Tuesday, Jan 28, 2020
congress-aap-leaders-in-favour-public-mobilization-against-evms-demand-ballot-papers-election

#EVM के खिलाफ जनआंदोलन के पक्ष में कांग्रेस, AAP नेता, बैलट पेपर की मांग

  • Updated on 6/7/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। लोकसभा चुनाव 2019 के बाद भले ही केंद्र में मोदी सरकार फिर से बहुमत से सत्ता में आई हो, लेकिन विपक्ष को भाजपा की प्रचंड जीत हजम नहीं हो रही है। इसकी वजह है कि चुनाव परिणाम के बाद 300 से ज्यादा सीटों पर मतगणना में अंतर को लेकर खबरें आना और फिर चुनाव आयोग का वेबसाइट से डेटा हटा लेना। यही वजह है कि अब ईवीएम को लेकर जनआंदोलन तेज करने की बात शुरू हो गई है। 

केजरीवाल सरकार कैबिनेट बैठक में इस दिन ला सकती है मुफ्त यात्रा का प्रस्ताव

अमित शाह की नीति आयोग में एंट्री, पीएम मोदी ने किया आयोग का पुनर्गठन

महाराष्ट्र में तो ईवीएम को लेकर कुछ एनजीओ ने जनता को जागरूक करना शुरू कर दिया है। कई जगह तो बाकायदा ईवीएम हैंकिंग को लेकर वैज्ञानिकों और आईटी एक्सपर्ट के जरिए ईवीएम मशीन हैक होने का बाकायदा डेमो तक दिया जा रहा है। इसके साथ ही आगामी विधानसभा चुनाव में बैलट पेपर से मतदान कराने की मांग की जा रही है। बामसेफ के राष्ट्रीय अध्यक्ष वामन मेश्राम तो बाकायदा छह महीने के लिए देशभर में ईवीएम के खिलाफ यात्रा कर रहे हैं।

ममता बनर्जी से मिले प्रशांत किशोर, तो क्या निकालेंगे भाजपा को तोड़?

इस दिशा में कांग्रेस प्रवक्ता संजय सिंह ने ट्वीट कर ईवीएम को लेकर हल्ला बोल दिया है। जिसका आम आदमी पार्टी विधायक सौरभ भारद्वाज ने समर्थन करते हुए विपक्ष को एकजुट होने का आह्वान किया है। माना जा रहा है कि आगामी दिनों में ईवीएम को लेकर विपक्ष दल एकजुटता से सड़कों पर उतरेंगे और चुनाव आयोग पर बैलट पेपर से चुनाव कराने का दबाब बना सकेंगे।

एयरफोर्स के लापता एएन-32 विमान के 13 कर्मियों के परिजनों का हुआ बुरा हाल

शिवसेना को चाहिए मोदी सरकार से एक और अहम पद

ईवीएम को लेकर कांग्रेस नेता संजय सिंह ने अपने ट्वीट में लिखा है, 'इसका एक ही रास्ता है दिखता है- सभी विपक्षी पार्टियों को मिलकर आगामी राज्यों के चुनावों का बहिष्कार करना चाहिए, जब तक कि 10 फीसदी बैलट पेपर्स पर चुनाव ना हों। ऐसे में चुनाव आयोग क्या करेगा? सभी सीटें भाजपा को दे देगा?'

कांग्रेस को तेलंगाना में उसके ही 12 विधायकों ने दिया करारा झटका

संजय झा के इस ट्वीट पर आप विधायक सौरभ भारद्वाज अपने ट्वीट में लिखते हैं, 'यह सुझा अच्छा लगता है। फिर भी, सभी विपक्षी दलों की सहमती बहुत जरूरी है। बैलट पेपर चुनाव तभी सुनिश्चित हो सकते हैं, जब शांतिपूर्वक सार्वजनिक जनआंदोलन किया जाए। सियासी पार्टियों को गलियों में उतरना होगा।' 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.