Monday, Aug 02, 2021
-->
congress alleges scam in ayodhya land purchase appeal modi govt to investigate rkdsnt

कांग्रेस ने अयोध्या में भूमि खरीद में लगाया घोटाले का आरोप, कहा- कोर्ट निगरानी में हो जांच

  • Updated on 6/20/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। न्यायालय से सच का पता लगाने के लिये अदालत की निगरानी में जांच का आदेश देकर ‘‘जिम्मेदारी‘’ निभाने का आग्रह किया। कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने आरोप लगाया कि अयोध्या में भाजपा नेताओं के हाथों भगवान राम के नाम पर चंदा एकत्र कर‘‘लूट‘’ की जा रही है। उन्होंने प्रधानमंत्री और उच्चतम न्यायालय की‘‘चुप्पी‘’पर सवाल उठाए।

चंपत राय के खिलाफ आपत्तिजनक बातें पोस्ट करने में मामले में 3 के खिलाफ केस दर्ज 

  उन्होंने कहा कि भाजपा के एक नेता ने फरवरी में अयोध्या में 890 मीटर जमीन 20 लाख रुपये में खरीदी और फिर उसे 2.5 करोड़ रुपये की भारी-भरकम धनराशि में मंदिर ट्रस्ट को बेचकर केवल 79 दिन में 1250 प्रतिशत का मुनाफा कमाया।      सुरजेवाला ने कहा,‘‘भगवान राम के मंदिर का निर्माण उच्चतम न्यायालय के आदेशों के अनुसार किया जा रहा है। क्या यह ट्रस्ट बनाने वाले उच्चतम न्यायालय, उसके न्यायाधीशों और प्रधानमंत्री की जिम्मेदारी नहीं है कि वे सच का पता लगाएं और इसकी जांच कराएं।‘‘   

उत्तर प्रदेश में भाजपा के खिलाफ सशक्त मोर्चा बनाने का प्रयास कर रहे हैं : ओमप्रकाश राजभर

  पत्रकारों ने सुरजेवाला से पूछा कि क्या पार्टी इस कदम के खिलाफ अदालत जाएगी तो उन्होंने कहा,‘‘क्या उच्च न्यायालय को इस मामले पर स्वत: संज्ञान नहीं लेना चाहिये? उच्चतम न्यायालय को अपना कर्तव्य निभाते हुए अपनी निगरानी में, पूरे लेनदेन का ऑडिट कराना चाहिये और दोषियों को सजा देनी चाहिये।‘‘      उन्होंने कहा,‘‘अब सवाल यह है कि क्या उच्चतम न्यायालय और प्रधानमंत्री अपने कर्तव्य निभाएंगे? हम इसे उनके विवेक पर छोड़ते हैं।‘‘   

फिर बढ़े वाहन ईंधनों के दाम, दिल्ली में पेट्रोल 97 रुपये प्रति लीटर के पार 

सुरजेवाला ने कहा कि अगर किसी की जिम्मेदारी बनती है तो वह हैं प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ,जिन्होंने यह ट्रस्ट बनाया है।      उन्होंने कहा,‘‘यह न केवल नैतिकता नहीं बल्कि संवैधानिकता का भी सवाल है।‘‘      कांग्रेस नेता ने कहा कि गेंद प्रधानमंत्री के पाले में है। देखते हैं कि वह क्या निर्णय लेते हैं।      उन्होंने कहा कि जनता भगवान राम के नाम पर चंदा लूटने वालों को माफ नहीं करेगी।      इससे पहले, कांग्रेस ने आरोप लगाया था कि इस साल 18 मार्च को पंजीकृत भूमि दस्तावेजों के अनुसार 2 करोड़ रुपये में खरीदी गई जमीन ट्रस्ट को‘‘मिनटों के भीतर‘’18.5 करोड़ रुपये में बेच दी गई। पार्टी ने उच्चतम न्यायालय की निगरानी में‘‘घोटाले‘’की जांच की मांग की थी।

कांग्रेस ने विदेशी बैंकों में जमा धन को लेकर मोदी सरकार पर बोला हमला, कहा- श्वेत पत्र लाए सरकार

 


 

comments

.
.
.
.
.