Sunday, Feb 28, 2021
-->
chinese scientists new drug for covid19 experiments are successful pragnt

Good News: चीन का बड़ा दावा, तैयार कर ली कोरोना के खात्मा की दवा

  • Updated on 5/20/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। चीन (China) के वुहान (Wuhan) शहर से फैले कोरोना वायरस (Coronavirus) ने अमेरिका (America) समेत पूरी दुनिया को जकड़ लिया है। इसके बाद कई देशों का दावा है कि इस जानलेवा वायरस को वुहान की ही एक लैब में तैयार किया गया है। इस महामारी और आरोपों के बीच अब चीन की लैब ने दावा किया है कि उन्होंने एक ऐसी दवा बना ली है जो कोरोना वायरस का खात्मा कर देगी। 

भारत आ रही कंपनियों को देख बौखलाया चीन, बोला- भारत हमारा विकल्प नहीं बन सकता

चीनी लैब का दावा
बता दें कि चीन को लगातार इस महामारी के लिए जिम्मेदार ठहराया जा रहा है। इसके बाद से ही चीन की कई लैबों में कोरोना वायरस की वैक्सीन और संक्रमण को खत्म करने करने के लिए दवा पर काम चल रहा है। पेकिंग यूनिवर्सिटी की लैब के साइंटिस्ट ने कहा कि जो नई दवा वो अब बना रहे हैं वो न केवल कोरोना से संक्रमित व्यक्तियों को ठीक कर सकती है बल्कि कुछ समय तक इस वायरस से लोगों को इम्युनिटी भी दे सकती है। 

सुधर नहीं रहा चीन, लद्दाख और उत्तर सिक्किम में बढ़ाया सैनिकों का जमावड़ा

कोरोना से उबर आए मरीजों के खून से बनी दवा
लैब के डायरेक्टर सन्नी शी ने बताया कि इस दवा का परीक्षण सबसे पहले जानवरों पर किया गया था जो कि सफल रहा है। उन्होंने बताया कि इस दवा को बनाने के लिए उन एंटीबाडीज (रोग प्रतिरोधी कोशिकाओं) का इस्तेमाल किया गया है जो कोरोना वायरस से पूरी तरह ठीक हो चुके हैं। इसके लिए लगभग 60 कोरोना मरीजों का प्लाज्मा लिया गया है। 

अच्छी खबर! चीन से आगरा शिफ्ट हो रही जर्मन फुटवेयर कंपनी, हजारों को मिलेगा रोजगार

चूहे पर किया परीक्षण
चीनी लैब का मानना है कि दुनियाभर में फैले कोरोना वायरस महामारी की रोकथाम के लिए यह दवा कारगार साबित होगी। डायरेक्टर सन्नी शी ने बताया कि इस दवा का परीक्षण उन्होंने सबसे पहले एक संक्रमित चूहे पर किया। चूहे को इंजेक्शन लगाने के पांच दिन बाद ही उसपर कोरोना का संक्रमण कम होने लगा। बता दें कि पेकिंग यूनिवर्सिटी की लैब की इस रिसर्च के बारे में एक साइंस जर्नल में लिखा गया है। ये जर्नल रविवार को ही पब्लिश हुई है।  

नेपाल के पीएम ने की भारत पर टिप्पणी, बोले- 'सत्यमेव जयते है या सिंहमेव जयते'

साल के अंत तक दवा तैयार
लैब के डायरेक्टर ने कहा कि इस वैक्सीन को तैयार करने के लिए हमारे साइंटिस्ट की टीम ने बहुत मेहनत की है। उन्होंने कहा कि वैक्सीन के लिए एंटीबॉडी को ढूंढना हमारी टीम के लिए सबसे बड़ी चुनौती थी। शी ने बताया कि इस साल के अंत तक ये दवा तैयार हो जाएगी, जिससे आगे आने वाले समय में इस तरह कोई बीमारी दोबारा पैदा न हो।

कोरोना के चलते बढ़ा चीन-आस्ट्रेलिया विवाद

चीन में प्लाज्मा थेरेपी के रिजल्ट अच्छे
गौरतलब है कि पिछले हफ्ते चीन के एक स्वास्थ्य अधिकारी ने बताया था कि कोरोना वायरस के खात्मे के लिए चीन पहले भी 5 वैक्सीन बना चुका है, जो कि मानव परीक्षण के दौर में है। इससे पहले विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO)ने चेतावनी जारी करते हुए कह दिया था कि महामारी से निपटने में पांच साल का समय भी लग सकता है। मालूम हो कि चीन में प्लाज्मा थेरेपी के रिजल्ट काफी अच्छे रहे हैं। यहां पर कोरोना वायरस से संक्रमित 700 से अधिक लोग प्लाज्मा थेरेपी के जरिए ही ठीक हुए हैं।

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें...

Coronavirus की दवा हो सकती है अश्वगंधा, IIT दिल्ली ने किया शोध

इंसानी जींस बताते हैं कैसे लड़ेगा कोरोना वायरस से आपका शरीर- शोध

कोरोना के मरीजों में दिखा नया लक्षण, सुनाई देती हैं अजीब आवाजें और होता है मतिभ्रम!

विशेषज्ञों का दावा- कोरोना वायरस से बचने के लिए माउथवॉश करना हो सकता है कारगार

कोरोना से जुड़े 11 सवाल, जिनके जवाब दुनियाभर के वैज्ञानिक, विशेषज्ञ और जानकार नहीं दे पाए हैं!

कोरोना वायरस को लेकर चीन ने दी अपनी सफाई, दुनिया को बताए ये 6 फैक्ट

दुनिया के इस देश में खाया जाता है चमगादड़ का मांस, कोरोना के बाद भी यहां नहीं रुकी बिक्री

बंदरों पर शोध कर वैज्ञानिकों ने समझा महामारी में क्यों जरुरी है सोशल डिस्टेंसिंग का फंडा

कोरोना को लेकर दुनिया को डराने में लगा है WHO! जानें कब- कब, क्या दी जानकारी

'लोकल' पर 'वोकल': दवाओं के लिए खत्म करनी होगी ड्रैगन पर निर्भरता, चौंकाने वाले हैं ये आंकड़े

comments

.
.
.
.
.