Friday, Jul 01, 2022
-->
chirag paswan requested nitish kumar job martyrs family members  pragnt

चिराग पासवान ने CM नीतीश से की अपील, कहा- शहीदों के परिवार के सदस्यों को दें सरकारी नौकरी

  • Updated on 6/18/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। बीते सोमवार रात भारत (india) और चीन (China) के बीच हुए खूनी संघर्ष के कारण पूरे देशवासियों में चीन के खिलाफ गुस्सा अपने चरम पर है। ऐसे में चीनी सेना की घिनौनी साजिश का शिकार हुए भारतीय जवानों को लेकर लोक जनशक्ति पार्टी (LJP) के अध्यक्ष चिराग पासवान (Chirag Paswan) ने आज बिहार (Bihar) के मुख्यमंत्री से एक अपील की है। 

लद्दाख में शहीद हुए ओडिशा के सैनिकों के परिजनों को CM पटनायक ने की मुआवजा देने की घोषणा

नीतीश कुमार से की सरकारी नौकरी की अपील
चिराग पासवान ने सीएम नीतीश कुमार (Nitish Kumar) से लद्दाख (Ladakh) की गलवान घाटी में चीनी सैनिकों के साथ झड़प में शहीद हुए सैनिकों के परिवार के सदस्यों को सरकारी नौकरी देने का अनुरोध किया। सीएम को लिखे एक पत्र में पासवान ने कहा कि ऐसा फैसला लेना शहीद हुए सैनिकों को सच्ची श्रद्धांजलि होगी। उन्होंने कहा, 'भारतीय सैनिक हमारी और हमारे परिवारों तथा देश की रक्षा करते हुए अपनी जान जोखिम में डालते हैं तथा अगर वे शहीद हो जाते हैं तो उनके परिवारों को अक्सर वित्तीय तंगी का सामना करना पड़ता है।' उन्होंने इस पत्र को सोशल मीडिया पर भी पोस्ट किया।

अगर जंग हुई तो चीन नहीं भारत का पलड़ा रहेगा भारी, जानिए कितनी है दोनों देशों की ताकत

बिहार में JCB पर चढ़े पप्पू यादव
वहीं इसी बीच जन अधिकार पार्टी (Jan Adhikar Party) के मुखिया और पूर्व सांसद पप्पू यादव (Pappu Yadav) चीनी वस्तुओं का बहिष्कार अलग तरह से करते नजर आए। पप्पू यादव चीनी मोबाइल कंपनी ओपो के एक बैनर पर कालिख पोतते नजर आए। पटना में पप्पू यादव ने जेसीबी मशीन पर चढ़कर ओपो मोबाइल की बैनर पर कालिख पोतकर विरोध जताया। इससे पहले पप्पू यादव पटना के बाजारों में चीन के विरोध में पर्चा बांटते नजर आए। 

भारत के साथ तनाव के बीच नेपाल में मानवाधिकार कार्यकताओं ने चीन के खिलाफ किया प्रदर्शन

हिंसक झड़प में 23 भारतीय सैनिकों के जवान शहीद
गौरतलब है कि सोमवार रात को पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में चीनी सैनिकों के साथ झड़प में एक कर्नल समेत 20 भारतीय सैन्यकर्मी शहीद हो गए। वहीं भारत ने भी दावा किया है कि 43 चीनी सैनिक भी हताहत हुए हैं। इससे पहले खबरें आ रही थीं कि भारतीय सेना (Indian Army) के 34 जवान लापता हैं। लेकिन, इस की पुष्टि नहीं की गई थी, लेकिन रात होते-होते सरकारी सूत्रों ने कम से कम 23 भारतीय सैनिकों के शहीद होने की बात कही है। गलवान घाटी में भारत और चीन की सेनाओं के बीच पिछले पांच दशक में यह सबसे बड़ा टकराव है जिससे इस क्षेत्र में सीमा पर गतिरोध बढ़ गया है। इनमें से कई सैनिक बिहार के थे।

comments

.
.
.
.
.