Tuesday, Oct 27, 2020

Live Updates: Unlock 5- Day 26

Last Updated: Mon Oct 26 2020 09:33 PM

corona virus

Total Cases

7,918,102

Recovered

7,141,966

Deaths

119,148

  • INDIA7,918,102
  • MAHARASTRA1,645,020
  • ANDHRA PRADESH807,023
  • KARNATAKA802,817
  • TAMIL NADU709,005
  • UTTAR PRADESH470,270
  • KERALA377,835
  • NEW DELHI356,656
  • WEST BENGAL353,822
  • ARUNACHAL PRADESH325,396
  • ODISHA279,582
  • TELANGANA231,252
  • BIHAR212,192
  • ASSAM204,171
  • RAJASTHAN182,570
  • CHHATTISGARH172,580
  • MADHYA PRADESH167,249
  • GUJARAT165,233
  • HARYANA158,304
  • PUNJAB130,640
  • JHARKHAND99,045
  • JAMMU & KASHMIR90,752
  • CHANDIGARH70,777
  • UTTARAKHAND59,796
  • GOA41,813
  • PUDUCHERRY33,986
  • TRIPURA30,067
  • HIMACHAL PRADESH20,213
  • MANIPUR16,621
  • MEGHALAYA8,677
  • NAGALAND8,296
  • LADAKH5,840
  • ANDAMAN AND NICOBAR ISLANDS4,207
  • SIKKIM3,770
  • DADRA AND NAGAR HAVELI3,219
  • MIZORAM2,359
  • DAMAN AND DIU1,381
Central Helpline Number for CoronaVirus:+91-11-23978046 | Helpline Email Id: ncov2019 @gov.in, ncov219 @gmail.com
China busy trying to nurturing Nepal after tibbet pakistan say RSS Indresh Kumar rkdsnt

नेपाल को भी झांसा देकर अपने पाले में लाने की कोशिश कर रहा है चीन : इंद्रेश कुमार

  • Updated on 8/17/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। राष्‍ट्रीय सुरक्षा जागरण मंच (फैन्स) की ओर से शनिवार को हिंद-प्रशांत क्षेत्र में चीन की आक्रामक नीति का समाधान (इंडो पेसिफिक रीजन: चाइना कंटेनमेंट पॉलिसी) को लेकर एक देशव्‍यापी वेबिनार आयोजित किया गया। इस वेबिनार को संबोधित करते हुए फैन्स के राष्ट्रीय संरक्षक व राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के अखिल भारतीय कार्यकारी मंडल सदस्य इंद्रेश कुमार ने कहा कि फैन्स की ओर से 74वीं स्वतंत्रता दिवस मनाने के पश्चात आज की यह तरंग गोष्ठी काफी अहम है। विभाजन के बाद भारत अब ऐसे मोड़ पर आ गया है, जहां वर्षों से लंबित कई अहम मसलों का समाधान संभव होता नजर आ रहा है। राम जन्मभूमि विवाद का समाधान शांतिपूर्वक होना इस बात का बडा संकेत है।

डॉक्टर कफील की रासुका तामील अवधि फिर बढ़ी, परिवार हैरान-परेशान

उन्होंने चीन की आक्रामकता और उसकी विस्तारवादी नीतियों पर प्रहार करते हुए कहा कि हिंद-प्रशांत क्षेत्र में चीन की कुटिल चाल को लेकर हमें सजग रहने एवं इसके खिलाफ एक वैश्विक अभियान चलाने की जरूरत है। चीन ने अब तक अनेक देशों की जमीन कब्जाई है। भारत के पूर्व प्रधानमंत्री पंडित नेहरू को झांसे में लेकर तिब्बत सहित अनेक देश हड़प लिए। कैलाश मानसरोवर को भी जबरन कब्जा लिया। पिछले कुछ सालों से पाकिस्तान में विकास के नाम पर वहां कब्जे के लिए निरंतर प्रयास कर रहा है।

प्रशांत भूषण मामला : जजों, वकीलों ने बार और पीठ के बीच सौहार्दपूर्ण रिश्तों की वकालत की

