Wednesday, Oct 16, 2019
CHINA China and India are not a threat to each other

CHINA: एक-दूसरे के लिए खतरा नहीं हैं चीन और भारत

  • Updated on 10/11/2019

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। समुद्र किनारे बसे इस प्राचीन शहर में चीन (China) के राष्ट्रपति शी जिनपिंग (Xi Jinping) के भव्य स्वागत की तैयारियां हो रही हैं, वहीं चीन ने कहा है कि दोनों देश एक दूसरे के लिए किसी तरह का खतरा नहीं हैं तथा दोनों एशियाई देशों के बीच वृहद सहयोग से क्षेत्र में और इससे परे शांति और स्थिरता लाने में सकारात्मक ऊर्जा मिलेगी। 

व्यापार सुविधा में सहयोग बढ़ाकर ‘असंतुलन’ को दूर किया जा सकता है : चीन

चीनी राजदूत ने कहा कि शुक्रवार से शुरू हो रही दो दिवसीय अनौपचारिक शिखर वार्ता से दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय संबंधों के विकास की दिशा पर दिशानिर्देशक सिद्धांत समेत नई आम-सहमतियां उभर सकती हैं। उन्होंने कहा कि दुनिया के दो सबसे बड़े विकासशील और उभरती अर्थव्यवस्थाओं वाले देश, चीन और भारत की इस जटिल दुनिया में सकारात्मक ऊर्जा भरने की जिम्मेदारी है।सुन ने कहा कि हमारा विश्वास है कि शिखर वार्ता द्विपक्षीय संबंधों को उच्च स्तर पर ले जाएंगी और क्षेत्रीय तथा वैश्विक शांति, स्थिरता एवं विकास पर इसका बड़ा और सकारात्मक असर पड़ेगा।

हरियाणा चुनाव के मद्देनजर में स्मृति ईरानी ने राबर्ट वाड्रा पर साधा निशाना

शी करीब 24 घंटे की यात्रा के लिए शुक्रवार को चेन्नई पहुचेंगे। वह ऐसे समय में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ अनौपचारिक वार्ता करने वाले हैं जब कश्मीर के मुद्दे को लेकर दोनों देशों के बीच असहज स्थिति पैदा हो गई थी। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने बुधवार को बीजिंग में शी जिनपिंग के साथ बातचीत में इस मुद्दे को उठाया था। सुन ने कहा कि दोनों देश एक दूसरे को खतरा नहीं पहुंचाते बल्कि एक दूसरे के लिए विकास के अवसर मुहैया कराते हैं। चीन और भारत के बीच सहयोग न केवल एक दूसरे के विकास में योगदान देगा, बल्कि वैश्विक बहु-ध्रुवीकरण तथा आॢथक वैश्वीकरण की प्रक्रिया को भी बढ़ाएगा तथा विकासशील देशों के साझा हितों की सुरक्षा करेगा। 

यौन शोषण के आरोपी चिन्मयानंद के समर्थन में आया अखाडा परिषद

अभेद्य किले में तब्दील मामल्लापुरम
मामल्लापुरम: तमिलनाडु की राजधानी चेन्नई (Chennai) के नजदीक तटीय शहर मामल्लापुरम को अभेद्य किले में तब्दील कर दिया गया है। शहर के पास तटरक्षक जहाज ने लंगर डाल दिया है। तमिलनाडु के विभिन्न हिस्सों से आए 5000 से अधिक पुलिसकर्मियों की यहां तैनाती की गई है। दर्जनों अस्थायी पुलिस चौकियां बनाई गई हैं। शहर में 800 सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं जिसके जरिये सड़कों और अन्य रास्तों की 24 घंटे निगरानी की जा रही है। वाहनों की जांच तेज कर दी गई है। तटीय शिव मंदिर के नजदीक तट पर अवरोधक लगाए गए हैं यह वह स्थान है जहां मोदी-जिनपिंग आएंगे। स्थानीय मछुआरों को भी गुरुवार से समुद्र से दूर रहने को कहा गया है। 

comments

.
.
.
.
.