Tuesday, Aug 03, 2021
-->
congress asked the center why the government failed to stop fraud from banks prshnt

कांग्रेस का केंद्र से सवाल- बैंकों से जालसाजी को रोकने में क्यों विफल रहे

  • Updated on 5/31/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। कांग्रेस ने भारतीय रिजर्व बैंक की वार्षिक रिपोर्ट का हवाला देते हुए सोमवार को दावा किया कि देश की अर्थव्यवस्था को 5000 अरब डॉलर तक पहुंचाने का सपना दिखाने वाली सरकार के तहत पिछले सात वर्षों में बैंकों से 5000 अरब रुपये (पांच लाख करोड़ रुपये) की ठगी की गई।

कांग्रेस प्रवक्ता गौरव वल्लभ ने यह सवाल भी किया कि केंद्र सरकार बैंकों से जालसाजी को रोकने में क्यों विफल रही और ठगी की रकम की वसूली के लिए वह क्या कदम उठा रही है? उन्होंने डिजिटल संवाददाता सम्मेलन में कहा, हाल ही में रिजर्व बैंक ने 2020-2021 के लिए अपनी रिपोर्ट जारी की है। इसमें अर्थव्यवस्था की मौजूदा स्थिति को लेकर कई चौंकाने वाले आंकड़े वाले हैं। इनमें बैंकों से ठगी से जुड़े आंकड़े भी हैं।  

Coronavirus: देश में धीमी पड़ी कोरोना की लहर, पिछले 24 घंटे में 1,52,734 नए मामले, 3,128 मौतें

सात वर्षों में बैंकों से करीब 500 अरब रुपये की ठगी का दावा
कांग्रेस नेता ने कहा, बैंक ठगी के मामलों में 2014-2015 के बाद तेज वृद्धि हुई है। अकेले 2020-21 में 1.38 लाख करोड़ रुपये की ठगी की गई। 2014-15 के मुकाबले ठगी की राशि 2014-15 एव 2019-20 के बीच 57 फीसदी की दर से बढ़ी। उन्होंने दावा किया कि अर्थव्यवस्था को पांच हजार अरब डॉलर तक पहुंचाने का सपना दिखाने वाली नरेंद्र मोदी सरकार यह कर नहीं पाई, लेकिन उसके शासन में सात वर्षों में बैंकों से करीब 500 अरब रुपये की ठगी की गई है। 

उत्तर प्रदेश: BJP विधायक देवेंद्र प्रताप का हार्ट अटैक से निधन, CM योगी ने जताया दुख

मोदी सरकार से सवाल
कांग्रेस प्रवक्ता ने सवाल किया, पिछले सात वर्षों में मोदी सरकार बैंकों के साथ ठगी रोकने में विफल क्यों हो गई? ठगी के सभी मामलों में रकम को वापस हासिल करने के लिए सरकार क्या कर रही है? बैंकिंग व्यवस्था को कमजोर करने ठगों से अब तक कितना पैसा अभी तक वसूला गया? वल्लभ ने कहा, अगर यह राशि वसूल ली जाए तो गरीब परिवारों को सालाना 72000 रुपये की मदद दी जा सकती है। देश में 500 एम्स खोले जा सकते हैं। आम लोगों को आयकर में बड़ी राहत मिल सकती है।

सेंट्रल विस्टा के खिलाफ याचिकाकर्ता पर HC ने ठोका एक लाख जुर्माना, कहा- आवश्यक परियोजना

बीजेपी की गांवों में सेवा
बता दें कि हाल ही में केंद्र में नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार के सात साल पूरा होने के अवसर पर पार्टी कार्यकर्ताओं को डिजिटल तरीके से संबोधित करते हुए बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा कि कोरोना वायरस महामारी के दौरान उनकी पार्टी के कार्यकर्ता और नेता राहत कार्य में जुटे हुए हैं जबकि विपक्षी पार्टियां पृथक-वास में चली गई हैं। भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि पार्टी के सभी सांसद, मंत्री और विधायक इस अवसर पर कोविड नियमों और लॉकडाउन के निर्देशों का पालन करते हुए कम से कम दो गांवों के लोगों की सेवा करेंगे।

यहां पढ़े कोरोना से जुड़ी खबरें...

comments

.
.
.
.
.