Monday, Nov 28, 2022
-->
congress asked gujarat became gateway to drugs why pm modi home minister amit shah silent

कांग्रेस ने पूछा- ‘‘मादक पदार्थों का प्रवेश द्वार’’ बना गुजरात, PM मोदी-शाह चुप क्यों हैं?

  • Updated on 5/27/2022

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। कांग्रेस ने गुजरात के मुंद्रा बंदरगाह के निकट एक कंटेनर से 56 किलोग्राम मादक पदार्थ की बरामदगी को लेकर शुक्रवार को दावा किया कि गुजरात अब ‘मादक पदार्थों का प्रवेश द्वार’ (गेटवे ऑफ ड्रग्स) बन गया है।  पार्टी प्रवक्ता पवन खेड़ा ने इस विषय पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह की ‘चुप्पी’ को लेकर भी सवाल किया और कहा कि दोनों शीर्ष नेताओं को अपने गृह प्रदेश की इस स्थिति के बारे में जवाब देना चाहिए।     

भगोड़ा आरोपी अदालत से किसी रियायत या माफी का हकदार नहीं: सुप्रीम कोर्ट 

उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ‘‘गुजरात के तट से जुलाई, 2017 में पहली बार मादक पदार्थ की बरादमगी की रिपोर्ट आई। जनवरी, 2020 में गुजरात में 175 करोड़ रुपये के ड्रग्स पकड़े गए। सितंबर, 2021 में तीन टन हेरोइन बरामद की गई। यह सूची बहुत लंबी है। अभी बृहस्पतिवार को 56 किलोग्राम मादक पदार्थ पकड़ा गया।’’  खेड़ा ने दावा किया, ‘‘सबसे महत्वूपर्ण बात यह है कि 175000 करोड़ रुपये के ड्रग्स आए और नहीं पकड़े गए। यानी 25 टन मादक पदार्थ बाजार में फैल गए। आप इस स्थिति की कल्पना कर सकते हैं।’’     

लद्दाख : 26 जवानों को ले जा रहा सैन्य वाहन नदी में गिरा, 7 की मौत

उन्होंने सवाल किया कि सरकार ने घोषणा की थी कि ईरान, पाकिस्तान और अफगानिस्तान से कोई मादक पदार्थ नहीं आने दिया जाएगा तो फिर बृहस्पतिवार को बरामद किया गया मादक पदार्थ कैसे आया?कांग्रेस नेता ने कहा, ‘‘प्रधानमंत्री गुजरात से हैं, गृह मंत्री गुजरात से हैं। गुजरात ‘गेटवे ऑफ ड्रग्स’ (मादक पदार्थ का प्रवेश द्वार) बन गया है। आप दोनों चुप क्यों है? प्रधानमंत्री और गृह मंत्री इस पर कब बोलेंगे? उन्होंने आरोप लगाया कि सरकार ने जांच एजेंसियों को ‘खुदरा राजनीति’ का जरिया बना दिया है।   

सोयाबीन, सूरजमुखी तेल के शुल्क-मुक्त आयात की इजाजत, चीनी के निर्यात पर पाबंदी

  गौरतलब है कि राजस्व खुफिया निदेशालय (डीआरआई) ने गुजरात के कच्छ जिले में मुंद्रा बंदरगाह के पास एक कंटेनर से 56 किलोग्राम मादक पदार्थ जब्त किया है, जिसकी कीमत लगभग 500 करोड़ रुपये है। डीआरआई के एक अधिकारी ने बृहस्पतिवार को यह जानकारी दी थी।  हालांकि, डीआरआई के अधिकारियों ने जब्त किए गए मादक पदार्थ के मूल्य का खुलासा नहीं किया, लेकिन यह 500 करोड़ रुपये के करीब हो सकता है, क्योंकि एक किलोग्राम मादक पदार्थ (कोकीन) की अंतरराष्ट्रीय बाजार में कीमत करीब 10 करोड़ रुपये कीमत है। 

आर्यन को जिस सदमे से गुजरना पड़ा उसकी जिम्मेदारी कौन लेगा : चिदंबरम 
कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व गृह मंत्री पी चिदंबरम ने मादक पदार्थ मामले में अभिनेता शाहरुख खान के पुत्र आर्यन खान को क्लीन चिट मिलने के बाद शुक्रवार को कहा कि इस नौजवान को जिस सदमे से गुजरना पड़ा, उसकी जिम्मेदारी कौन लेगा।उन्होंने यह दावा भी किया कि जांच के बाद गिरफ्तारी होनी चाहिए, लेकिन आजकल बहुत सारे मामलों में इसका उल्टा हो रहा है। चिदंबरम ने ट्वीट किया, 'यह अब स्पष्ट हो चुका है कि आर्यन खान के खिलाफ कोई सबूत नहीं था। इस नौजवान को जिस सदमे से गुजरना पड़ा, उसकी जिम्मेदारी कौन लेगा?'

उन्होंने कहा, 'जांच के बाद गिरफ्तारी होनी चाहिए. दुखद है कि कई मामलों में पहले गिरफ्तारी होती है फिर जांच होती है। यह कानून द्वारा स्थापित प्रक्रिया के विपरीत है।' कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने आर्यन के मामले का हवाला देते हुए सरकार पर निशाना साधा और दावा किया, 'सरकारी एजेंसियां खबरें गढ़ रही हैं, बिना सबूत के लोगों की प्रतिष्ठा धूमिल की जा रही है, बिना सुनवाई के लोगों को दोषी ठहराया जा रहा है। यही नया भारत है।'स्वापक नियंत्रण ब्यूरो (एनसीबी) ने बॉलीवुड अभिनेता शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान को क्रूज जहाज पर मादक पदार्थ मिलने के मामले में शुक्रवार को क्लीन चिट दे दी। इस मामले में पिछले साल उन्हें गिरफ्तार किया गया था। 

अक्षय कुमार अभिनीत फिल्म ‘‘पृथ्वीराज’’ देखेंगे अमित शाह

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.