Thursday, Jan 23, 2020
cm arvind kejriwal launched babasaheb ambedkar curriculum in delhi govt schools

गणतंत्र भारत में अंबेडकर के योगदान को जानेंगे दिल्ली के बच्चे, केजरीवाल ने लॉन्च की किताब

  • Updated on 12/6/2019

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। दिल्ली सरकार (Delhi Government) ने शुक्रवार को कक्षा छह से आठवीं तक के पाठ्यक्रम में डॉ बी आर आम्बेडकर (B R Ambedkar) के जीवन और कार्यों पर आधारित पुस्तिकाएं शामिल कीं। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने इन पाठ्य पुस्तकों का विमोचन करते हुए कहा कि आम्बेडकर को केवल दलितों के नेता के रूप में बताकर लोग समाज में उनके योगदान को कम कर रहे हैं। 

सीएम केजरीवाल ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि निजी स्कूल भी अपने पाठ्यक्रम में इन पुस्तिकाओं को शामिल करेंगे। कुछ वर्षों के बाद हम अंबेडकर पर पूर्ण पाठ्यक्रम विकसित करने में सक्षम होंगे। 

Constitution @ 70: समापन समारोह में बोले CM केजरीवाल, संविधान के सिद्धांतों पर चलाई सरकार

भीम राव अंबेडकर की पुण्यतिथि
आज डॉक्टर भीम राव अंबेडकर की पुण्यतिथि है। भारतीय संविधान के जनक माने जाने वाले डॉक्टर बी आर अंबेडकर (Dr. Ambedkar) उन बहुत कम भारतीय राजनेताओं (Politicians) में से एक हैं जिन्होंने कैबिनेट मिशन (Cabinet Mission) से लेकर मोंसफोर्ड रिफॉर्म (Monsford Reform) तक सभी संवैधानिक (Constitutional) मामलों पर चर्चा में सक्रिय रूप से भाग लिया था।

सरकारी स्कूलों में लाएंगे देशभक्ति पाठ्यक्रम, बच्चों को सिखाएंगे सिस्टम को फॉलो करना- सिसोदिया

65 वर्ष की आयु में अंबेडकर का निधन
महाराष्ट्र के छोटे से गांव में जन्मे डॉक्टर बी आर अंबेडकर का जन्म 14 अप्रैल 891 माधवगढ़ (Madhavgarh) में हुआ। आज भीमराव अंबेडकर की 63 पुण्यतिथि है जिसने भारत को सबसे महत्वपूर्ण चीज दी जो कि उसका संविधान है। 6 दिसंबर 1956 को जब वे 65 वर्ष के थे तब उनका निधन हो गया।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.