Tuesday, Sep 28, 2021
-->
cm mamata accuses bjp party is creating communal struggle to win elections in bengal prshnt

CM ममता का आरोप- चुनाव जीतने के लिए सांप्रदायिक संघर्ष पैदा कर रही बीजेपी

  • Updated on 4/3/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। पश्चिम बंगाल (West Bengal) की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamta Benarjee) ने भाजपा (BJP) पर विधानसभा चुनाव जीतने के लिए राज्य में साम्प्रदायिक संघर्ष पैदा करने का शनिवार को आरोप लगाया। तृणमूल कांग्रेस (Trimool Congress) की प्रमुख ने दक्षिण 24 परगना जिले के रैदिघी में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए मुस्लिमों से हैदराबाद की भाजपा के समर्थन वाली पार्टी और उसकी बंगाल की सहयोगी पाॢटयों के जाल में न फंसने का भी आह्वान किया, जो मतों का ध्रुवीकरण करने आयी हैं। उन्होंने असदुद्दीन ओवैसी के नेतृत्व वाली एआईएमआईएम और अब्बास सिद्दीकी की आईएसएफ पर निशाना साधते हुए यह टिप्पणी की। ओवैसी और सिद्दीकी दोनों ने पहले तृणमूल कांग्रेस के आरोपों को खारिज कर दिया था। आईएसएफ माकपा और कांग्रेस के गठबंधन के साथ चुनाव लड़ रही है।      

हार्ट ब्लॉकेज की समस्या से जूझ रहे सचिन वाझे, NIA कोर्ट ने मांगी मेडिकल रिपोर्ट

बाजेपी को बताया दलित विरोधी, पिछड़ा वर्ग विरोधी और अल्पसंख्यक विरोधी
बनर्जी ने अपनी हिंदू पहचान पर जोर देते हुए कहा, मैं एक हिंदू हूं जो हर दिन घर से निकलने से पहले चंडी मंत्र का जाप करती है। लेकिन मैं हर धर्म को सम्मान देने की अपनी परंपरा में विश्वास रखती हूं।  दलितों के घर में भोजन खाने पर भाजपा नेताओं पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा, मैं एक ब्राह्मण महिला हूं लेकिन मेरी करीबी सहयोगी एक अनुसूचित जाति की महिला है जो मेरी हर जरूरत का ध्यान रखती है। वह मेरे लिए भोजन भी पकाती है। बनर्जी ने कहा, मुझे इसका प्रचार करने की जरूरत नहीं है क्योंकि जो दलित के आंगन में खाना खाने के लिए पांच सितारा होटल से भोजन मंगवा कर खा रहे हैं वे दलित विरोधी, पिछड़ा वर्ग विरोधी और अल्पसंख्यक विरोधी हैं।     

उन्होंने दावा किया कि अगर भाजपा पश्चिम बंगाल में सत्ता में आयी तो वह संशोधित नागरिकता कानून और राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) लागू करेगी जिससे कई नागरिकों को यहां से जाना पड़ेगा। उन्होंने कहा, वे पश्चिम बंगाल और उसके लोगों को विभाजित करेंगे। याद कीजिए कि कैसे उन्होंने असम में एनआरसी में 14 लाख बंगालियों और दो लाख बिहारियों के नाम हटा दिए। 

J-K: डॉक्टर की सलाह के बाद अस्पातल में भर्ती हुए फारुक अब्दुल्ला, कोरोना से हैं संक्रमित

नंदीग्राम में चुनावों में धांधली करने की कोशिश का आरोप
बनर्जी ने आरोप लगाया कि केंद्रीय बल मतदान से 48 घंटे पहले हर घर के लोगों को डरा-धमका रहे हैं और उनसे भाजपा के लिए वोट करने को कह रहे हैं। उन्होंने कहा, डरो मत। माताओं और बहनों उन्हें चुनौती दो। हमें कोई दिक्कत नहीं है अगर केंद्रीय बल निष्पक्ष चुनाव सुनिश्चित कराने के लिए निष्पक्ष रूप से काम करें लेकिन यदि वे किसी खास राजनीतिक पार्टी की तरफ से काम करेंगे तो हम विरोध करेंगे।

मुख्यमंत्री ने आरोप लगाया कि पूर्व मेदिनीपुर जिले में नंदीग्राम निर्वाचन क्षेत्र में बाहरियों ने चुनावों में धांधली करने की कोशिश की। बनर्जी ने नंदीग्राम में भाजपा उम्मीदवार शुभेंदु अधिकारी के खिलाफ चुनाव लड़ा है। उन्होंने कहा, बाहरी लोगों ने मतदान से पहले हर घर में जाकर नंदीग्राम में चुनावों में धांधली करने की कोशिश की। इसके बावजूद मैं इस सीट से आसानी से जीत जाऊंगी।

Vaccination के दौरान हुई बड़ी लापरवाही! महिला को दो बार लगा दिया कोरोना का टीका

पांच रुपये में अंडायुक्त भोजन मुहैया कराने की पहल
तृणमूल कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल होने वाले नेताओं पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि रैदिघी से मौजूदा विधायक और अभिनेत्री देबाश्री रॉय इस सीट से टिकट न मिलने के बाद भाजपा में शामिल हो गई। उन्होंने कहा, हम ऐसे अवसरवादियों को अपनी पार्टी में नहीं चाहते। 

बनर्जी ने कहा कि तृणमूल कांग्रेस विकास के मोर्चे पर चुनाव लड़ रही है। उन्होंने कहा, सुंदरबन में ढांचागत विकास किया गया। राज्य सरकार ने पांच रुपये में अंडायुक्त भोजन मुहैया कराने की पहल की और क्षेत्र में स्वयं सहायता समूहों में भागीदार महिलाएं इस पहल में शामिल हैं।

यहां पढ़े अन्य बड़ी खबरें...

comments

.
.
.
.
.