Thursday, Aug 18, 2022
-->
christmas celebrated amid epidemic churches closed restrictions on borders rkdsnt

महामारी के बीच मना क्रिसमस: चर्च बंद रहे, सीमाओं पर भी रही बंदिशे

  • Updated on 12/25/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। कर्फ्यू, पृथकवास और यहां तक की सीमाओं के बंद होने से उत्पन्न जटिल परिस्थिति के बीच शुक्रवार को दुनियाभर में क्रिसमस का त्योहार मनाया गया। हालांकि, इसके बावजूद लोगों की श्रद्धा और प्रतिबद्धता ने इस दिन को खास बनाए रखा। बीजिंग के आधिकारिक गिरिजाघरों (चर्चों) ने अंतिम समय में सामूहिक प्रार्थना को रद्द कर दिया। यह कदम चीन की राजधानी में पिछले हफ्ते कोविड-19 के दो मामलों की पुष्टि होने के बाद जारी हाई अलर्ट के मद्देनजर उठाया गया। इसके अलावा शुक्रवार को भी यहां बिना लक्षण वाले दो कोविड-19 मरीज सामने आए हैं। 

अरुणाचल प्रदेश :JDU में भाजपा की सेंध से नीतीश कुमार हैरान-परेशान

जेसुइट मिशनरी द्वारा 17वीं शताब्दी में मूल रूप से निर्मित बीजिंग के सेंट जोसफ चर्च पर सामूहिक प्रार्थना रद्द होने की सूचना चस्पी रही। सीमा बंद होने की वजह से कोलंबिया में रह रहे हजारों लोग आॢथक मंदी का सामाना कर रहे अपने वतन वेनेजुएला क्रिसमस पर परिवार से मिलने नहीं जा सके। कोलंबिया की सरकार ने कोविड-19 के प्रसार को रोकने के लिए सीमा को बंद कर दिया है, ऐसे में जो लोग क्रिसमस पर परिवार से मिलने वेनेजुएला आ भी गए हैं उन्हें अवैध तरीके से वापस जाना होगा। 

किसान नेता अडिग, मोदी सरकार के तमाम मंत्री कृषि कानूनों के फायदे गिनाने में जुटे

वेनेजुएला से दो साल पहले आई पेशे से नर्स याकलिन तमाउर ने कहा कि वह घर नहीं जा रही हैं। उन्होंने कहा कि उनके 10 और 15 वर्षीय दो बच्चों के लिए न तो क्रिसमस पर उपहार है और न ही कपड़े। तमाउर ने कहा कि कोलंबिया में निवास परमिट नहीं होने की वजह से नर्स की नौकरी नहीं मिल रही जबकि उनके माता-पिता वेनेजुएला में अब भी रह रहे हैं।  उन्होंने कहा, ‘‘ मेरी मां की पैर की हड्डी टूट गई है और वह ठीक से चल भी नहीं पा रही है जिसे लेकर मैं चिंतित हूं।’’  

कांग्रेस बोली- किसानों को ‘थका दो, भगा दो’ की नीति पर चल रही है मोदी सरकार

वहीं, जो दुनिया के अन्य हिस्सों में सीमा पार करने में सफल भी हुए हैं तो उन्हें पृथकवास में रहना पड़ रहा है। ऐसे ही लोगों में नट्टासुदा अनुसोनादिसाई और पैट्रिक कैपलिन हैं जिन्होंने इस साल मार्च में शादी की थी और इस समय बैंकॉक के होटल में पृथकवास में हैं। उन्होंने बताया कि वे साढ़े चार महीने की कनाडा और अमेरिका की यात्रा कर 32 घंटे की हवाई यात्रा कर लौटे हैं लेकिन थाईलैंड में उन्हें 14 दिनों तक पृथकवास में रहने की शर्त पर प्रवेश मिला है।

कृषि कानूनों को लेकर विपक्ष दलों ने एकजुटता से पीएम मोदी पर साधा निशाना

दंपति ने बताया कि थाई नागरिकों के लिए सरकार मुफ्त में रहने की व्यवस्था की है जबकि विदेशी नागरिकों को होटल का भुगतान करना होता है ऐसे में कैपलिन कनाडा के हैं और उन्हें भुगतान करना पड़ रहा है। दक्षिण कोरिया में चर्च के एक समागम से ही कोरोना वायरस का संक्रमण फैला था ऐसे में लोगों ने सामूहिक प्रार्थना के बजाय घर में ही क्रिसमस मनाने को तरजीह दी। सोल के पाजु निवासी सॉन्ग जू हेयोन ने कहा कि वह घर में ही सुरक्षित महसूस करती हैं। 

मुकेश अंबानी की रिलायंस खेल प्रबंधन खरीदेगी करोड़ों की हिस्सेदारी

 

यहां पढ़े कोरोना से जुड़ी बड़ी खबरें...

 

comments

.
.
.
.
.