Sunday, Apr 18, 2021
-->
coming-soon-childrens-corona-vaccine-serum-institute-and-bharat-biotech-testing-prshnt

जल्द आ रहा है बच्चों का कोरोना टीका, सीरम इंस्टीट्यूट और भारत बायोटेक का परीक्षण जारी

  • Updated on 3/9/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। देश में कोरोना वैक्सीनेशन (Corona Vaccination) का काम तेजी से जारी है, दूसरे फेज में पीएम मोदी के टीका लगवाने के बाद से लोग टीकाकरण के लिए भारी संख्या में सामने आ रहे हैं। इसके बाद बच्चों के लिए कोविड-19 का टीका गर्मियों के अंत तक आ सकता है। बच्चों के लिए टीका बनाने में कंपनियां जुटीं हुई है बताया जा रहा है कि परीक्षण का शुरुआती डाटा जून-जुलाई तक आने की उम्मीद है। कहा जा रहा है कि डाटा उपलब्ध होते ही कंपनियां सरकार से टीके के आपातकालीन उपयोग के लिए आवेदन करेंगी। अनुमति मिलते ही बच्चों का टीकाकरण शुरू हो जाएगा।

राहुल गांधी बोले - सिंधिया भाजपा में रहकर कभी सीएम नहीं बनेंगे...

एक दिन में रिकॉर्ड 35738 टीकाकरण
दिल्ली में सोमवार को एक दिन में रिकॉर्ड 35738 लोगों ने टीका लगवाया। इसमें बुजुर्गों की संख्या सबसे ज्यादा है। 60 वर्ष से अधिक उम्र के 20123 बुजुर्गों ने वैक्सीन का पहला डोज लिया। वहीं, बीमारी से ग्रसित 45 वर्ष से ज्यादा उम्र के 2710 लोगों ने टीका लगवाया। इसके अलावा 3252 फ्रंट लाइन और 2337 हेल्थ केयर वर्करों ने टीका लगवाया। जबकि 7316 हेल्थ केयर और फ्रंट लाइन वर्करों ने वैक्सीन की दूसरी डोज ली। हल्के दुष्प्रभाव का 1 मामला सामने आए। 60 वर्ष से अधिक और गंभीर बीमारी से ग्रसित 45 वर्ष से अधिक आयु के 15485 (68त्न) लोगों ने निजी अस्पतालों और 7348 (32त्न) लोगों ने सरकारी अस्पतालों में टीका लगवाया। 

राहुल गांधी बोले - सिंधिया भाजपा में रहकर कभी सीएम नहीं बनेंगे...

6423 हेल्थ केयर और फ्रंट लाइन वर्करों को वैक्सीन की दूसरी डोज
टीकाकरण केंद्रों पर बुजुर्गों की संख्या पहले से ज्यादा ब?ने लगी है। 330  केंद्रों पर 21737 लोगों को कोविशील्ड का पहला टीका लगा, जिसमें 60 वर्ष से अधिक आयु के 15610 बुजुर्ग थे। वहीं, इसके केंद्रों पर गंभीर बीमारी से ग्रसित 45 वर्ष से ज्यादा उम्र के 2034 लोगों को टीका लगा। वहीं, 6423 हेल्थ केयर और फ्रंट लाइन वर्करों को वैक्सीन की दूसरी डोज दी गई। इसके केंद्रों पर साइड इफेक्ट का कोई मामला नहीं आया, जबकि 114 केंद्रों पर कोवैक्सीन का टीका देने का लक्ष्य था। इसके केंद्रों पर 6685 लोगों ने कोवैक्सीन का पहला टीका लिया, जिसमें 60 वर्ष से अधिक आयु के 4513 बुजुर्ग शामिल थे।

इसके केंद्रों पर गंभीर बीमारी से ग्रसित 45 वर्ष से अधिक आयु के 676 लोगों ने टीका लिया। यहां 893 हेल्थ केयर और फ्रंट लाइन वर्करों ने वैक्सीन की दूसरी डोज ली। इसके केंद्रों पर भी साइड इफेक्ट का एक मामला आया। वेस्ट  जिले के केंद्रों में सबसे अधिक बुजुर्गों का टीकाकरण हुआ। इस जिले में 4619 बुजुर्गों ने वैक्सीन की पहली डोज ली। नार्थ-ईस्ट जिले के इलाके में 706 बुजुर्गों का टीकाकरण हुआ। टीकाकरण केंद्रों की संख्या 444 हो गई है।

केजरीवाल सरकार ने पेश किया परिणाम बजट; शिक्षा, स्वास्थ्य विभागों का प्रदर्शन रहा अव्वल

कोरोना के 239 नए मामले, 3 मौतें
पिछले 24 घंटे में दिल्ली में 47689 टेस्ट होने के बाद सोमवार को कोविड-19 के 239 नए मामले  आए और संक्रमण दर भी बढ़कर 0.50 प्रतिशत पर आ गई। इस तरह हर 1000 टेस्ट करने पर 5 लोग कोरोना संक्रमित मिले हैं। बीमारी से 3 मौतें हुई हैं।  कोरोना रिकवरी दर करीब 98 फीसद पर आ गई है। सक्रिय मरीजों की संख्या घटकर 1730 हो गई है। 
सोमवार को जारी दिल्ली सरकार की रिपोर्ट के अनुसार एक दिन में 309 और मरीज ठीक हुए हैं।  नए मामले की तुलना में स्वस्थ होने वाले मरीजों की संख्या अधिक होने से कोरोना के सक्रिय मरीजों की संख्या में कमी आई है।

रिपोर्ट के अनुसार दिल्ली में अब तक 641340 लोग कोरोना से संक्रमित हुए और इनमें से 628686 लोग कोरोना वायरस को मात दे चुके हैं। दिल्ली में अब तक कुल एक करोड़ 28 लाख 73 हजार 806 सैंपल की जांच हो चुकी है। प्रत्येक 10 लाख की आबादी पर जांच का औसत 6,77,568 है। वहीं, दिल्ली में कुल मृत्यु दर 1.70 प्रतिशत है। दिल्ली के कोविड अस्पतालों के कुल 5709 बेड में से 5170 बेड खाली है। अब दिल्ली के अस्पतालों में 539 और होम आइसोलेशन में 947 मरीज इलाज करवा रहे हैं। अभी 90 प्रतिशत से अधिक बेड खाली है। हॉटस्पॉट जोन की संख्या घटकर 536 हो गई है।

यहां पढ़े अन्य बड़ी खबरें... 

comments

.
.
.
.
.