Friday, Jan 22, 2021

Live Updates: Unlock 8- Day 21

Last Updated: Thu Jan 21 2021 09:31 PM

corona virus

Total Cases

10,619,603

Recovered

10,273,553

Deaths

152,947

  • INDIA10,619,603
  • MAHARASTRA1,997,992
  • ANDHRA PRADESH1,648,665
  • KARNATAKA933,578
  • KERALA911,382
  • TAMIL NADU832,415
  • NEW DELHI633,049
  • UTTAR PRADESH597,628
  • WEST BENGAL566,898
  • ODISHA333,444
  • ARUNACHAL PRADESH325,396
  • RAJASTHAN314,920
  • JHARKHAND310,675
  • CHHATTISGARH293,501
  • TELANGANA290,008
  • HARYANA266,309
  • BIHAR258,739
  • GUJARAT252,559
  • MADHYA PRADESH247,436
  • ASSAM216,831
  • CHANDIGARH183,588
  • PUNJAB170,605
  • JAMMU & KASHMIR122,651
  • UTTARAKHAND94,803
  • HIMACHAL PRADESH56,943
  • GOA49,362
  • PUDUCHERRY38,646
  • TRIPURA33,035
  • MANIPUR27,155
  • MEGHALAYA12,866
  • NAGALAND11,709
  • LADAKH9,155
  • SIKKIM5,338
  • ANDAMAN AND NICOBAR ISLANDS4,983
  • MIZORAM4,322
  • DADRA AND NAGAR HAVELI3,374
  • DAMAN AND DIU1,381
Central Helpline Number for CoronaVirus:+91-11-23978046 | Helpline Email Id: ncov2019 @gov.in, ncov219 @gmail.com
congress attacks over bjp president amit shah son jay shah company kusum finserve income

अमित शाह के बेटे जय शाह की आय को लेकर कांग्रेस ने बोला बड़ा हमला

  • Updated on 11/2/2019

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। भाजपा अध्यक्ष व केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के बेटे व बीसीसीआई के सचिव जय शाह एक बार फिर अपनी कंपनी की आय को लेकर सुर्खियां बटौर रहे हैं। विपक्ष ने खास तौर पर जय शाह को लेकर भाजपा पर हमले तेज कर दिए हैं। कांग्रेस ने तो बाकायदा प्रेस कांफ्रेंस कर जय शाह और भाजपा पर बड़ा हमला बोला है। बता दें कि जय शाह की कंपनी की इंकम बहुत तेजी से बढ़ने पर एक वेबसाइट ने खबर छापी है। इसको ही आधार बनाकर कांग्रेस ने जय शाह पर हमले तेज कर दिए हैं। 

कांग्रेस ने येदियुरप्पा पर MLAs की खरीद-फरोख्त का लगाया आरोप, शाह से मांगा जवान

अमित शाह के बेटे जय शाह की आय को लेकर कांग्रेस ने बोला बड़ा हमला

कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा ने गंभीर आरोप लगाते हुए कहा है कि जय शाह की कंपनी की आय और उनके कारोबार पर सवाल उठाए हैं। खेड़ा ने आरोप कहा कि किसी आम कारोबारी के लिए अपनी कंपनी का लेखा-जोखा हर साल 30 अक्टूबर तक एमसीए में दाखिल करना होता है, लेकिन जय शाह ने वित्तीय वर्ष 2017 और 2018 का लेखा-जोखा दाखिल नहीं कराया। अगर किसी आम व्यापारी ने ऐसी चूक की होती तो उसे 5 लाख का हर्जाना देना पड़ता, लेकिन शाह वंश के इस प्रिंस पर कोई नियम लागू नहीं होता। 

सोनिया बोलीं- #RCIP से अर्थव्यवस्था को नुकसान पहुंचाने की तैयारी में है मोदी सरकार

