Thursday, Mar 04, 2021
-->
china demand immediate return of pla soldier held by indian army ladakh KMBSNT

लद्दाख में Indian Army ने पकड़ा चीनी सैनिक तो तिलमिलाया ड्रैगन, की ये मांग

  • Updated on 1/10/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। भारतीय सीमा में घुसे चीनी (China) सैनिक को लेकर एक बार लद्दाख (ladakh) में फिर से तनाव बढ़ने की आशंका है। शुक्रवार को एक चीनी सैनिक एलएसी को पार भारतीय सीमा में घुस गया था, जिसे भारतीय सेना ने पकड़ लिया है। इस सैनिक को पूर्वी लद्दाख के पैंगोंग त्सो के दक्षिणी तट पर भारतीय जवानों ने पकड़ा है। अब चीन ने मांग की है कि उसके सैनिक को तुरंत छोड़ा जाए। 

लद्दाख में बीते साल मई माह से ही चीन और भारत के बीच सीमा घुसपैठ को लेकर  विवाद चल रहा है। दोने ही देशों ने अपनी-अपनी सीमाओं में बड़ी संख्या में सैनिकों की तैनाती की है। 

लद्दाख में चीन की हरकत पर बोला रक्षा मंत्रालय, भारतीय सैनिकों ने सख्ती से दिया जवाब

रास्ता भटक गया था चीनी सैनिक
चीनी सैनिक को पकड़ने के बाद जब सुरक्षा जवानों ने उससे पूछताछ की तो उसने बताया कि वो रास्ता भटक  गया था जिसके कारण वो भारतीय सीमा में गलती से आ गया। आपको बता दें कि पूरी छानबीन करके ही चीनी जवान को बॉर्डर पार चीनी सेना के अधिकारी को सौपा जाएगा। एक रिपोर्ट के मुताबिक चीन के इस सैनिक को लद्दाख के पैंगोंग झील के दक्षिण छोर से पकड़ा। पकड़े जाने के बाद उस सैनिक ने कहा कि वो रास्ता भटक गया था अभी उसे कुछ समझ में आता तब तक उसे पकड़ा जा चुका था। 

जून 2020 में हुई थी हिंसक झड़प
आपको बता दें कि पिछले साल 15 जून को हुए दोनों देशों के बीच खूनी संघर्ष के बाद अब भारतीय सेना भी हर हमले का जवाब देने के लिए तैयार है। एक रिपोर्ट में कहा गया है कि भारतीय सैनिक चीनी सैन्यबलों के किसी भी दुस्साहस का जवाब देने के लिए उत्साह से लबरेज है और भारतीय सेना किसी भी आकस्मिक स्थिति के लिए तैयार है और सौहार्द्रपूर्ण तरीके से मुद्दे का समाधान करने के लिए वार्ता आगे बढ़ रही है। गलवान घाटी की झड़प का जिक्र करते हुए रक्षा मंत्रालय ने कहा कि चीनी पक्ष में भी 'बहुत हताहत हुए।' गलवाल घाटी में 15 जून को दोनों देशों की सेनाओं के बीच झड़प हो गई थी जिसमें 20 भारतीय जवान शहीद हो गये थे।

Farmer Protest: अपनी मांगों पर अड़े किसानों को सरकार की सलाह, कहा-राष्ट्रहित के बारे में भी सोचें

चीन की हरकतों पर वार्षिक रिपोर्ट में ये बोला रक्षा मंत्रालय
रक्षा मंत्रालय ने कहा, 'वास्तविक नियंत्रण रेखा पर एक से अधिक क्षेत्रों में यथास्थिति को बलपूर्वक बदलने की चीनियों की एकतरफा एवं भड़काऊपूर्ण कार्रवाई का दृढतापूर्वक एवं स्थिति को बिना बिगाड़ने वाले तरीके से जवाब दिया गया और पूर्वी लद्दाख में हमारे दावे की गरिमा सुनिश्चित की गई।' उसने कहा, 'भारतीय सेना ने दोनों देशों के बीच के सभी नियमों एवं संधियों का पालन किया जबकि पीएलए ने अपरंपरागत हथियारों का उपयेाग करके तथा भारी संख्या में सैनिकों का जमावड़ा लगा कर स्थिति बिगाड़ी।'

ये भी पढ़ें:-

comments

.
.
.
.
.