Saturday, Jul 21, 2018

CIC ने किया साफ- राष्ट्रीय सम्मान देने की प्रोसेस जांच के दायरे से बाहर नहीं

  • Updated on 7/11/2018

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। केंद्रीय सूचना आयोग (CIC) ने भारतीय चिकित्सा परिषद (एमसीआई) को राष्ट्रपति द्वारा हर वर्ष देश के प्रमुख डॉक्टरों को दिए जाने वाले डॉक्टर बीसी रॉय राष्ट्रीय पुरस्कार के संबंध में जानकारी देने का निर्देश दिया। सीआईसी ने यह निर्देश देते हुए कहा कि राष्ट्रीय सम्मान देने की प्रक्रिया को सार्वजनिक जांच से बाहर नहीं रखा जा सकता।

केजरीवाल सरकार ने 1,000 इलेक्ट्रिक बसें चलाने के लिए उठाया बड़ा कदम

RTI आवेदक आर नटराजन ने 2008, 2009 और 2010 के लिए पुरस्कार पाने वालों और संभावित प्रत्याशियों द्वारा सौंपे गए रिकार्ड और सम्मान पाने वालों की सिलेक्शन प्रोसेस के बारे में जानकारी मांगी थी। यह आवेदन केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय को सौंपा गया, जिसने इसे देश में मेडिकल शिक्षा और इस पेशे की नियामक संस्था MCI के पास भेज दिया। हालांकि MCI ने इस पर संतोषजनक जवाब नहीं दिया। 

राबिया स्कूल मामले में केजरीवाल सरकार के साथ दिल्ली महिला आयोग भी सक्रिय

इसके बाद नजराजन ने CIC में MCI आदेश के खिलाफ अपील दायर की। उन्होंने कहा कि डॉक्टर बी सी रॉय राष्ट्रीय पुरस्कार एक राष्ट्रीय सम्मान है, जो देश के खास डाक्टरों को दिया जाता है। सूचना आयुक्त यशोवद्र्धन आजाद ने कहा, 'उन्होंने (नटराजन) MCI द्वारा 2008 से 2010 में दिए गए पुरस्कारों की सिलेक्शन प्रोसेस के संबंध में जानकारी मांगी है।'

उन्नाव रेप केस : CBI ने दायर की चार्जशीट, BJP MLA सेंगर की बढ़ी मुश्किलें

उन्होंने कहा कि बीसी रॉय पुरस्कार कोष सोसायटी पंजीकरण कानून के अंतर्गत एक सोसायटी के रूप में पंजीकृत है और इसके सदस्य MCI से आते हैं, लेकिन फिर भी जहां तक सूचना मांगने की बात है तो इसकी पृथक कानूनी पहचान नहीं है। आजाद ने एमसीआई को 3 हफ्ते में सूचना देने का निर्देश दिया। 

दिल्ली : पहले छिपकली मिली, अब मिड डे मील खाने से बीमार हुए 26 बच्चे

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.