Friday, Aug 07, 2020

Live Updates: Unlock 3- Day 7

Last Updated: Fri Aug 07 2020 03:11 PM

corona virus

Total Cases

2,030,001

Recovered

137,862

Deaths

41,673

  • INDIA7,843,243
  • MAHARASTRA479,779
  • TAMIL NADU279,144
  • ANDHRA PRADESH196,789
  • KARNATAKA158,254
  • NEW DELHI141,531
  • UTTAR PRADESH108,974
  • WEST BENGAL86,754
  • TELANGANA75,257
  • BIHAR68,148
  • GUJARAT67,811
  • ASSAM50,446
  • RAJASTHAN49,418
  • ODISHA42,550
  • HARYANA37,796
  • MADHYA PRADESH35,082
  • KERALA27,956
  • JAMMU & KASHMIR22,396
  • PUNJAB18,527
  • JHARKHAND14,070
  • CHHATTISGARH10,202
  • UTTARAKHAND7,800
  • GOA7,075
  • TRIPURA5,643
  • PUDUCHERRY3,982
  • MANIPUR3,018
  • HIMACHAL PRADESH2,879
  • NAGALAND2,405
  • ARUNACHAL PRADESH1,790
  • LADAKH1,534
  • DADRA AND NAGAR HAVELI1,327
  • CHANDIGARH1,206
  • MEGHALAYA937
  • ANDAMAN AND NICOBAR ISLANDS928
  • DAMAN AND DIU694
  • SIKKIM688
  • MIZORAM505
Central Helpline Number for CoronaVirus:+91-11-23978046 | Helpline Email Id: ncov2019 @gov.in, ncov219 @gmail.com
china-going-to-put-big-power-project-in-pok-musrnt

बाज नहीं आ रहा चीन, अब POK में लगाने जा रहा बड़ा पावर प्रोजेक्ट

  • Updated on 6/3/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। कोरोना वायरस संकट के बीच चीन अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा है। चीन अब पाक अधिकृत कश्मीर ( POK) में अपनी घुसपैठ मजबूत करने जा रहा है। पाकिस्तान के अखबार एक्सप्रैस ट्रिब्यून के मुताबिक भारत के विरोध के बावजूद चीन पीओके में 1,124 मैगावाट का बड़ा पावर प्रोजेक्ट लगाने जा रहा है।

कोरोना की आड़ में पाक POK के लोगों पर ढा रहा है जुल्म, लोग बोले- क्या हम इंसान नहीं?

चीन पाकिस्तान इकोनॉमिक कॉरिडोर (सी.पी.ई.सी.) के तहत कोहाला हाईड्रो पावर प्रोजैक्ट का ब्यौरा प्राइवेट पावर एंड इन्फ्रास्ट्रक्चर बोर्ड (पी.पी.आई.बी.) की 127वीं बैठक में रखा गया, जिसकी अगुवाई ऊर्जा मंत्री उमर अयूब ने की।

पाक को कम कीमत पर मिलेगी बिजली
यह पावर प्रोजैक्ट जेहलम नदी पर बनाया जाएगा और इससे पाकिस्तान के उपभोक्ताओं को कम कीमत पर सालाना 5 अरब यूनिट बिजली मिलेगी। इसमें 2.4 अरब डॉलर का भारी-भरकम निवेश होगा। 3,000 कि.मी. के सीपीईसी का लक्ष्य चीन और पाकिस्तान को रेल, रोड, पाइप लाइन और ऑप्टिकल केबल फाइबर नैटवर्क से जोड़ना है।

यह चीन के शिनजियांग प्रांत को पाकिस्तान के ग्वादर पोर्ट से जोड़ता है। इससे चीन को अरब सागर तक पहुंच मिलती है। सीपीईसी  पीओके से गुजरता है, जिसको लेकर भारत चीन के सामने आपत्ति दर्ज करवाता रहा है। पिछले महीने भी भारत ने विरोध दर्ज करवाया था, जब पाकिस्तान ने गिलगित, बाल्तिस्तान में एक डैम बनाने के लिए कॉन्ट्रैक्ट दिया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.