Monday, May 10, 2021
-->
chinese-ambassador-hou-yanqi-is-behind-nepal-new-controversial-political-map-prsgnt

नेपाल को नए नक्शे के लिए भड़काने में है चीन की इस महिला का है हाथ, पाकिस्तान से भी जुड़े हैं तार

  • Updated on 6/20/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। नेपाल ने भारत के तीन इलाकों को शामिल कर नया नक्शा अपनी संसद से पास करा लिया। इसके बाद नेपाल ने भारत से लगी उत्तराखंड की सीमा पर भी हथियारों से लैस जवान तैनात कर दिए है।

ऐसा माना जा रहा है कि इसके पीछे चीन का हाथ है जो नेपाल को भारत के खिलाफ भड़का रहा है। इसमें चीन की राजदूत होऊ यांगी का बड़ा हाथ है। वहीँ है जो नेपाल के पीएम को भड़काने का काम कर रही है, वरना नेपाल के रिश्ते भारत के साथ हमेशा अच्छे बने हुए थे।

PM मोदी के बयान पर PMO की सफाई- गलत अर्थ न निकालें, चीन के दुस्साहस का जवाब देंगे

कौन है होऊ यांगी?
साल 2018 से होऊ यांगी नेपाल में चीन की राजदूत हैं। यांगी को दक्षिण-एशियन मामलों का खास जानकार माना जाता है। यांगी ने पाकिस्तान में भी चीनी राजदूत के तौर पर तीन साल बिताए हैं। यांगी ने मिनिस्ट्री ऑफ फॉरेन अफेयर्स में भी डिप्यूटी डायरेक्टर की भूमिका निभाई है। यांगी बेहद तेज दिमाग हैं। यांगी ने पाकिस्तान से सम्बंध अच्छे बनाने के लिए उर्दू भाषा सीखी और मेलजोल के बीच अच्छी उर्दू बोल कर लोगों को प्रभावित किया।

ऐसा माना जाता है कि यांगी ने पाकिस्तान में रहते हुए भारत के खिलाफ कई कूटनीतिक मामलों को देखा। जिसके कारण ही पाकिस्तान के चीन से सम्बंध अच्छे हुए और भारत से बिगड़ते ही रहे।

नेपाल को उकसाया
बताया जाता है कि नेपाल में चीन की राजदूत होते हुए यांगी ने पीएम ओली से काफी घनिष्ठता रखी है। वो अक्सर उनके निवास पर आती जाती हैं और नेपाल के नक्शे को बदलने में जो प्रतिनिधिमंडल शामिल था, यांगी लगातार उनके संपर्क में बनी हुईं थीं। इसलिए नेपाल का नया नक्शा पेश करना चीन की साजिश का हिस्सा माना जा रहा है।

सीमा विवाद पर प्रशांत का तंज, बोले- कोरोना से लड़ाई 21 दिन में जीती, चीन से लड़ने कोई नहीं आया

यांगी की नियुक्ति खास
बताया जाता है कि यांगी को पहले पाकिस्तान में 3 साल रखा गया उसके बाद चीन में अब वो राजदूत के तौर पर रह रही है। इसे किसी खास योजना का ही हिस्सा माना जा रहा है जिसमें चीन और पाकिस्तान की मिली-भगत दिखती है।

चीन के खिलाफ आम आदमी पार्टी का प्रदर्शन, गोपाल राय बोले- केंद्र सरकार सच छुपा रही है

सोशल मीडिया का इस्तेमाल
यांगी सोशल मीडिया पर खासी एक्टिव रहती हैं। वो जहां भी जाती है वहां की तस्वीर वो जरूर पोस्ट करती हैं और सोशल मीडिया के जरिये अपने देश की कंडीशन को मजबूर देखने की कोशिश करती हैं। यांगी सोशल मीडिया में चीन की सांस्कृतिक और सामाजिक बातों का बढ़चढ़ कर बखान करती है। इसे सॉफ्ट पॉवर बढ़ाना कहा जाता है।

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.