Monday, Jan 21, 2019

सीआईआई ने सरकार से की व्यक्तिगत आयकर छूट सीमा बढ़ाने की मांग

  • Updated on 1/9/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल।  उद्दोग चैंबर सीआईआई ने सरकार से व्यक्तिगत आयकर छूट सीमा को बढ़ाकर 5 लाख तक किये जाने की मांग की है। सीआईआई ने कहा है कि आयकर की धारा 80C के अंतर्गत कर छूट की सीमा को बढ़ाकर 2.50 लाख रुपये किया जाना चाहिए, ताकि बचत को प्रोत्साहित किया जा सके।

सिब्बल ने पूछा- जब रोजगार ही नहीं, तो आरक्षण का लाभ किसे मिलेगा?

गौरतलब है कि केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली 1 फरवरी 2019 को अंतरिम बजट पेश करेंगे। सीआईआई ने सरकार को सुझाव दिया है आयकर की अधिकतम स्लैब को भी 30 फीसद से घटाकर 25 फीसद किया जाना चाहिए। साथ ही चिकित्सा व्यय और परिवहन भत्ते के लिए भी छूट की अनुमति दी जानी चाहिये।

विदित हो कि वर्तमान में व्यक्तिगत आयकर छूट सीमा 2.50 लाख रुपये तक है। 2.50 लाख से 5 लाख की सालाना आय पर 5 फीसद का टैक्स, 5 से 10 लाख की आय पर सालाना 20 फीसद टैक्स और 10 लाख से ऊपर की आय पर सालाना 30 फीसद का टैक्स देना होता है।

PM मोदी के आगरा दौरा पर अखिलेश ने कसा तंज, बोले- ताजमहल से प्रेम का पाठ पढ़कर आएंगे

सीआईआई की सिफारिश है कि 5 लाख से नीचे की आय को छूट के दायरे में लाया जाना चाहिए, जबकि 5 लाख से 10 लाख सालाना की आय वालों से 10 फीसद के हिसाब से टैक्स लिया जाना चाहिये। इसके अलावा 10-20 लाख के बीच आय वालों से 20 फीसद के हिसाब से टैक्स वसूला जाना चाहिये।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.