Tuesday, Mar 09, 2021
-->
congress against agricultural bills priyanka gandhi said bjp not listening to farmers pragnt

Agriculture Bill: प्रियंका का BJP पर हमला, कहा- अमीर दोस्तों के लिए किसानों को किया नजरअंदाज

  • Updated on 9/19/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। लोकसभा (Lok Sabha) में पारित हुए कृषि संबंधी विधेयकों को लेकर कांग्रेस (Congress) लगातार केंद्र की मोदी सरकार पर हमलावर है। कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के बाद अब पार्टी की महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka Gandhi Vadra) ने सरकार पर हमला बोला है। प्रियंका ने आरोप लगाया कि बीजेपी सरकार (BJP Government) अपने अमीर खरबपति दोस्तों को कृषि क्षेत्र में घुसाने के लिए के लिए ज्यादा आतुर दिख रही है। वो किसानों की बात नहीं सुन रही है।

RSS से जुड़े सगंठन ने किया कृषि विधेयक का विरोध, कहा- नौकरशाह बैठें हैं, नहीं पता जमीनी हकीकत

प्रियंका ने किया ट्वीट
प्रियंका गांधी ने शनिवार को अपने ट्वीट में लिखा, 'किसानों के लिए ये कठिन समय है। सरकार को एमएसपी और किसानों की फसल खरीद के सिस्टम में इस समय उनकी मदद करनी चाहिए थी, लेकिन हुआ उसके ठीक उल्टा। बीजेपी सरकार अपने अमीर खरबपति दोस्तों को कृषि क्षेत्र में घुसाने के लिए ज्यादा आतुर दिख रही है। वो किसानों की बात तक नहीं सुनना चाहती।' 

राहुल गांधी बोले- भारतीय राष्ट्रवाद कभी भी क्रूरता, हिंसा और धार्मिक संप्रदायवाद का साथ नहीं दे सकता

राहुल गांधी ने ट्वीट कर लिखा
वहीं राहुल गांधी ने ट्वीट कर लिखा, 'किसान का मोदी सरकार से विश्वास उठ चुका है क्यूंकि शुरू से मोदी जी की कथनी और करनी में फर्क रहा है- नोटबंदी, गलत GST और डीजल पर भारी टैक्स। जागृत किसान जानता है- कृषि विधेयक से मोदी सरकार बढ़ाएगी अपने ‘मित्रों’ का व्यापार और करेगी किसान की रोजी-रोटी पर वार।'

राज्यसभा में कृषि विधेयकों पर फैसले के बाद NDA में रहने पर विचार करेगा SAD

विधेयकों को मिली मंजूरी
गौरतलब है कि लोकसभा ने कृषि उपज व्यापार और वाणिज्य (संवर्द्धन और सुविधा) विधेयक-2020 और कृषक (सशक्तिकरण एवं संरक्षण) कीमत आश्वासन समझौता और कृषि सेवा पर करार विधेयक-2020 को मंजूरी दी। बता दें कि कृषि संबंधी विधेयकों के खिलाफ विपक्षी पार्टियां केंद्र सरकार पर हमला बोल रही हैं।

कृषि विधेयकों के मुद्दों पर हरसिमरत बादल का मंत्रिमंडल से इस्तीफा

विधेयकों का पारित होना देश के किसानों के हित में-पीएम
इससे पहले कृषि संबंधी विधेयकों पर किसानों के बढ़ते आक्रोश को भांपते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट कर लिखा कि 'लोकसभा में ऐतिहासिक कृषि सुधार विधेयकों का पारित होना देश के किसानों और कृषि क्षेत्र के लिए एक महत्वपूर्ण क्षण है। ये विधेयक सही मायने में किसानों को बिचौलियों और तमाम अवरोधों से मुक्त करेंगे।' उन्होंने कहा, 'इस कृषि सुधार से किसानों को अपनी उपज बेचने के लिए नए-नए अवसर मिलेंगे, जिससे उनका मुनाफा बढ़ेगा। इससे हमारे कृषि क्षेत्र को जहां आधुनिक टेक्नोलॉजी का लाभ मिलेगा, वहीं अन्नदाता सशक्त होंगे।'

राहुल गांधी बोले- कृषि बिल के जरिए मोदी सरकार बढ़ाएगी अपने 'मित्रों' का व्यापार

पीएम ने किसानों से भ्रमित ने होने की कि अपील
पीएम मोदी ने आगे कहा कि 'किसानों को भ्रमित करने में बहुत सारी शक्तियां लगी हुई हैं। मैं अपने किसान भाइयों और बहनों को आश्वस्त करता हूं कि MSP और सरकारी खरीद की व्यवस्था बनी रहेगी। ये विधेयक वास्तव में किसानों को कई और विकल्प प्रदान कर उन्हें सही मायने में सशक्त करने वाले हैं।'

कृषि विधेयक का विरोध कर फंसी कांग्रेस, बिल के समर्थन में राहुल गांधी का पुराना वीडियो हुआ वायरल

पंजाब और हरियाणा में विरोध प्रदर्शन तेज
वहीं दूसरी ओर इस बिल के विरोध में पंजाब और हरियाणा के किसान और उसके संगठन सड़कों पर उतर आए। केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल (Harsimrat Kaur Badal) ने मोदी कैबिनेट से कृषि संबंधी तीन विधेयकों का विरोध दर्ज कराते हुए पहले ही अपने पद से इस्तीफा दे चुकी हैं। बिल को लेकर विपक्षी पार्टियां भी लगातार मोदी सरकार पर हमला बोल रही हैं।

comments

.
.
.
.
.