Tuesday, Dec 07, 2021
-->
chinese-testing-kit-tanzania-president-john-magufuli-goat-and-fruit-corona-positive-prsgnt

तंजानिया के राष्ट्रपति जॉन मागुफुली ने चीन से आई कोरोना किट को कहा ‘खराब’, जाने क्यों?

  • Updated on 5/6/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। कोरोना वायरस की मार झेल रहा पूर्वी अफ्रीकी देश तंजानिया के राष्ट्रपति जॉन मागुफुली ने चीन से आई कोरोना वायरस जांचने वाली किटों पर संदेह जताया है। उनका कहना है कि ये किट सही नहीं हैं, ये सही परिणाम नहीं देती।

दरअसल, तंजानिया में इन किट से बकरी और एक खास फल पॉपॉ की जांच की गई थी। जिसके परिणाम पॉजिटिव आए थे। इन परिणामों के बारे में जानकार राष्ट्रपति जॉन मागुफुली नाराज हो गये और उन्होंने दावा कर दिया कि चीन से आई ये किट सही परिणाम नहीं दिखाती।

ऑनलाइन बेचा जा रहा है कोरोना मरीजों के लिए ये स्पेशल खून, कीमत है 10 लाख

राष्ट्रपति ने कहा यह मुमकिन नहीं
इस टेस्ट के बारे में राष्ट्रपति का कहना है कि यह मुमकिन ही नहीं है कि फल कोरोना पॉजिटिव निकल आए। ये किट चीन से आई हैं और ये गड़बड़ हैं। उन्होंने कहा है कि सेना टेस्ट किट की जांच कराएं क्योंकि जांच करने वाले लोगों ने इंसानों के सैंपल के अलावा भी दूसरे सैंपल भी लिए थे।

बताया जा रहा है कि सैंपल जांच कराने से पहले यह नहीं बताया गया था कि वो फल, भेड़ और बकरी के सैंपल हैं। यह खुलासा तब किया गया जब रिपोर्ट पॉजिटिव आई। बता दें, तंजानिया में कोरोना वायरस संक्रमण के 480 से ज्यादा मामले दर्ज किए गये हैं जबकि अब तक 16 मौतें हुई हैं।

कोरोना मरीजों की स्किन पर ऐसे दिखता है वायरस का असर, पढ़ें रिपोर्ट

राष्ट्रपति ने हर्बल दवा मंगवाई
वहीँ, कोरोना वायरस से लड़ने के लिए राष्ट्रपति मागुफुली ने मेडागास्कर से हर्बल दवा कोविड ऑर्गेनिक्स मंगवाई है। इसके लिए उन्होंने प्लेन भी भेजा है। बताया जा रहा है कि कोरोना ऑर्गेनिक्स को मालागासी इंस्टीट्यूट फॉर एप्लाइड रिसर्च ने आर्तेमिसिया के प्लांट में तैयार किया है, लेकिन इसकी अभी तक लैब टेस्टिंग नहीं हुई है। इस बारे में मेडागास्कर के राष्ट्रपति एंड्रे राजोलिना ने दावा किया था कि स दवा से कोरोना के कई मरीज ठीक हुए हैं।

कोरोना संकट के बीच दुनिया में हुए कुछ स्पेशल इनोवेशन, जानकार हैरान हो जायेंगे आप!

सरकार ने मौत के आंकड़े छिपाए
वहीँ, इन सब से अलग तंजानिया के विपक्ष ने सरकार पर कोरोना संक्रमण के मामले और मौतों के आंकड़े छुपाने का आरोप लगाया है। विपक्षी दलों का कहना है कि सरकार मामले छुपा कर उन्हें दबाने की कोशिश कर रही है। बता दें कि तंजानिया में लॉकडाउन लागू नहीं किया गया है।

लेकिन पिछले दिनों एक वीडियो सामने आया था जिसमें शवों को चोरी-छिपे दफनाया जा रहा था। इस वीडियो के बारे में यह कहा गया था कि यह कोरोना से मारे गये लोगों के शव हैं जिन्हें सरकार ने आंकड़ों में शामिल नहीं किया है। इसकेबाद से ही सरकार पर कोरोना से जुड़ी सही जानकारी छिपाने के आरोप लग रहे हैं।

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें...

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.