Sunday, Dec 04, 2022
-->
chitraunknown yogi case judicial custody to former nse officer anand subramanian rkdsnt

चित्रा-अज्ञात योगी प्रकरण : NSE के पूर्व अधिकारी सुब्रमण्यन को 14 दिनों की न्यायिक हिरासत

  • Updated on 3/9/2022

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। दिल्ली की एक अदालत ने बुधवार को नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) के पूर्व समूह परिचालन अधिकारी आनंद सुब्रमण्यन को एनएसई को-लोकेशन घोटाले में 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया। विशेष न्यायाधीश संजीव अग्रवाल ने सुब्रमण्यन को 23 मार्च तक न्यायिक हिरासत में भेजने का आदेश दिया। सुब्रमण्यन की पुलिस हिरासत अवधि खत्म होने के बाद उन्हें अदालत में पेश किया गया था। 

चित्रा-अज्ञात बाबा प्रकरण के बीच दूसरे कार्यकाल के लिए कोशिश नहीं करेंगे NSE प्रमुख लिमये

एनएसई के समूह परिचालन अधिकारी रहे सुब्रमण्यन को केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) ने 24 फरवरी को गिरफ्तार किया था। उसके बाद से सुब्रमण्यन से हिरासत में पूछताछ की जा रही थी। एनएसई की तरफ से दी जाने वाली को-लोकेशन सुविधा के तहत शेयर ब्रोकर स्टॉक एक्सचेंज परिसर के भीतर ही अपने सर्वर लगा सकते हैं। इससे उन्हें बाजार में होने वाली लेनदेन तक त्वरित पहुंच मिल जाती है।

दिल्ली MCD चुनाव टलने पर केजरीवाल बोले- BJP भाग गई, हार मान ली

सीबीआई का आरोप है कि कुछ ब्रोकर ने एनएसई के भीतरी लोगों के साथ साठगांठ कर को-लोकेशन व्यवस्था में हेरफेर किया ताकि बड़े लाभ कमाए जा सकें। इस सिलसिले में एनएसई की तत्कालीन प्रबंध निदेशक एवं मुख्य कार्यपालक अधिकारी चित्रा रामकृष्ण को भी गिरफ्तार करने के बाद सात दिन की सीबीआई हिरासत में भेज दिया गया है।     

पीएम मोदी ने अब गुजरात के लिए कसी कमर, दो दिवसीय दौरे में करेंगे रोड शो और रैली

 

 


 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.