Monday, Aug 15, 2022
-->
congress 42 mlas wanted me to be cm of punjab after amarinder left: jakhar rkdsnt

अमरिंदर के हटने के बाद 42 विधायक मुझे पंजाब का CM बनाना चाहते थे: जाखड़

  • Updated on 2/2/2022

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। कांग्रेस की पंजाब इकाई के वरिष्ठ नेता सुनील जाखड़ ने दावा किया है कि पिछले साल अमरिंदर सिंह को हटाये जाने के बाद 42 विधायक उन्हें राज्य का मुख्यमंत्री बनाना चाहते थे।जाखड़ ने अबोहर में मंगलवार को एक सभा को संबोधित किया था और इस सभा की ऑनलाइन सामने आई एक वीडियो में उन्हें यह कहते हुए सुना जा सकता है।   

कॉलेजियम ने की 6 न्यायिक अधिकारियों को न्यायाधीश के रूप में पदोन्नत करने की सिफारिश

  जाखड़ के भतीजे संदीप जाखड़ पंजाब विधानसभा चुनाव में अबोहर सीट से कांग्रेस उम्मीदवार के तौर पर चुनाव लड़ रहे हैं।सुनील जाखड़ भी मुख्यमंत्री पद की दौड़ में शामिल थे। पार्टी ने चरणजीत सिंह चन्नी को तरजीह दी, जो अनुसूचित जाति समुदाय से पंजाब के पहले मुख्यमंत्री बने।     

अखिलेश की सरकार बनेगी तो राम मंदिर जल्दी और बेहतर बनेगा : रामगोपाल यादव 

जाखड़ ने कहा, ‘‘सुनील (जाखड़) को 42 वोट, सुखजिंदर रंधावा को 16, महारानी परनीत कौर (अमरिंदर सिंह की पत्नी और पटियाला की सांसद) को 12 वोट, नवजोत सिंह सिद्धू को छह वोट और (चरणजीत सिंह) चन्नी को दो वोट मिले थे।’’ उन्होंने कहा कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने उन्हें उपमुख्यमंत्री बनाने की पेशकश की थी, लेकिन उन्होंने इनकार कर दिया था।   

‘मिश्रण’ के बगैर पेट्रोल-डीजल पर लगेगा अतिरिक्त शुल्क, महंगा होगा वाहन ईंधन 

  जाखड़ ने कहा कि पार्टी ने उन विधायकों से जानना चाहा था कि वे अमरिंदर सिंह के जाने के बाद किसे मुख्यमंत्री बनाना चाहते हैं। उन्होंने कहा, ‘‘79 विधायकों को यह जानने के लिए बुलाया गया था कि वे किसे मुख्यमंत्री बनाना चाहते हैं। सुनील विधायक भी नहीं थे।’’ कांग्रेस की पंजाब इकाई के प्रमुख नवजोत सिंह सिद्धू के साथ सत्ता संघर्ष के बीच कांग्रेस ने अमरिंदर सिंह को मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने के लिए कहा था।   

बजट पर योगेंद्र यादव बोले- सरकार किसानों से ‘बदला’ ले रही है, टिकैत भी नाखुश

  कांग्रेस की वरिष्ठ नेता अंबिका सोनी के उस बयान के बाद जाखड़ के मुख्यमंत्री बनने की संभावना कम हो गई थी, जिसमें उन्होंने कहा था कि पार्टी को सिख चेहरे के साथ जाना चाहिए। पिछले साल अमरिंदर सिंह की जगह लेने वाले चरणजीत सिंह चन्नी अनुसूचित जाति समुदाय से पंजाब के पहले मुख्यमंत्री हैं।   

माता का दर्शन करने वैष्णो देवी पहुंचे नवजोत सिंह सिद्धू 
पंजाब विधानसभा चुनाव से पहले प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू बुधवार को जम्मू कश्मीर के रियासी जिले में त्रिकुट पहाड़ी पर माता वैष्णो देवी का दर्शन करने पहुंचे। अधिकारियों ने बताया कि क्रिक्रेट से राजनीति के क्षेत्र में आये सिद्धू दोपहर को आधार शिविर कटरा पहुंचे और वहां से वह माता वैष्णो देवी की पूर्जा अर्चना करने सीधे भवन (गर्भ गृह) गये।

केजरीवाल ने दल बदल रोकने के लिए AAP उम्मीदवारों से कराए हलफनामे पर हस्ताक्षर

अधिकारियों ने बताया कि सिद्धू के रात में धर्मस्थल पर ठहरने एवं बृहस्पतिवार को सुबह प्रार्थना में हिस्सा लेने की संभावना है, तत्पश्चात वह पंजाब लौट जायेंगे। कांग्रेस नेता ने ट्वीट किया, ‘‘ स्वर्ग जैसे धाम पर गर्मजोशी, प्याार एवं स्नेह से दिल भर आया। ’’ उन्होंने एक वीडियो भी साझा किया जिसमें उनके साथ कुछ श्रद्धालु सेल्फी ले रहे हैं। सिद्धू ने ट्विटर पर लिखा, ‘‘ माता वैष्णोदेवी के मार्ग में...माता की दैवीय कृपा ने धर्म के रास्ते पर हमेशा मेरी रक्षा की है, उनके आशीर्वाद के लिए उनके चरण कमल में, दुष्टां दा विनाश कर, पंजाब दा कल्याण कर... सच धरम दी स्थापना कर।’’  पंजाब में 20 फरवरी का विधानसभा चुनाव है। 

  

केजरीवाल, सिसोदिया को रास नहीं आया मोदी सरकार का बजट 2022-23

comments

.
.
.
.
.