Wednesday, Oct 16, 2019
congress calls amit shah speech on article 370 a distraction

महाराष्ट्र: कांग्रेस ने अनुच्छेद 370 पर शाह के भाषण को ध्यान भटकाने का हथकंडा बताया

  • Updated on 9/23/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। महाराष्ट्र में विधानसभा चुनाव (maharashtara legislative assembly) का बिगुल बजने के बाद राजनीतिक सियासत तेज हो गई है। महाराष्ट्र कांग्रेस ने भाजपा अध्यक्ष अमित शाह (Amit shah) के जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 (Article 370) के प्रावधान हटाए जाने पर रविवार को दिए भाषण को ध्यान भटकाने का हथकंडा करार दिया। पार्टी ने कहा कि अमित शाह अगर 370 पर बोलना चाहते हैं तो उन्हें जम्मू-कश्मीर जाना चाहिए।

गृह मंत्री अमित शाह ने कहा- नेहरु अगर दूरदर्शिता दिखाते तो pok भी भारत का अंग होता

कांग्रेस की राज्य इकाई के महासचिव और मुख्य प्रवक्ता सचिन सावंत ने एक बयान में कहा, यह ध्यान भटकाने का हथकंडा है। मैं शाह को याद दिलाना चाहूंगा कि चुनाव महाराष्ट्र में होने हैं न कि जम्मू-कश्मीर में। अगर वह अनुच्छेद 370 पर बोलना चाहते हैं तो उन्हें इसके लिये जम्मू-कश्मीर जाना चाहिये। शाह ने रविवार को मुंबई में एक चुनावी रैली में पूर्व प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू पर भी अनुच्छेद 370 (Article 370) को लेकर हमला करते हुए कहा कि अगर नेहरू ने बेवक्त पाकिस्तान के साथ संघर्ष विराम की घोषणा नहीं की होती तो ‘पाकिस्तान के कब्जे वाला कश्मीर’ अस्तित्व में नहीं आता।     

विपक्षी पार्टियां डरी हुई हैं केवल कांग्रेस ही भाजपा को टक्कर दे सकती है : राज बब्बर

शाह ने कांग्रेस (CONGRESS) को निशाने पर लेते हुए कहा कि वह अनुच्छेद 370 (Article 370) की समाप्ति के पीछे राजनीति देखती है जबकि भाजपा इस तरह से नहीं सोचती। उन्होंने कहा कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी और राकांपा सुप्रीमो शरद पवार को यह बताना चाहिए कि वह अनुच्छेद 370 की समाप्ति के पक्ष में हैं या इसका विरोध करते हैं। सावंत ने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि महाराष्ट्र में अनुच्छेद 371 लागू है। उन्होंने इसके प्रावधानों का भी जिक्र किया जिसमें स्थानीय निवासियों को नौकरियों में प्राथमिकता देने की बात कही गई है।     

महाराष्ट्र: शाह ने भाजपा के चुनाव प्रचार अभियान की शुरुआत की, भाषण में शिवसेना का जिक्र नहीं

उन्होंने कहा,हमें यह नहीं भूलना चाहिए कि देवेंद्र फड़णवीस सरकार के पांच वर्षों के कार्यकाल में महाराष्ट्र का कर्ज दोगुना हो गया है। पहले की सरकारों के आंकड़ों की तुलना में इन पांच वर्षों में किसान आत्महत्याओं में तीन गुना वृद्धि हुई है।  कांग्रेस नेता ने कहा कि छोटे और मंझोले उद्योग बुरे दौर से गुजर रहे हैं जिससे बेरोजगारी बढ़ी है। इस बीच, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के प्रवक्ता नवाब मलिक ने कहा कि भाजपा (BJP) जम्मू-कश्मीर में कुछ साल तक महबूबा मुफ्ती के साथ सत्ता में रही और पार्टी को यह बताना चाहिये कि अब महबूबा को हिरासत में क्यों रखा गया है।
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.