Tuesday, Dec 07, 2021
-->
Clinical trial of Russian corona vaccine Sputnik-5 to begin in India this month prshnt

भारत में इसी महीने शुरू होगा रूसी कोरोना वैक्सीन स्पुतनिक-5 का क्लीनिकल ट्रायल

  • Updated on 9/8/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। दुनिया भर में कोरोना वायरस (Coronavirus) का कहर हर दिन तेजी से बढ़ रहा है। वहीं भारत में संक्रमण के मामलों में तेज रफ्तार के साथ बढ़ोतरी हो रही है, ऐसे में कोरोना वैक्सनी (Corona Vaccine) जल्द से जल्द आना बेहद जरूरी हो गया है। ऐसे में कोरोना वायरस की रूसी (Russia) वैक्सीन स्पुतनिक-5 (Sputnik-5) का क्लीनिकल ट्रायल इस महीने भारत समेत कई देशों में शुरू किया जाएगा।

रूसी प्रत्यक्ष निवेश कोष के सीईओ किरिल दिमित्रीएव ने जानकारी दी है कि अमेरिका में इस वैक्सीन का तीसरा चरण 30 हजार लोगों पर ट्रांस शुरू किया जाएगा। इससे पहले ही रूस में 26 अगस्त से पंजीकरण के बाद 40 हजार लोगों पर अध्ययन शुरू किया जाएगा।

...तो क्या सरकार के बस के बाहर हुआ कोरोना  संक्रमण

11 अगस्त को अपनी वैक्सीन का पंजीकरण कराया
किरिल दिमित्रीएव ने बताया कि सऊदी अरब, संयुक्त अरब, अमीरात फिलिपिंस भारत और ब्राजील में क्लीनिकल ट्रायल इस महीने आरंभ हो जाएंगे। उन्होंने बताया कि तीसरे चरण के ट्रायल के आरंभिक परिणाम अक्टूबर-नवंबर 2020 में प्रकाशित किए जाएंगे। बता दें कि रूस से स्वास्थ्य मंत्रालय ने 11 अगस्त को अपनी वैक्सीन का पंजीकरण कराया था और यह कोरोना वायरस दुनिया की पहली पंजीकृत वैक्सीन है।

सीमा पर बढ़ा तनाव, 45 साल बाद पूर्वी लद्दाख में भारत-चीन के सैनिकों के बीच फायरिंग

भारत ने वैक्सीन पर नहीं उठाया सवाल
भारत में वैक्सीन ट्रायल को लेकर दिमित्रीएव ने कहा है कि भारत ऐतिहासिक रूप से रूस का अहम साझीदार रहा है, उन्होंने कहा कि दुनिया भर के 60 फीसदी वैक्सीन का उत्पादन भारत में ही होता है। रूस भारतीय साझेदारों की बेहद संतुलित सोच का स्वागत करता है। दिमित्रीएव ने कहा कि भारत ने शुरुआत से ही यह सवाल किया कि वैक्सीन कैसे काम करती है, उन्होंने वैक्सीन को निशाना बनाने की बजाय इसे समझने की कोशिश की है।

वहीं आरबीआईएस के मुताबिक इस वैक्सीन का क्लिनिकल ट्रायल के सौ फीसद प्रतिभागियों में स्पुतनिक-5 ने स्थायी ह्यूमोरल और सेल्युलर प्रतिरक्षा तंत्र उत्पन्न किया है जिन स्वयंसेवकों को स्पुतनिक-5 वैक्सीन दी गई है। उनमें वायरस को निष्क्रिय करने वाले एंटीबॉडीज उन मरीजों से 1.4 से 1.5 गुना ज्यादा मिले जो कोविड-19 से ठीक हो चुके हैं।

उन्नाव रेप कांड में CBI ने एक IAS और दो IPS के खिलाफ कार्रवाई के लिए मुख्य सचिव को लिखा पत्र

चीन ने प्रदर्शित की अपनी पहली स्वदेशी कोरोना वैक्सीन
बता दें कि चीन ने बीजींग व्यापार मेले में अपनी स्वदेशी कोरोना वैक्सीन को पहली बार प्रदर्शित किया है। जिसे चीनी कंपनियों साइनोवैक बायोटेक और साइनोफार्म ने तैयार की है। बता दें कि इसमें कोई भी वैक्सीन बाहर बाजार में नहीं आई है। लेकिन निर्माताओं को उम्मीद है कि इस साल के आखिर तक तीसरे चरण के ट्रायल में यह पूरे होने पर इसकी स्वीकृति मिल जाएगी।

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी बड़ी खबरें

comments

.
.
.
.
.