सिसोदिया बोले- जावड़ेकर ने प्रदूषण पर 3 बैठकें स्थगित कीं

इसके साथ ही कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी अमित शाह को सोशल मीडिया पर आड़े हाथ लिया है। अपने ट्वीट में वह लिखते हैं, अब स्टोरी को मार दिया जाएगा। कंपटी पर बंदूक लगा कर। इसके साथ ही राहुल गांधी ने जय शार पर बेस्ड न्यूज को अपने टिवटर हैंडर पर शेयर किया है। दरअसल, राहुल गांधी इससे पहले भी शाह की आय को लेकर सवाल उठाते रहे हैं। 

सम-विषम योजना के दौरान दिल्ली सरकार के कार्यालयों के समय में बदलाव

इस बीच, कांग्रेस प्रवक्ता खेड़ा ने जय शाह पर आर्थिक अपराध करने का आरोप लगाए हैं। प्रेस बयान जारी कर खेड़ा ने जय शाह के खिलाफ आरोपों की नई और बड़ी फेहरिश्त उजागर की है। खेड़ा ने कहा, ‘देश में जब भी कोई आर्थिक मंदी के विषय में कुछ बोलता है तो पूरी सरकार और उसके तमाम मंत्री अलग अलग कुतर्क देते हैं कि भारत में कहीं कोई मंदी नहीं है। हां, अगर हम शाह वंश के सदस्य जय अमित शाह के बहीखाते देखें तो हमें भी प्रतीत होगा कि आर्थिक मंदी वाकई अफवाह है। कुछ सालों पहले आपने शाह वंश के चमत्कारिक कारोबारी किस्से सुने थे, लेकिन अब जय शाह के कुछ और हैरतअंगेज कारनामे सामने आए हैं।

पराली जलाने के मामले में पंजाब में 25 फीसदी बढ़ोतरी, हरियाणा में भी हवा जहरीली

कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा, 'वो लोक सभा इलेक्शन तक का इंतजार करता है और उसके बाद एसीए में वो अपनी कम्पनी कुसुम फिसर्व एलएलपी का लेखा-जोखा जमा करवाते हैं। देखते हैं आखिर क्या वजह हैं कि वे चुनाव खत्म होने का इंतजार करते हैं? कुसुम फ़िनसर्व की सालाना आय जो 2014 में 80 लाख थी, 2019 में आते आते 119.61 करोड़ हो गई। 2017 में तो यह 143.43 करोड़ रुपये तक जा पहुंची कुसुम फ़िनसर्व की संपत्ति जो 2015 में 1 करोड़ 21 लाख थी, 2019 में 25 करोड़ 83 लाख हो गई। कंपनी की शुद्ध अचल परिसंपत्ति (net fixed assets) जो 2015 में 51 लाख 74 हज़ार थी, 2019 में बढ़ कर 23 करोड़ 25 लाख हो गई।’

कर्ण सिंह बोले- सेब की ढुलाई करने वालों को सुरक्षा मुहैया कराए मोदी सरकार

खेड़ा ने आगे आरोप लगाया, ‘कंपनी की चालू सम्पत्ति (current assets) की कीमत 2015 में 37 लाख 80 हजार थी, आज 33 करोड़ 44 लाख हो गई है। यानी 88 गुना की बढ़ोतरी हुई। साल 2017 में यह बढ़ोतरी 216 गुना थी। इस कंपनी पर सारे देव भी मेहरबान हैं। कुछ जमानती कर्ज तो कुछ असुरक्षित ऋण। कुछ ऋणों का स्रोत एमसीए को नहीं बताया गया है, लेकिन किसी वेबसाइट को जय शाह साहब के वकील ने बताया कि कुछ ऋण केआईएफएस नामक एनबीएफसी से हासिल हुए हैं। कम्पनी किस तरह का व्यापार करती है? ऐसा कौन सा उद्योग है जिस से प्रिंस की आय 15000 फीसदी बढ़ जाती है?’

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.