Wednesday, Aug 10, 2022
-->

चीन ने और कड़ा किया सेंसरशिप, कम्युनिस्ट पार्टी की बैठक से पहले व्हाट्सएप पर बैन

  • Updated on 9/26/2017

Navodayatimesनई दिल्ली/टीम डिजिटल। ऐसा प्रतीत होता है कि अगले माह होने जा रही कम्युनिस्ट पार्टी की कांग्रेस की अहम बैठक के लिए तैयारी कर रहे चीनी अधिकारियों ने सेंसरशिप को कड़े करने के कदम के तहत मैसेजिंग एप ‘व्हाट्सएप’ को बाधित कर दिया है।

चीन के उपयोगकर्ताओं (यूजर्स) ने हालिया दिनों में  फेसबुक की इस सेवा में व्यापक बाधा आने की रिपोर्ट की है। यहां इस सेवा में गर्मियों में भी गड़बड़ी आ गई थी। लिखित संदेश, वॉइस कॉल और वीडियो कॉल आज फिर से काम करते प्रतीत हुए, हालांकि एप के जरिए वॉइस संदेश और फोटो अब भी नहीं जा पा रहे हैं।

चीन ने माना- पाक में है आतंकवाद लेकिन सुषमा के भाषण को कहा...

व्हाट्सएप एक संदेश एन्क्रिप्शन तकनीक है, जिससे चीनी अधिकारी खुश नहीं है क्योंकि वह अपने ‘ग्रेट फायरफॉल’ के जरिए साइबर स्पेस पर निकटता से नजर रखते हैं और उसे प्रतिबंधित करते हैं। चीन ने इस साल नए कानूनों के तहत अपनी ऑनलाइन निगरानी को और कड़ा किया है।

इसमें तकनीकी कंपनियों के देश के अंदर उपयोगकर्ताओं के डेटा स्टोर करने के साथ-साथ अनुमेय सामग्री पर प्रतिबंधों का भी प्रावधान है। फेसबुक और ट्विवटर जैसी वेबसाइटों के अलावा बड़ी संख्या में विदेशी मीडिया भी यहां सालों से प्रतिबंधित हैं।

व्हाट्सएप में यह समस्या ऐसे समय में आई है जब 18 अगस्त को कम्युनिस्ट पार्टी की कांग्रेस की अहम बैठक के आयोजन की तैयारी चल रही है।

इस बैठक में राष्ट्रपति शी चिन फिंग को 18 अक्तूबर को दूसरी बार पांच साल के लिए पार्टी का महासचिव बनाया जा सकता है। चीन ऐसे बड़े समारोह से पहले आम तौर पर निगरानी कड़ी कर देता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.