Friday, Aug 19, 2022
-->
cji-raman-says-government-subsidy-required-for-diabetes-care-rkdsnt

मधुमेह देखभाल के लिए सरकार का सब्सिडी देना जरूरी: CJI रमण

  • Updated on 11/28/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। प्रधान न्यायाधीश (सीजेआई) एन. वी. रमण ने रविवार को कहा कि यह आवश्यक है कि सरकार मधुमेह देखभाल के लिए सहायता और सब्सिडी प्रदान करे क्योंकि यह एक ‘‘महंगी बीमारी’’ है। जस्टिस रमण ने मधुमेह को एक आजीवन बीमारी और गरीबों का दुश्मन बताते हुए कहा कि स्थानीय आबादी को लक्षित करके भारत-विशिष्ट अध्ययन करना अनिवार्य है, जिससे उचित उपचार प्रोटोकॉल विकसित करने में मदद मिलेगी। उन्होंने कहा कि सरकार को बीमारी से निपटने के लिए और अधिक स्वास्थ्य पेशेवरों को प्रशिक्षित करने और सेवा में लाने की जरूरत है। 

राकेश टिकैत ने की किसानों के लिए MSP गारंटी के लिए कानून की मांग

 

जस्टिस रमण ने ‘मधुमेह पर आहूजा बजाज संगोष्ठी’ में कहा कि कोविड-19 ने ‘‘पहले ही उजागर कर दिया है कि हमारी स्वास्थ्य प्रणाली पर अत्यधिक बोझ है’’ और मधुमेह का इलाज खोजने के लिए आधुनिक दवाएं विकसित करना समय की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि मधुमेह के इलाज में काफी अधिक खर्च होता है, इसलिए यह आवश्यक है कि सरकार मधुमेह की देखभाल के लिए सहायता और सब्सिडी प्रदान करे। उन्होंने कहा कि सरकार को इस समस्या से निपटने के लिए अधिक स्वास्थ्य पेशेवरों को प्रशिक्षित करने और सेवा में लाने की भी जरुरत है। 

सावरकर की तारीफ में केंद्रीय सूचना आयुक्त उदय माहूरकर ने पढ़े कसीदे

उन्होंने कहा, ‘‘राष्ट्र और उसके नागरिकों का स्वास्थ्य सर्वोपरि है और हमने अपने लिए जो विकासात्मक लक्ष्य निर्धारित किए हैं उसके लिए भी यह जरूरी है।’’      सीजेआई ने कहा कि जब भारतीय वैज्ञानिक और शोधकर्ताओं ने महामारी फैलने के कुछ महीनों के भीतर कोविड-19 रोधी टीके के लिए मिलकर काम किया तो वह बहुत उत्साहित थे। हालांकि, ‘‘हम मधुमेह के लिए एक स्थायी इलाज खोजने के करीब भी नहीं हैं, जो एक पुरानी बीमारी है।’’ 

पंजाब में टंकी पर विरोध-प्रदर्शन कर रही बेरोजगार महिला टीचर को मनाने पहुंचे केजरीवाल

उन्होंने कहा, ‘‘मेरी एक ही इच्छा है कि इसका इलाज मिल जाए। इसके लिए वैज्ञानिकों और शोधकर्ताओं को पूरा ध्यान देना होगा। इस बीमारी और इसके नियंत्रण के बारे में जागरूकता फैलाने में डॉक्टरों की अहम भूमिका प्रशंसनीय है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘यह बीमारी गरीब आदमी की दुश्मन है। यह एक महंगी बीमारी है।’’ 

दलित हत्याकांड : अखिलेश का शाह पर कटाक्ष- उम्मीद है ये अपराधी बिना चश्मे के भी दिख जाएंगे

comments

.
.
.
.
.