Thursday, Dec 02, 2021
-->
CISCE exemption for students due to coronavirus Spread KMBSNT

कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए CISCE ने परीक्षार्थियों को दी ये राहत

  • Updated on 6/1/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। भारतीय विद्यालय प्रमाणपत्र परीक्षा परिषद (CISCE) ने छात्रों को उसी शहर से बोर्ड की लंबित परीक्षा देने की अनुमति दे दी है जहां वे वर्तमान में हैं। अधिकारियों ने यह जानकारी देते हुए बताया कि परिषद ने परीक्षार्थियों को बाद में कंपार्टमेंटल परीक्षा के समय परीक्षा में उपस्थित उपस्थित होने का भी विकल्प दिया है।

कोरोना वायरस फैलने के खतरे को देखते हुए किए गए राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन के कारण स्थगित की गई परीक्षाएं 1 से 14 जुलाई तक आयोजित की जाएंगी। हालांकि 25 मार्च को लागू हुए लॉकडाउन के बाद बहुत से छात्र अलग-अलग स्थानों पर चले गए थे।

CBSE बोर्डः देश के 15 हजार केंद्रों पर होगी 10वीं और 12वीं की परीक्षा, जानिए क्यों?

स्कूल और अभिभावकों ने किया था निवेदन
सीआईएससी के मुख्य कार्यकारी और सचिव गेरी अराथून ने कहा कि स्कूलों और छात्रों के माता-पिता ने परीक्षार्थियों के परीक्षा केंद्र बदलने का अनुरोध किया है। यदि छात्र इस समय उस जिले में नहीं है जहां उनका स्कूल है तो बाकी की परीक्षा वह उस शहर के सीआईएससी द्वारा मान्यता प्राप्त स्कूल में दे सकते हैं, जहां वे अभी हैं।

BSE के 10वीं के छात्रों को फेल होने से बचाएगा ये विषय, नहीं देनी होगी कंपार्टमेंट परीक्षा

7 जून तक करें परीक्षा केंद्र बदलने का आवेदन
उन्होंने कहा कि जो छात्र लॉकडाउन के कारण बची हुई परीक्षाएं नहीं दे पाए थे उन्हें कंपार्टमेंटल परीक्षा के समय परीक्षा देने की अनुमति दी जाएगी। छात्रों से 7 जून तक परीक्षा केंद्र बदलने के लिए आवेदन करने को कहा गया है। परिषद ने स्कूलों से सामाजिक दूरी सुनिश्चित करने और छात्रों से सैनिटाइजर का प्रयोग करने और मास्क लगाने को भी कहा है। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) जहां केवल 29 विषयों की परीक्षा करा रहा है वहीं सीआईएससीई सभी विषयों की परीक्षा आयोजित कराएगा। 

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें

comments

.
.
.
.
.