Monday, Oct 03, 2022
-->
cm amarinder warns implementation of agriculture bills can spread unrest in punjab rkdsnt

CM अमरिंदर ने चेताया- कृषि विधेयक को लागू करने से पंजाब में फैल सकती है ‘अशांति’

  • Updated on 9/16/2020


नई दिल्ली/टीम डिजिटल। पंजाब (Punjab) के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह (Amarinder Singh) ने बुधवार को कहा कि संसद में पेश किए गए कृषि क्षेत्र से संबंधित विधेयकों (Agriculture Bills) से इस सीमावर्ती राज्य में ‘‘अशांति और असंतोष’’ फैल सकता है, जो कि पहले ही पाकिस्तान द्वारा अशांति फैलाने की हरकतों से लगातार जूझ रहा है। मुख्यमंत्री ने इस संबंध में राज्यपाल वी पी सिंह बदनौर को एक ज्ञापन सौंपने के लिए कांग्रेस प्रतिनिधिमंडल की अगुवाई की और केन्द्र संसद में इन विधेयकों को आगे नहीं बढ़ाए, इस पर उनसे हस्तक्षेप करने का अनुरोध किया। 

कोरोना कहर : संसदीय समिति ने की प्रवासी श्रमिकों के लिए कल्याण कोष बनाने की सिफारिश

दरअसल केन्द्र की नरेन्द्र मोदी सरकार ने सोमवार को कृषि क्षेत्र से संबंधित तीन विधेयक लोकसभा में पेश किए थे और कहा था कि इससे किसानों को उनकी उपज का उचित मूल्य मिलने में सहायता मिलेगी। सिंह के साथ पंजाब कांग्रेस प्रमुख सुनील जाखड़ और अन्य लोग मौजूद थे। सिंह ने राज्यपाल से कहा कि राष्ट्रव्यापी संकट के बीच वर्तमान खरीद प्रणाली के साथ किसी भी प्रकार की छेड़छाड़, राज्य के किसानों के बीच ‘‘सामाजिक अशांति’’ को गहरा सकती है। 

सुशांत मामला: NCB जांच दल का सदस्य कोरोना वायरस से संक्रमित

उन्होंने कहा, ‘‘यह क्षेत्र की शांति और विकास के लिए अनुकूल नहीं होगा जो अपने साथ लगी अंतरराष्ट्रीय सीमा के कारण पहले ही सार्वजनिक व्यवस्था संबंधी गंभीर चुनौतियों का सामना करता है।’’ उन्होंने मादक पदार्थ-आतंक तथा भारत विरोधी अन्य गतिविधियों के जरिए राज्य की शांति और स्थिरता को भंग करने की पाकिस्तान की हरकतों का जिक्र करते हुए कहा कि ‘‘किसान विरोधी’’ विधेयक लोगों के गुस्से को बढ़ाने का काम करेगा।  

चीनी घुसपैठ पर नित्यानंद का बयान शहीदों का अपमान, हालात स्पष्ट करे मोदी सरकार: कांग्रेस

उन्होंने प्रश्न किया,‘‘ हम पाकिस्तान के हाथों में क्यों खेल रहे हैं।’’ सिंह ने कहा कि ये विधेयक ‘‘राष्ट्र हित’’ के खिलाफ हैं और विशेष रूप से पंजाब के लिए ‘‘हानिकारक’’ है, जहां अधिकांश किसानों के पास पांच एकड़ से कम जमीन है और वे सबसे ज्यादा प्रभावित होंगे। गौरतलब है कि इनमें से एक विधेयक को मंगलवार को लोकसभा में पारित कर दिया गया। सिंह ने यहां जारी एक बयान में कहा कि उन्होंने प्रधानमंत्री को इस संबंध में तीन बार पत्र लिखा है लेकिन उन्हें कोई जवाब नहीं मिला है। शेष दो विधेयकों के पारित होने से पंजाब ‘तबाह’ हो जाएगा।

पीएम के झूठ की पोल खुलने के डर से संसद में हमें नहीं बोलने दियाः कांग्रेस

 

 

 

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें...

सुशांत मौत मामले में CBI ने दर्ज की FIR, रिया के नाम का भी जिक्र

comments

.
.
.
.
.