Friday, Jun 18, 2021
-->
compensation to both farmers who lost their lives in farmers protest punjab pragnt

पंजाब सरकार का बड़ा ऐलान- आंदोलन में मारे गए किसानों को मिलेंगे 5 लाख

  • Updated on 12/3/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। केंद्र सरकार (Central Government) के नए कृषि कानूनों के खिलाफ हरियाणा और पंजाब के किसानों का आंदोलन जारी है। इस बीच विरोध प्रदर्शन कर रहे मनसा और मोगा के दो किसानों की मौत हो गई। ऐसे में पंजाब (Punjab) के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह (Amarinder Singh) ने दोनों किसानों के परिवारों के लिए मुआवजे का ऐलान किया है। 

किसान नेता और सरकार के बीच बैठक जारी, कृषि मंत्री भी मौजूद

जान गंवाने वाले किसानों को मुआवजे का ऐलान
कैप्टन अमरिंदर सिंह ने किसान आंदोलन के दौरान जान गंवाने वाले दो किसानों के परिवारों के लिए मुआवजे का ऐलान किया। कैप्टन ने कहा कि मनसा और मोगा के रहने वाले दो किसानों के परिवार को पांच-पांच लाख रुपए की राशि दी जाएगी। पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने दोनों किसानों की मौत पर शोक व्यक्त किया है।

बता दें कि मानसा जिले के बछोआना गांव के निवासी गुरजंत सिंह (60) की विरोध के दौरान दिल्ली के टिकरी बार्डर पर मौत हो गई थी और मोगा जिले के भिंडर खुर्द गांव के निवासी गुरबचन सिंह (80) की बुधवार को मोगा में प्रदर्शन के दौरान दिल का दौरा पड़ने से मौत हो गई। पंजाब, हरियाणा और कई अन्य राज्यों के हजारों किसान तीन कृषि कानूनों के खिलाफ राष्ट्रीय राजधानी की सीमाओं पर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं।

गृहमंत्री से मिलने के बाद बोले कैप्टन अमरिंदर सिंह, किसान आंदोलन का जल्द हो निपटारा

अमरिंदर बोले- जल्द हो समाधान नहीं तो इकोनॉमी पर खतरा
इससे पहले पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह  देश के गृहमंत्री अमित शाह (Amit Shah) से मुलाकात की। माना जा रहा है कि दोनों के बीच किसान आंदोलन को लेकर बातचीत हुई। गृहमंत्री से मिलने के बाद अमरेंद्र सिंह ने कहा कि किसान आंदोलन राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा है, इसका जल्द ही निदान निकालना चाहिए। उन्होंने कहा कि मैंने गृह मंत्री को पंजाब में अपनी स्थिति दोहराई है और कहा है कि जल्दी इसका कोई हल निकलना चाहिए और पंजाब के किसानों को भी अपील करता हूं कि हम जल्दी इसका हल निकालें क्योंकि इसका पंजाब की अर्थव्यवस्था और राष्ट्रीय सुरक्षा पर असर हो रहा है।

किसानों को समर्थन देने सिंघू बॉर्डर पहुंचे भीम आर्मी चीफ, मोदी सरकार को कहा तानाशाह

अमरिंदर ने की शाह से की मुलाकात
नए कृषि कानूनों को लेकर केन्द्र और किसानों के बीच जारी गतिरोध को खत्म करने के लिए पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने बृहस्पतिवार को केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की। सूत्रों ने बताया कि बैठक ऐसे समय पर हो रही है, जब प्रदर्शन कर रहे किसान नेता विज्ञान भवन में सरकार के साथ बैठक कर रहे हैं। सूत्रों के अनुसार बैठक सुबह होनी थी लेकिन दो घंटे विलंब के कारण दोपहर में शुरू हुई।

AAP महिला विंग ने कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसानों के समर्थन में बनाई मानव श्रृंखला

प्रदर्शन में ज्यादातर किसान पंजाब से
पंजाब के मुख्यमंत्री और उनकी कांग्रेस पार्टी किसान आंदोलन का समर्थन कर रही है और पंजाब विधानसभा ने केन्द्र के नए कृषि कानूनों को निष्प्रभावी बनाने के लिए विधेयक भी पारित किए हैं। सिंह ने पहले कहा था कि वह और उनकी सरकार सभी के सामूहिक हित में केंद्र और किसानों के बीच मध्यस्थता के लिए तैयार हैं। प्रदर्शनकारी किसान राष्ट्रीय राजधानी से लगी सीमाओं पर डटे हैं और सरकार से नए कृषि कानून वापस लेने की मांग कर रहे हैं। उनमें से ज्यादातर किसान पंजाब से हैं।

यहां पढ़े 10 अन्य बड़ी खबरें...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.