Wednesday, Jan 26, 2022
-->
concerned patra on mamta said poor feet telling about the pain prshnt

CM ममता पर संबित पात्रा का तंज, कहा-बेचारा पैर... हिल हिल के बता रहा है.. वो कितने दर्द में है

  • Updated on 4/3/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। पश्चिम बंगाल (West Bengal) में एक अप्रैल को विधानसभा चुनाव (Assembly Election) के दूसरे दौर के मतदान के बाद अब राज्य में राजनीति और तेज हो गई है। यहां तृणमूल कांग्रेस (Trimool Congress) और भारतीय जनता पार्टी (BJP) के बीच लगातार जुवानी जंग जारी है। अब बीजेपी के प्रवक्ता प्रवक्‍ता संबित पात्रा ने एक वीडियो शेयर कर ममता की चोट पर तंज कसा है। इससे पहले मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी के पैर में चोट को लेकर कई दिनों तक बंगाल से लेकर नई दिल्‍ली तक राजनीति होती रही है, वहीं इन सबके पीछे बीजेपी के का हाथ बताया जा रहा है।

दरअसल मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी जब ​नंदीग्राम में नामांकन करने पहुंची थी वहां उनके पैर में चोट लग गई थी। इस चोट को लेकर ममता बनर्जी ने स्‍पष्‍ट तौर पर इसे अपने ऊपर हमला बता दिया था और इसके पीछे बीजेपी का हाथ होने का आरोप लगाया। 

हार की निराशा नहीं, जीत की रणनीति से जुड़ा है CM ममता का खत, जानें कैसे

ट्विटर अकाउंट पर वीडियो शेयर कर कही ये बात
इसके लिए जांच भी कराई गई जिसे चुनाव आयोग ने महज एक दुर्घटना बताया। ऐसे में  संबित पात्रा ने अपने ट्विटर अकाउंट पर वीडियो शेयर करते हुए लिखा, बेचारा पैर ...हिल हिल के बता रहा है ..वो कितने दर्द में है'। दरअसल इस वीडियो में वीलचेयर पर बैठीं ममता बनर्जी को अपने चोटिल पैर को बार-बार हिलाते हुए देखा जा रहा है। ये वीडियों नंदीग्राम में टीएमसी कार्यकर्ताओं संग बैठक के दौरान का बताया जा रहा है। कार्यकर्ताओं से बातचीत करते हुए ममता बनर्जी अपने बैंडेज बंधे हुए पैर को तेज-तेज हिला रही हैं।

तमिलनाडु में आज अमित शाह करेंगे रोड शो, जनसभा को भी करेंगे संबोधित

विपक्षी नेताओं को ममता ने लिखा पत्र
बता दें कि पश्चिम बंगाल में जारी विधानसभा चुनाव में हर दिन एक नया मोड़ देखने को मिल रहा है इस चुनाव में सीधे तौर पर आमने सामने टक्कर में खड़े तृणमूल और बीजेपी एक दूसरे पर लगातार हमलावर है। चुनाव के बीच विपक्षी एकता की बात कर तृणमूल कांग्रेस अध्यक्ष ममता बनर्जी ने नई बहस छेड़ दी है। विपक्षी नेताओं को लिखे पत्र को भाजपा चुनाव में उनकी परेशानी के तौर पर पेश कर रही है। वही, कांग्रेस पत्र को चुनाव में मतदाताओं को संदेश देने और भविष्य में जरूरत पड़ने पर समर्थन के लिए माहौल बनाने के तौर पर देख रही है।

दरअसल पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की छवि एक संघर्ष करने वाली महिला की है और वह असानी से हार नहीं मानती। इस पत्र का असल मकसद मतदाताओं को यह संदेश देना है कि पूरा विपक्ष एक है, इसलिए भाजपा को हराने वाले उम्मीदवार को वोट दे। 

यहां पढ़े अन्य बड़ी खबरें...

comments

.
.
.
.
.