Wednesday, Nov 13, 2019
cji ranjan gogoi to pronounce judgment on ayodhya ram janmabhoomi babri masjid land dispute today

अयोध्या केस में आज फैसले की घड़ी, 10:30 पर सुप्रीम कोर्ट सुनाएगा ऐतिहासिक फैसला

  • Updated on 11/9/2019

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई  राजनीतिक नजर से संवेदनशील राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद भूमि विवाद पर फैसला आज सुना सकते हैं। 10:30 पर सुप्रीम कोर्ट ऐतिहासिक फैसला सुना सकता है। इस अहम फैसले को लेकर राजनीति गलियारों में सरगर्मी तेज हो गई है, वहीं यूपी में सुरक्षा व्यवस्था को लेकर सेना और पुलिस को अलर्ट पर रख दिया गया है। 

सोनिया गांधी बोलीं- मोदी सरकार के नोटबंदी के ‘तुगलकी फरमान’ को नहीं भूलने देंगे

अयोध्या प्रकरण पर प्रधान न्यायाधीश की अध्यक्षता वाली संविधान पीठ अपना फैसला सुनायेगी। सूत्रों के मुताबिक प्रधान न्यायाधीश के कक्ष में  शुक्रवार को करीब एक घंटे यह बैठक चली। बैठक में उप्र के मुख्य सचिव प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई ने राजनीतिक नजर से संवेदनशील भूमि विवाद पर फैसला सुनाये जाने से पहले शुक्रवार को उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव और पुलिस महानिदेशक से सुरक्षा व्यवस्था के बारे में जानकारी प्राप्त की। 

इंफोसिस मामले में SEBI चीफ ने निलेकणि पर कसा तंज

सूत्रों ने बताया कि प्रधान न्यायाधीश के कक्ष में करीब एक घंटे यह बैठक चली। बैठक में उप्र के मुख्य सचिव राजेन्द्र कुमार तिवारी और पुलिस महानिदेशक ओम प्रकाश सिंह ने राज्य में कानून व्यवस्था बनाये रखने के लिये किये गये बंदोबस्त से प्रधान न्यायाधीश को अवगत कराया। प्रधान न्यायाधीश के साथ हुई इस बैठक के बारे में और ज्यादा जानकारी उपलबध नहीं हो सकी। 

झारखंड में झामुमो 43, कांग्रेस 31 और राजद 7 सीटों पर लड़ेगी चुनाव

प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली संविधान पीठ ने अयोध्या में 2.77 एकड़ विवादित भूमि तीन पक्षकारों- सुन्नी वक्फ बोर्ड, निर्मोही अखाड़ा और राम लला विराजमान- में बराबर बराबर बांटने के उच्च न्यायालय के सितंबर, 2010 के निर्णय के खिलाफ दायर अपीलों पर 40 दिन तक सभी पक्षों की दलीलें सुनी। पीठ ने 16 अक्टूबर को सुनवाई पूरी करते हुये कहा था कि इस पर फैसला बाद में सुनाया जायेगा। 

सोनिया, राहुल और प्रियंका गांधी की जिंदगी से खिलवाड़ कर रही है मोदी सरकार: कांग्रेस

इस मामले में फैसला सुनाये जाने की संभावना है क्योंकि प्रधान न्यायाधीश 17 नवंबर को सेवानिवृत्त हो रहे हैं। संविधान पीठ के अन्य सदस्यों में न्यायमूर्ति एस ए बोबडे, न्यायमूर्ति धनन्जय वाई चन्द्रचूड, न्यायमूर्ति अशोक भूषण और न्यायमूर्ति एस अब्दुल नजीर शामिल हैं।

नोएडा में पुलिस ने फ्लैग मार्च निकाला
अयोध्या मामले में उच्चतम न्यायालय का फैसला आने वाला है, उसी के मद्देनजर जिले में कानून-व्यवस्था को कायम रखने तथा सौहार्द बनाए रखने के लिए पुलिस ने शुक्रवार को यहां फ्लैग मार्च निकाला। फ्लैग मार्च वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक वैभव कृष्ण की अगुवाई में शुक्रवार को थाना सेक्टर 20 से निकाला गया। यह मार्च शहर के संवेदनशील क्षेत्रों से होता हुआ आगे बढ़ा। 

कन्हैया कुमार ने वकील-पुलिस भिड़ंत को लेकर जाहिर किए जज्बात 

वैभव कृष्ण ने बताया कि अयोध्या मामले पर निर्णय आने के बाद जिले में किसी भी अप्रिय घटना को रोकने के लिए पुलिस और जिला प्रशासन ने तैयारियां शुरू कर दी हैं। इसके तहत जिला प्रशासन द्वारा जिला स्तरीय पीस कमेटी की बैठक का आयोजन किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि जिला प्रशासन एवं पुलिस के लोग सभी समुदाय के सभ्रांत लोगों से बात कर रहे हैं। पीस कमेटी की बैठकों में जिले के सभी समुदायों एवं वर्गों के जिम्मेदार एवं संभ्रांत नागरिक भाग ले और जिले में भाईचारा और शांति बनी रहे, इसकी पूरी जिम्मेदारी जिला प्रशासन को दी गई है।  

जेवर एअरपोर्ट के लिए अडाणी एंटरप्राइजेज समेत 5 कंपनियां लगाएंगी बोली

उन्होंने बताया कि जिला प्रशासन सोशल मीडिया पर भी नजर रखे हुए हैं। अगर कोई भी व्यक्ति सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक व भड़काऊ पोस्ट डालेगा तो उसके खिलाफ गैंगस्टर एक्ट एवं रासुका के तहत कार्रवाई की जाएगी। कानून व्यवस्था को हर हालत में सुदृढ़ किया जाएगा तथा आपसी सौहार्द के माहौल को कायम रखा जाएगा। एसएसपी ने जनपद के लोगों से अपील की है कि वे किसी अफवाह पर विश्वास ना करें तथा संयम बरतें।

कांग्रेस बोली- मोदी सरकार को अपने फैसलों पर है भरोसा तो कराए J&K में चुनाव

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.