साथ ही साथ नेपाल को भी झांसा देकर उसे अपने पाले करने में जुटा है। उन्होंने कहा कि नेपाल की मौजूदा वामपंथी सरकार चीन की एक तरह से गुलाम हो गई है। भारत के खिलाफ नेपाल का अनर्गल प्रलाप भी चीन की साजिश का ही एक हिस्सा है। अपनी विस्तारवादी अभियान में यह चीन का एक और क्रूर चेहरा है। उन्होंने कहा कि चीन हमेशा से एक विस्तारवादी देश रहा है, इसके लिए वह किसी देश के लोकतंत्र को भी कुचलने से बाज नहीं आता है। उसने अब तक कई देशों के मौलिक अधिकारों का हनन किया है।

पायलट की शिकायतों पर शुरू हुई कार्रवाई, हटाए गए पांडेय, माकन का बढ़ा कद

इंद्रेश कुमार ने कहा कि चीन जिसे दक्षिण चीन सागर कहता है, वास्तव में वह हिंद-प्रशांत क्षेत्र में मुक्त समुद्री व्यापार का सबसे बड़ा केंद्र है। ज्ञात रहे कि पहले यह यह पूर्वी सागर व मलय सागर कहलाता था। यह सागर जलवायु समेत कई मामलों से उन्नत है। अब चीन इस सागर में अपना वर्चस्व साबित करने में जुटा है। मलय सागर में अब हमें चीन की साजिशों के खिलाफ एक स्पष्ट संदेश देने की जरूरत है। इस क्षेत्र को लेकर पूर्व की तुलना में अब भारत के रुख में अधिक स्पष्टता है। इससे निपटने के लिए हम सभी को मीडिया के माध्यम से दुनिया भर में चीन की साजिश के खिलाफ प्रचार अभियान छेड़ने की जरूरत है। 

एसएम कृष्णा बोले- राजनीतिक भ्रष्टाचार की जड़ चुनावी भ्रष्टाचार में, बैन हो कॉरपोरेट चंदा 

ताइवान, तिब्बत और हांगकांग को यूनाइटेड नेशन के अंदर एक स्वतंत्र देश के तौर पर मान्यता दी जानी चाहिए, इसके लिए भी जन आंदोलन की जरूरत है। चूंकि इन देशों में चीन की दमनकारी नीतियां अब किसी से छिपी नहीं है। चीन के उत्पात, क्रूरता एवं उसके फैलाव को सीमित करने के खिलाफ दुनिया के देशों को अब एक साथ आना होगा। उन्होंने कोरोना वायरस को चीन को लैब में तैयार किया गया ‘बॉयो हथियार’ करार दिया। 

यूपी में AAP के दफ्तर पर लगा ताला, पार्टी ने साधा योगी सरकार पर निशाना

यही कारण है कि दुनिया के अधिकांश ताकतवार देश अभी तक कोई वैक्सीन बनाने में विफल रहे हैं। चीन का असली रूप दुनिया के सामने आ चुका है। चीन की मौजूदा नीति मानव जाति के लिए संकट एवं घोर चुनौती है। यदि चीन, भारत को पराजित करेगा तो यह दुनिया के लिए संकट बन जाएगा। दुनिया के देश आज भारत के साथ इसलिए हैं, चूंकि उन्हें पता है कि भारत ही इस चुनौती की काट है। चूंकि, अभी तक चीन की विस्तारवादी नीति का भारत ने डटकर सामना किया है।

सरकारी विभाग के भ्रष्टाचार की शिकायतों की जांच को लेकर नाखुश है CVC

उन्होंने कहा कि चीन पर अंकुश लगाने के लिए उसकी आर्थिक कमर को तोड़ना बेहद जरूरी है। इसी को ध्यान में रखकर भारत को अब अपने आत्मनिर्भर होने की दिशा मे काफी गंभीरता से पहल करनी होगी, जिसकी शुरुआत इस महामारी के साथ आई चुनौतियां के दरम्यान शुरू हो चुकी है। चीन की विस्तारवाद व दमनकारी नीति, दादागिरी किस कदर अमानवीय है, इसका दंश आज कई देश झेल रहे हैं। यह मानवता के खिलाफ है। हमें इसे विश्व की मीडिया में लेकर जाने की जरूरत है। चीन की साजिश एवं कुटिलता एक दिन दुनिया को जरूर समझ में आएगा। 

 

 

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें...

प्रशांत भूषण केस में SC का फैसला संवैधानिक लोकतंत्र को कमजोर करने वाला : येचुरी

comments

.
.
.
.
.