Tuesday, Jul 23, 2019

चिदंबरम ने मोदी सरकार के बजट 2019 की गिनाई खामियां

  • Updated on 7/5/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने शुक्रवार को दावा किया कि नयी मोदी सरकार के पहले आम बजट से समाज के किसी भी वर्ग को उचित राहत नहीं मिली है और साथ ही कर का बोझ भी बढ़ा दिया गया। चिदंबरम ने संवाददाताओं से कहा,‘‘क्या कभी कोई ऐसा बजट आया है जिसमें कुल राजस्व, कुल $खर्च, वित्तीय घाटे, राजस्व घाटे और वित्तीय रियायतों का उल्लेख नहीं है? हम अब तक चली आ रही परंपराओं से इस सरकार के अलग जाने से स्तब्ध हैं।‘‘

मायावती के साथ-साथ अखिलेश को भी नहीं रास आया मोदी सरकार का बजट

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा शुक्रवार को संसद में पेश किए गए वित्त वर्ष 2019-20 के बजट पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए चिदंबरम ने कहा,‘’आम नागरिकों या जानकार अर्थशास्त्रियों की आवाज को सुने बिना यह बजट तैयार किया गया। यह बजट आॢथक समीक्षा से पैदा हुई मामूली उम्मीदों के मुताबिक नहीं है।‘‘ चिदंबरम ने दावा किया,‘‘वित्त मंत्री ने किसी भी वर्ग को उचित राहत नहीं पहुंचाई है। इसके उलट उन्होंने कई वस्तुओं और पेट्रोल एवं डीजल पर कर का बोझ बढ़ा दिया।‘‘   

सीतारमण ने बजट में रेलवे को क्या दिया, एक नजर खास बिंदुओं पर

कमलनाथ ने बजट को निराश करने वाला बताया
मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने शुक्रवार को पेश किए गए केन्द्रीय बजट को निराशाजनक करार दिया। वहीं, राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री एवं भाजपा नेता शिवराज सिंह चौहान ने इसे ‘सबका साथ, सबका विकास और सबका विश्वास’ को साकार करने वाला ‘‘बही-खाता’’ बताया।  कमलनाथ ने अपने बयान में कहा कि गांवों, गऱीबों, युवाओं को रोकागार, शिक्षा, स्वास्थ्य, महिलाओं और आम आदमी के लिये इस बजट में कुछ नहीं है। इस बजट से विकास की रफ़्तार धीमी होगी। यह बजट जनता की उम्मीदों के विपरीत है और ‘‘अच्छे दिन’’ (के वादे) से इसका कोई लेना देना नहीं है।  

बजट में होम लोन के ब्याज पर टैक्ट कटौती, मिलेगा प्रोपर्टी बाजार को बूस्ट

इंजीनियर यादव सिंह की लाखों रुपये की परिसंपत्तियां ED ने की कुर्क

उन्होंने कहा कि इस बजट में मध्यम वर्ग के लिये आय कर में कोई राहत प्रदान नहीं की गयी। किसानों की आय बढ़ाने के लिये, उन्हें कर्क़ा से राहत देने के लिये इस बजट में कुछ नहीं है। मुख्यमंत्री ने कमलनाथ ने कहा कि आम बजट पूरी तरह से ‘‘निराशाजनक’’ है। यह महँगाई बढ़ाने वाला बजट है। पेट्रोल- डीकाल की क़ीमतों में राहत प्रदान करने के बजाय इसे और महँगा कर दिया गया है। 

बजट 2019-20 : पेट्रोल, डीजल के जरिए मोदी सरकार ने जनता पर डाला भार

वहीं, भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि यह बजट एक समृद्ध भारत के निर्माण का ‘‘बही-खाता’’ है। इसमें समाज के हर वर्ग का ध्यान रखा गया है।‘सबका साथ, सबका विकास और सबका विश्वास’के इस बही-खाते के लिए वह प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और केंद्रीय वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण का शुक्रिया अदा करते हैं।  

AAP की याचिका पर #BJP सांसद बिधूड़ी से हाई कोर्ट ने मांगा जवाब

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.