Wednesday, Dec 07, 2022
-->
chinese journalist who documented wuhan coronavirus outbreak jailed for 4 years prsgnt

वुहान में कोरोना वायरस पर पत्रकारिता करने वाली चीनी महिला पत्रकार को जेल में डाला

  • Updated on 12/28/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। चीन के वुहान से फैले कोरोना वायरस (Corona virus) को लेकर लगातार मीडिया में जानकारी देने वाली चीन की जर्नलिस्टर झांग झान को 'झगड़ा करने' और 'समस्या ओं को उकसाने' का दोषी पाया है। इन आरोपों के चलते उन्हें 4 साल की जेल की सजा सुनाई गई है। 

इससे पहले पत्रकार और वकील झांग को मई महीने में हिरासत में लिया गया था।  उन्होंने इस आदेश के खिलाफ कई महीनों तक भूख हड़ताल भी की थी। जबकि झांग के वकीलों का कहना है कि उनकी हेल्थ खराब है।

विदेश मंत्री एस जयशंकर पहुंचे कतर, व्यापार साझेदारी को लेकर कही ये बात

किया था कोरोना का खुलासा 
झांग उन सिटीजन पत्रकारों में शामिल हैं जो वुहान में कोरोना वायरस का खुलासा करने पर मुश्किल में आ गए थे। सभी जानते हैं कि चीन में कोई भी फ्री मीडिया यानी स्वतंत्र रूप से काम करने वाली मीडिया नहीं है और चीन में उन लोगों पर कार्रवाई की जाती है कि जो कोरोना वायरस को लेकर चीन सरकार की नीतियों पर सवाल उठाते हैं।

झांग के वकील के अनुसार, झांग फरवरी के महीनें में कोरोना वायरस को लेकर स्वतंत्र रूप से रिपोर्टिंग करने के लिए वुहान गईं थीं। उन्होंने वहां कई लाइव वीडियो और रिपोर्ट बनाई थीं जिसे फरवरी में सोशल मीडिया पर टैग किया गया था। 

2025 तक ब्रिटेन को पछाड़कर दुनिया की पांचवीं बड़ी अर्थव्यवस्था बनेगा भारत, पढ़ें रिपोर्ट

ऐसे आईं थीं निशाने पर 
झांग को सोमवार में अपने वकील के साथ शंघाई की अदालत में पेश होना पड़ा। वकील ने भी बताया कि झांग फरवरी महीने में कोरोना की फ्रीलांस रिपोर्टिंग करने के लिए वुहान पहुंची थीं।

इसी दौरान चीनी अधिकारियों की झांग पर नजर पड़ गई थी और तभी से वो चीनी प्रशासन के निशाने पर हैं। इसी मामले को लेकर चीन में मानवाधिकारों से जुड़े एक एनजीओ का कहना है कि झांग ने अपनी रिपोर्ट में स्वतंत्र पत्रकारों को हिरासत में डाले जाने और जवाबदेही चाहने परिवारों को प्रताड़ित करने वाली रिपोर्ट प्रकाशित की थी।

Xiaomi के दीवानों के लिए Good News! 2021 में तीन अलग-अलग डिजाइन के फोल्डेबल फोन लॉन्च करेगी कंपनी

वहीँ, इन सबके बीच पता चला कि झांग 14 मई से वुहान से लापता हो गईं थीं। इसके बाद, पता लगा कि झांग को शंघाई में पुलिस ने हिरासत में लिया गया है। नवंबर महीने में उनके खिलाफ औपचारिक रूप से आरोप लगाए गए थे। झांग पर आरोप लगाया गया था कि उन्होंने ट्विटर पर टेक्स्ट और वीडियो मीडिया प्लेनटफार्म के जरिए झूठी सूचनाएं फैलाई।

कोरोना से जुड़ी बड़ी खबरें...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.