Sunday, Aug 09, 2020

Live Updates: Unlock 3- Day 8

Last Updated: Sun Aug 09 2020 09:48 PM

corona virus

Total Cases

2,211,781

Recovered

1,530,802

Deaths

44,447

  • INDIA7,843,243
  • MAHARASTRA515,332
  • TAMIL NADU296,901
  • ANDHRA PRADESH227,860
  • KARNATAKA178,087
  • NEW DELHI145,427
  • UTTAR PRADESH122,609
  • WEST BENGAL95,554
  • BIHAR79,720
  • TELANGANA79,495
  • GUJARAT71,064
  • ASSAM57,715
  • RAJASTHAN51,924
  • ODISHA45,927
  • HARYANA41,635
  • MADHYA PRADESH38,157
  • KERALA33,120
  • JAMMU & KASHMIR24,390
  • PUNJAB22,928
  • JHARKHAND17,626
  • CHHATTISGARH11,743
  • UTTARAKHAND9,402
  • GOA8,206
  • TRIPURA6,014
  • PUDUCHERRY5,123
  • MANIPUR3,635
  • HIMACHAL PRADESH3,304
  • NAGALAND2,688
  • ARUNACHAL PRADESH2,049
  • LADAKH1,639
  • DADRA AND NAGAR HAVELI1,459
  • CHANDIGARH1,426
  • ANDAMAN AND NICOBAR ISLANDS1,351
  • MEGHALAYA1,023
  • SIKKIM860
  • DAMAN AND DIU838
  • MIZORAM567
Central Helpline Number for CoronaVirus:+91-11-23978046 | Helpline Email Id: ncov2019 @gov.in, ncov219 @gmail.com
citizenship amendment act protest in london

विदेशों में भी उठने लगी नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ आवाज, लंदन में जोरदार प्रदर्शन

  • Updated on 12/15/2019

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। नागरिकता संशोधन कानून (Citizenship Amendment Act) के विरोध की आग अब देश के बाहर भी बढ़ने लगी है। लंदन (London) में भारतीय दूतावास के बाहर असम मूल के लोगों ने नागरिकता बिल का जमकर विरोध किया। प्रदर्शनकारियों का कहना है कि ये कानून धर्म के आधार पर लाया गया है। उनका कहना है कि हम असम के परिवारों के साथ खड़े हैं और हमारी आवाज सुनी जानी चाहिए। 

लंदन में भारतीय दूतावास के बाहर प्रदर्शन कर रहे लोगों का कहना है कि नागरिकता संशोधन कानून असम की संस्कृति और अर्थव्यवस्था दोनों के लिए बहुत बड़ा खतरा है। ये कानून धार्मिक आधार पर बनाया गया है, जो की पूरी तरह से गलत है। प्रदर्शनकारियों का कहना है कि इस समय में असम में हमारे परिजन मुसीबत में हैं। फोन और इंटरनेट सेवा बंद होने के चलते उनसे बातचीत भी नहीं हो पा रही है। 

CAB के कानून बनने के बाद जानें क्या हैं भारत के हालात

पूर्वोत्तर में हिंसक आंदोलन
वहीं देश में भी इस कानून के खिलाफ कई राज्यों में प्रदर्शन हो रहा है। असम के अलावा, पश्चिम बंगाल, त्रिपुरा, नागालैंड में भी इस कानून के खिलाफ आंदोलन चलाए जा रहे हैं। इसके खिलाफ दिल्ली में भी जोरदार प्रदर्शन किए जा रहे हैं। वहीं विपक्ष भी इस कानून के खिलाफ केंद्र को घेरने में कोई कसर नहीं छोड़ रहा है। 

CAB: गुवाहाटी में फंसे यात्रियों की मदद के लिए प्रयास

कांग्रेस ने जमकर साधा निशाना
कांग्रेस ने इस कानून को विभाजनकारी बताया है। शनिवार को दिल्ली के रामलीला मैदान में हुई कांग्रेस की भारत बचाओं रैली में भी सोनिया, प्रियंका और राहुल समेत कांग्रेस के दिग्गजों ने बीजेपी पर जमकर जुबानी हमले किए। इसके साथ ही जनता का आह्वान करते हुए उन्होंने कहा कि इस समय लोगों को देश को बचना के लिए सड़कों पर उतरकर आंदोलन करना होगा। इस समय जो आवाज नहीं उठाएगा वो भविष्य में कायर कहलाएगा। 

#CAB के खिलाफ पूर्वोत्तर में आंदोलन, सेना की कार्रवाई पर अफवाहों से रहें अलर्ट- Indian Army

जामिया में कानून के खिलाफ उग्र प्रदर्शन
वहीं दिल्ली के जामिया विश्वविद्यालय में भी इस कानून के खिलाफ उग्र प्रदर्शन हुआ है। कश्मीर की तर्ज पर छात्रों ने पत्थर बाजी की है। छात्रों के प्रदर्शन को शांत कराने के लिए पुलिस लाठी चार्ज किया, इसके साथ ही आंसू गैस के गोले भी दागे गए। वहीं उग्र हुए छात्रों ने इस दौरान मीडियाकर्मियों से भी मारपीट की। 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.