Sunday, Jun 13, 2021
-->
china expressed concern over indias corona vaccine sohsnt

भारत की कोरोना वैक्सीन से तिलमिलाया चीन, ग्लोबल टाइम्स में लगाए बेबुनियादी आरोप

  • Updated on 1/5/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। चीन (China) के वुहान शहर निकले कोरोना वायरस का आज भारत समेत पूरी दुनिया सामना कर रही है। हालांकि, राहत की बात ये है कि रूस, अमेरिका, जापान, ऑस्ट्रेलिया और भारत समेत कई बड़े देशों में कोरोना वायरस वैक्सीन (Corona Vaccine) के आपातकालीन इस्तेमाल की इजाजत मिल गई है। भारत में जल्द ही कोरोना का टीकाकरण शुरू होने जा रहा है। ऐसे में भारत में अपनी कोरोना वैक्सीन बेचने का सपना देख रहे चीन को ये बात आसानी से हजम नहीं हो रही और चीन अब भारतीय कोरोना वैक्सीन की सुरक्षा को लेकर बेबुनियादी सवाल खड़े करने लगा है।

COVID-19: क्या आप जानते हैं देशभर में मुफ्त मिलने वाली कोरोना वैक्सीन की कीमत?

भारतीय वैक्सीन का दुष्प्रचार कर रहा चीन
चीन अपने सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स के जरिए अब भारतीय कोरोना वैक्सीन की सुरक्षा पर सवाल उठाते हुए उसका दुष्प्रचार कर रहा है। दरअसल, चीन को कोरोना वैक्सीन का पर सवाल खड़े करने का सुनहरा मौका तब मिल गया जब खुद देश के नेताओं ने इसकी सुरक्षा को लेकर चिंता जाहिर की थी। भारतीय राजनीति के कुछ एक चुनिंदा नेताओं के बयान के बाद ग्लोबल टाइम्स ने कहा कि भारतीय नेताओं के चीन विरोधी भवानाओं को भड़काने के बाद और भारत के  स्वदेशी कोवैक्सीन टीका को इजाजत मिलने के बाद चीन की कोरोना वैक्सीन को भारतीय बाजारों में बेचने की संभावना कम हो गई है।

COVID-19: कोरोना के नए स्ट्रेन के साये में ब्रिटेन, प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने फिर लगाया लॉकडाउन

ग्लोबल टाइम्स ने लिखी ये बात
ग्लोबल टाइम्स ने लिखा है कि भारत में कोरोना वैक्सीन को तीसरे चरण के क्लिनिकल ट्रायल में जाने के महज एक महीने बाद ही इसके आपातकालीन इस्तेमाल की मंजरी दे दी है, जिसके कारण वैक्सीन के प्रभाव को लेकर चिंता पैदा हो गई है। इसके साथ ही चाइनीज एकेडमी ऑफ सोशल साइंसेज के शोधकर्ता तिआन गुआंगकिआंग ने भारत की वैक्सीन पर भरोसा कम होने की बात कही थी। इसके अलावा चीन ने भारत की वैक्सीन को लेकर कई सवालिया निशान खड़े किए हैं।

भारत में बन रही हैं ये Corona Vaccine, जानें कौन है किस लेवल पर, देखें पूरी लिस्ट यहां....

वैक्सीन पर विपक्ष ने खड़े किए थे सवाल
दरअसल, आज अगर चीन को भारत की वैक्सीन पर कुछ भी कहना का मौका मिला है, तो इसका कारण भी भारत ही है जिसके कुछ नेताओं ने भारतीय वैक्सीन की आलोचना करने का उन्हें मौका दिया है। बता दें कि देश में कोरोना वैक्सीन  के आपात इस्तेमाल की मंजूरी मिलने के बाद से विपक्षी पार्टियों के नेताओं ने भारत बायोटेक के 'कोवैक्सीन' (Covaxin) टीके के इस्तेमाल की मंजूरी पर कई सवालिया निशान खड़े किये हैं।

शोध में हुआ खुलासा- नया कोरोना स्ट्रेन तेजी से कर रहा है प्रजनन, हो सकते हैं खतरनाक हालात!

शशि थरूर ने वैक्सीन के इस्तेमाल को लेकर उठाए सवाल

भारतीय वैक्सीन पर सवाल उठाने वालों में सी ही एक हैं कांग्रेस के नेता शशि थरूर जिन्होंने कोरोना वैक्सीन पर सवाल उठाते हुए कहा कि भारत बायोटेक को 'कोवैक्सीन' का तीसरा चरण पूरा होने से पहले टीकाकरण के आपात इस्तेमाल की मंजूरी दे दी। उन्होंने कहा समय से पहले वैक्सीनेशन की स्वीकृति खतरनाक हो सकती है। उन्होंने हर्षवर्धन से सवाल करते हुए कहा कि उन्हें सामने आकर वैक्सीन की स्थिति स्पष्ट करनी चाहिए और जब तक की वैक्सीन का परीक्षण पूरा नहीं हो जाता इसके इस्तेमाल से बचना चाहिए, इस बीच देश में एस्ट्राजेनेका वैक्सीन का इस्तेमाल करना चाहिए।

Covaxin के इमरजेंसी ट्रायल पर इन वैज्ञानिकों ने उठाए सवाल, पूछा- डेटा कहां है?

कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने हर्षवर्धन से पूछा ये सवाल
इसके अलावा कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने कोविड-19 वैक्सीन पर सवाल उठाते हुए स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन से जवाब मांगते हुए कहा कि भारत बायोटेक एक नई कंपनी है। ये आश्चर्य की बात है कि कोवैक्सीन के लिए, फेज-3 से जुड़े प्रोटेकॉल को संशोधित किया जा रहा है।

कोरोना: कांग्रेस नेता की मांग, सबसे पहले PM मोदी लगवाएं वैक्सीन, लोगों में बढ़ेगा विश्वास

अखिलेश यादव ने भी उठाया था सवाल
यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने भारत के कोविड-19 वैक्सीन पर सवाल उठाते हुए कहा कि उन्हे बीजेपी की वैक्सीन पर विश्वास नहीं है, इसलिए वे अपना वैक्सीनेशन नहीं कराएंगे। मालूम हो कि ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) ने प्रतिबंधित आपातकालीन उपयोग के लिए सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया की वैक्सीन 'कोविश‌िल्ड' और भारत बायोटेक के 'कोवाक्सिन' को मंजूरी दे दी है। हालाकिं इन आरोपों का जवाब देते हुए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन (Harsh Vardhan) ने इन्हें बेहद अपमानजनक और निंदनीय बयान करार दिया है।

यहां पढ़े कोरोना से जुड़ी बड़ी खबरें...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.