आ गई। मैंने अग्रिम जमानत मांगी। मुझे 13-15 महीने गिरफ्तारी से अंतिम राहत मिली। गत 25 जुलाई को फैसला सात महीने के लिए सुरक्षित रखा गया और कल उच्च न्यायालय अग्रिम जमानत की याचिका खारिज कर दी। चिदंबरम ने कहा कि अपने वकील साथियों की सलाह पर वह अग्रिम जमानत के लिए उच्चतम न्यायालय पहुंचे। उन्होंने कहा, ‘‘मैं कानून से बच नहीं रहा था, कानून के संरक्षण का प्रयास कर रहा था। मैं न्यायालय के आदेश का सम्मान करता हूं। मैं कानून का पालन करूंगा, भले ही एजेंसियों द्वारा इसे भेदभाव ढंग से लागू किया जा रहा हो। मैं सिर्फ यही उम्मीद और प्रार्थना करूंगा कि जांच एजेंसियां भी कानून का सम्मान करेंगी। 

#Chidambaram को लेकर #BJP ने बोला #Congress पर जोरदार हमला  

मोदी सरकार पर भड़के कार्ति चिदंबरम

चिदंबरम के पुत्र और लोकसभा सदस्य कार्तिक (karti chidambaram) ने ट्वीट कर दावा किया कि उनके पिता के खिलाफ राजनीतिक प्रतिशोध के तहत कार्रवाई की जा रही है। उन्होंने यह भी कहा, ‘‘मेरा आईएनएक्स मीडिया मामले से कोई लेनादेना नहीं है। हमारी सारी संपत्ति और देनदारियों का ब्यौरा घोषित है। मैं कई बार यह बात कही है। वरिष्ठ वकील और कांग्रेस सलमान खुर्शीद ने कहा कि चिदंबरम के खिलाफ लगे आरोपों का कोई ठोस आधार नहीं है।  गौरतलब है कि आईएनएक्स मीडिया मामले में दिल्ली उच्च न्यायालय से अग्रिम जमानत याचिका खारिज होने के बाद सीबीआई अधिकारी मंगलवार को चिदंबरम के दिल्ली स्थित आवास पहुंचे, लेकिन वहां उनसे मुलाकात नहीं होने पर अधिकारियों ने एक नोटिस चस्पा कर उन्हें दो घंटे में पेश होने का निर्देश दिया।

कांग्रेस का आरोप- BJP-RSS है दलित विरोधी, आरक्षण और संविधान इनके निशाने पर   

इसके जवाब में चिदंबरम की कानूनी टीम ने कहा कि नोटिस में कानून के उन प्रावधानों का जिक्र नहीं किया गया है जिनके तहत उन्हें तलब किया गया। साथ ही उन्होंने उच्चतम न्यायालय में बुधवार सुबह उनकी याचिका पर सुनवाई होने से पहले कोई बलपूर्वक कार्रवाई ना करने की अपील भी की। सीबीआई की टीम बुधवार को सुबह एक बार फिर चिदंबरम के आवास पहुंची थी। ईडी ने उनके खिलाफ लुकआउट नोटिस भी जारी किया था।     

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.