Sunday, Sep 26, 2021
-->
china-is-plotting-to-create-unrest-in-india-giving-arms-and-money-to-terrorists-in-myanmar-prshnt

भारत में अशांति फैलाने की साजिश रच रहा चीन, म्यांमार में आतंकियों को दे रहा हथियार और पैसे की मदद

  • Updated on 7/2/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। चीन लगातार अपने कारनामों से चीन और भारत के बीच तनाव को और बढ़ाने में जुटा है और अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा। चीन अब भारत में शांति व्यवस्था भंग करने की मंशा से आतंकवादियों से मदद ले रहा है। स्थानीय लाइसस समाचार की एक रिपोर्ट के मुताबिक चीन म्यांमार के आतंकी संगठनों को पैसे और अत्याधुनिक हथियार की आपूर्ति में लगा हुआ है। चीन नएपीटाव आतंकवादी समूह अराकान सेना को मदद पहुंचा रहा है।

सैन्य सूत्र के मुताबिक दक्षिण पूर्व एशिया की जानकारी रखने वाले ने इस बात की पुष्टि की है कि चीन अराकन सेना के खर्चे का लगभग 95% तक वहन कर रहा है। सूत्र ने बताया कि अराकान सेना के पास लगभग 50 मैन-पोर्टेबल एयर डिफेंस सिस्टम, सतह से हवा में मार करने वाली मिसाइलें हैं

भारत के 59 चीनी ऐप्स पर प्रतिबंध के बाद अमेरिका में भी उठी बैन की मांग, विदेश मंत्री ने कही ये बात

दक्षिण एशिया में एक बहुआयामी खेल, खेल रहा चीन
सूत्रों का कहना है कि चीन की रणनीति अपने प्रभाव को अपनी सीमा के दक्षिण में अच्छी तरह से फैलाने की है और अराकान सेना को समर्थन देने की इस रणनीति में चीन को पश्चिमी म्यांमार जो कि भारतऔर म्यांमार सीमा है उसको अपने प्रभाव क्षेत्र का विस्तार करने में सक्षम बनाया है। इस मुद्दे को लेकर एक ऑस्ट्रेलियाई विद्वान का कहना है कि चीन दक्षिण एशिया में एक बहुआयामी खेल, खेल रहा है उनका कहना है कि चीन भारत को कमजोर करना चाहता है। भारत के पाकिस्तान के साथ संबंध अच्छे नहीं है और म्यांमार को नया दुश्मन बनाना चाहता है, वहीं भारतीय सूत्र के मुताबिक चीन नहीं चाहता कि म्यांमार में भारतीय प्रभाव पड़े, चीन वहां एकाधिकार चाहता है।

कोरोना संकट के बीच आज से पर्यटकों के लिए खुल जाएगा गोवा, ये हैं शर्तें

म्यांमार में चीन की घुसपैठ
बता दे कि जून 2017 में भारत के सी एंड सी कंस्ट्रक्शन को 220 मिलियन डॉलर के सड़क निर्माण का ठेका मिला था, म्यांमार सरकार ने जनवरी 2018 तक मंजूरी में देरी कर दी। वहीं जब एक बार का निर्माण कार्य चल रहा था तो आराकान सेना ने भारतीय नागरिक को अग्निशामक सहित चालक दल में म्यांमार के संसद सदस्य का अपहरण कर लिया। सूत्रों के मुताबिक हाल ही में चीन से हथियार की डिलीवरी की गई है।

comments

.
.
.
.
.