Wednesday, Mar 03, 2021
-->
citizenship amendment bill 2019 mayawati said central government should rethink

नागरिकता संशोधन को मायावती ने बताया विभाजनकारी, कहा- पुनर्विचार करे केंद्र

  • Updated on 12/5/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। बसपा सुप्रीमो मायावती (Mayawati) ने गुरुवार को कहा कि केंद्र सरकार (Central Government) द्वारा लाया गया नागरिकता संशोधन विधेयक (Citizenship Amendment Bill) विभाजनकारी और असंवैधानिक है।

वित्त मंत्री के बेतुका बयान पर कांग्रेस का प्रहार, कहा- प्याज खाती हैं या नहीं इससे मतलब नहीं

नागरिकता संशोधन विधेयक पूरी तरह विभाजनकारी
मायावती ने यहां एक बयान में कहा, "केंद्र सरकार द्वारा काफी जल्दबाजी में लाया गया नागरिकता संशोधन विधेयक पूरी तरह विभाजनकारी और असंवैधानिक विधेयक है अर्थात इसके जरिए धर्म के आधार पर नागरिकता देना तथा इस आधार पर नागरिकों में भेदभाव पैदा करना परमपूज्य डॉ. भीमराव आंबेडकर (B. R. Ambedkar) के मानवतावादी एवं धर्मनिरपेक्ष संविधान की मंशा एवं बुनियादी ढांचे के एकदम विरुद्ध कदम है।"

भारतीय संविधान की आत्मा पर हमला है नागरिकता संशोधन अधिनियम 2019!

पुनर्विचार करे केंद्र सरकार
उन्होंने कहा कि नोटबंदी (Demonetisation) और जीएसटी (GST) की तरह ही इस नागरिकता संशोधन विधेयक को देश पर जबर्दस्ती थोपने की बजाय केंद्र सरकार को पुनर्विचार करना चाहिए और बेहतर विचार-विमर्श के लिए इसे संसदीय समिति के पास भेजना चाहिये ताकि यह विधेयक संवैधानिक रूप में देश की जनता के सामने आ सके। मायावती ने कहा, "लेकिन यहां पार्टी का यह भी कहना है कि यदि केंद्र की सरकार देश एवं जनहित में भारतीय संविधान के मुताबिक सही एवं उचित फैसले लेती है तो फिर हमारी पार्टी दलगति राजनीति से ऊपर उठ कर सरकार का जरूर समर्थन करेगी जैसे धारा 370 के मामले में किया था।"

नागरिकता बिल का असम में भारी विरोध, मोदी सरकार निशाने पर

SC/ST आरक्षण की व्यवस्था सुनिश्चित करे
उन्होंने कहा कि लोकसभा (Lok Sabha) और राज्य विधानसभाओं में अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति आरक्षण (SC/ST Reservation) को 10 वर्ष और बढ़ाने का हमारी पार्टी स्वागत करती है लेकिन इसके साथ-साथ केंद्र सरकार से यह भी अनुरोध है कि वह केंद्र एवं राज्य सरकारों की नौकरियों में खासकर एससी एसटी वर्ग कोटे के खाली पड़े आरक्षित पदों/ बैकलॉग को विशेष अभियान चलाकर पूरा कराए तथा निजी क्षेत्र में भी इनके लिए आरक्षण की व्यवस्था सुनिश्चित करे।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.