Thursday, Jun 08, 2023
-->
communal riots on ram navami government sponsored: shiv sena thackeray sanjay raut

रामनवमी पर हुए सांप्रदायिक दंगे ‘‘सरकार द्वारा प्रायोजित'' : संजय राउत

  • Updated on 3/31/2023


नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। शिवसेना (उद्धव ठाकरे) के सांसद संजय राउत ने शुक्रवार को दावा किया कि रामनवमी पर महाराष्ट्र एवं अन्य स्थानों पर हुई सांप्रदायिक झड़पें ‘‘सरकार द्वारा प्रायोजित'' थीं। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि सरकार इस तनाव के नाम पर महा विकास आघाडी को उसकी रैली के लिए अनुमति नहीं देना चाहती है। महाराष्ट्र के औरंगाबाद शहर और मुंबई के मलवानी इलाके में बृहस्पतिवार को विभिन्न समूहों के बीच झड़पें हुईं। राउत ने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘‘ये सरकार-प्रायोजित दंगे हैं। महाराष्ट्र और गुजरात में भाजपा की सरकारें हैं और वहां (दोनों राज्यों में) दंगे हुए।''

अदालत ने खारिज की मनीष सिसोदिया की जमानत याचिका, AAP ने उठाए सवाल

जब उद्धव ठाकरे मुख्यमंत्री थे, तो उनके कार्यकाल में रामनवमी शांतिपूर्वक मनायी गई और कोई दंगा नहीं हुआ।'' उन्होंने कहा, ‘‘इसीलिए उच्चतम न्यायालय ने कहा कि सरकार शक्तिहीन है और दंगे उसका सबूत हैं।'' राउत ने आरोप लगाया कि सरकार ने तनाव इसलिए पैदा कराया क्योंकि उसे आगामी चुनावों में हार का डर है और वह उद्धव ठाकरे को मिल रहे व्यापक समर्थन से घबरा गई है। उन्होंने दावा किया कि एकनाथ शिंदे नीत सरकार दंगों के बाद कानून व्यवस्था की समस्या का हवाला देते हुए संभाजीनगर (औरंगाबाद) में महा-गठबंधन की दो अप्रैल की रैली को अनुमति नहीं देना चाहती है। 

हावड़ा में फिर से अशांति, पुलिसकर्मियों पर पथराव 
पश्चिम बंगाल के हावड़ा शहर में काजीपाडा इलाके में रामनवमी की शोभायात्रा निकाले जाने के दौरान हिंसा के बाद तैनात पुलिस कर्मियों पर शुक्रवार दोपहर बाद अज्ञात लोगों द्वारा पथराव की ताजा घटना सामने आई है, जिसके बाद इलाके में तनाव फैल गया। पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने यह जानकारी दी। अधिकारी ने ‘पीटीआई-भाषा' से कहा कि पुलिस को वहां जमा हुए लोगों को तितर-बितर करने के लिए लाठियों का इस्तेमाल करना पड़ा। काजीपाड़ा इलाके में दंड प्रक्रिया संहिता (सीआरपीसी) की धारा 144 लागू है। बृहस्पतिवार से अब तक हिंसा के सिलसिले में 45 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने कहा, ‘‘दोपहर तक हालात शांतिपूर्ण थे। 

पीएम मोदी डिग्री मामला : गुजरात हाई कोर्ट ने CIC के आदेश को किया रद्द, केजरीवाल पर जुर्माना

इसके बाद पुलिस कर्मियों पर पथराव होने लगा, जिससे इलाके में तनाव फैल गया। हमारे अधिकारियों ने तत्काल कार्रवाई की और कुछ लोगों को गिरफ्तार किया गया।'' अनेक लोग घरों में कैद हो गये और दुकानें तथा बाजार बंद हो गये। पथराव की घटना के बाद वाहनों की आवाजाही भी प्रभावित हुई। अधिकारी ने कहा कि पथराव में कम से कम तीन पुलिस कर्मी घायल हो गये और उनका पास के एक अस्पताल में इलाज चल रहा है। पुलिस ने इलाके में लाउडस्पीकर से घोषणा कर लोगों से इलाके में चहलकदमी से बचने को कहा। एक पुलिसकर्मी को घोषणा करते सुना गया, ‘‘अगर आप आसपास घूमते दिखे, तो हम कानून के अनुसार कड़ी कार्रवाई करेंगे।'' कोलकाता पुलिस के द्रुत कार्य बल (आरएएफ) के एक बड़े दल को इलाके में भेजा गया। 

जिस क्षण नेता राजनीति में धर्म का उपयोग बंद कर देंगे, नफरती भाषण समाप्त हो जाएंगे : सुप्रीम कोर्ट

जवानों ने पथराव की घटनाओं के बाद रूट मार्च निकाला। इससे पहले, आज दिन में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने आरोप लगाया कि हावड़ा में हुई हिंसा के लिए भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और अन्य दक्षिणपंथी संगठन जिम्मेदार हैं। उन्होंने लोगों से इलाके में शांति बनाये रखने की अपील की। बनर्जी ने बांग्ला समाचार चैनल ‘एबीपी आनंदा' से बातचीत में कहा, ‘‘हावड़ा की घटना बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है। हावड़ा में हिंसा के पीछे न तो हिंदू थे और ना ही मुस्लिम थे। बजरंग दल और अन्य ऐसे संगठनों के साथ भाजपा हथियारों के साथ हुई इस हिंसा में शामिल थी।'' 

केजरीवाल का BJP पर हमला, बोले - ED, CBI ने सभी भ्रष्ट लोगों को एक पार्टी में ला दिया है

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार उन सभी लोगों की मदद करेगी, जिनकी संपत्तियों को झड़पों के दौरान नुकसान पहुंचा। पश्चिम बंगाल के हावड़ा शहर में बृहस्पतिवार की शाम रामनवमी की शोभायात्रा निकाले जाने के दौरान दो समूहों के बीच हिंसा हो गयी थी। घटना तब हुई, जब शोभायात्रा काजीपाड़ा इलाके से गुजर रही थी। हिंसा के दौरान कई दुकानों और ऑटो-रिक्शा में तोड़फोड़ की गई, जबकि कुछ पुलिस वाहनों सहित कई कार में आग लगा दी गई। आग बुझाने के लिए दमकल की चार गाडिय़ों का इस्तेमाल किया गया। भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने बल का इस्तेमाल किया। 

ललित मोदी पर कांग्रेस का पलटवार, कहा- अब पीएम मोदी के बचाव में सामने आ रहे हैं ‘वैश्विक घोटालेबाज'

comments

.
.
.
.
.