Thursday, Dec 09, 2021
-->
china sees rising india as rival, wants to constrain ties with us prsgnt

भारत को अपना प्रतिद्वंद्वी मान रहा है चीन, कई देशों से कराना चाहता है रिश्ते खराब- अमेरिकी रिपोर्ट

  • Updated on 11/20/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। पिछले 6 महीनों से भारत और चीन के बीच लद्दाख स्थित बॉर्डर पर तनाव जारी है। इस बीच अमेरिकी विदेश विभाग की एक रिपोर्ट में चीन और भारत को लेकर प्रतिद्वंदी होने की बात कही गई है। 

इस रिपोर्ट में चीन को भारत से तेश खाने को लेकर कई बातें लिखी गई हैं। रिपोर्ट के अनुसार चीन उभरते भारत को अपना प्रतिद्वंदी मानता है। चीन भारत को नुकसान पहुंचाना चाहता है। 

इस रिपोर्ट के अनुसार चीन सुपरपावर के तौर पर अमेरिका की जगह लेने की भी कोशिश में लगा हुआ है। चीन वह अमेरिका, करीबी साथियों और अन्य लोकतंत्रों के साथ भारत के रिश्तों को खराब करने की कोशिश में लगा रहता है। बता दें पिछले दिनों अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने भारत समेत कई दक्षिण एशियाई देशों का दौरा किया था। इसके बाद ही अमेरिकी विदेश विभाग की यह रिपोर्ट रिलीज की गई।

Pfizer और BioNTech का दावा- कोविड वैक्सीन अंतिम विश्लेषण में 95% प्रभावी, जल्द करेंगे आवेदन

पोम्पियो पहले भी भारत को चेताते हुए कह चुके हैं कि चीन की कम्युनिस्ट पार्टी लोकतंत्र और कानून की समर्थक नहीं है। उन्होंने भारत को साथ होने का दावा करते हुए कहा था कि भारत की स्वायत्ता पर आ रहे खतरों से निपटने के लिए अमेरिका हमेशा भारत के साथ खड़ा रहेगा।

ऐसा ही अमेरिका के विदेश विभाग द्वारा जारी रिपोर्ट में कहा गया है कि चीन उभरते भारत को प्रतिद्वंदी की तरह समझता है और भारत को आर्थिक तौर पर अपने से जुड़ने को मजबूर करने की कोशिश में है। इसी के चलते चीन भारत के अमेरिका, जापान, ऑस्ट्रेलिया और अन्य लोकतांत्रिक देशों से कूटनीतिक संबंध खराब करने में जुटा है।

आतंकवादियों के खात्में के लिए ब्रिक्स देशों के साथ चीन! शेयर करेगा खूफिया जानकारियां

रिपोर्ट में कहा गया है कि चीन दुनियाभर के कई देशों की सुरक्षा, स्वायत्ता और आर्थिक हितों को नजरअंदाज कर रहा है। जिसमें एसोसिएशन ऑफ साउथईस्ट नेशन (ASEAN) का हिस्सा होने वाले देश भी शामिल हैं। 

यह रिपोर्ट 70 पन्नों की है। इसमें कहा गया है कि अमेरिका और दुनिया के कुछ अन्य देशों में चीन की पावर कॉम्पटीशन जैसे इरादों के प्रति जागरुकता बढ़ रही है। इसके बावजूद कुछ ही देश चीन की इस हर क्षेत्र में घुसपैठ करने के तरीकों को देख पा रहे हैं।

खुशखबरी! भारत ने 150 करोड़ कोरोना वैक्सीन के डोज का किया अडवांस बुकिंग

चीन के निशानों में मुख्यरूप से अमेरिका के साथी देश हैं। जिनमें जापान, थाईलैंड, फिलीपींस, दक्षिण कोरिया और ऑस्ट्रेलिया जैसे देश शामिल हैं। साथ ही साथ भारत, वियतनाम, इंडोनेशिया और ताइवान जैसे अमेरिका के उभरते कूटनीतिक साझेदार भी।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.